ऑरिक सिटी में 3600 करोड़ का निवेश, सीधे-सीधे 2000 लोगों को मिलेगा रोजगार

दिल्ली-मुंबई इकोनॉमिक कॉरिडोर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (डीएमआईडीसी) ने शुक्रवार को कहा कि औरंगाबाद इंडस्ट्रियल टाउनशिप लिमिटेड (ऑरिक सिटी) ने पिछले साल दिसंबर तक 3,600 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित किया है. ऑरिक सिटी दिल्ली-मुंबई इकोनॉमिक कॉरिडोर के साथ नए सिरे से स्थापित किए जाने वाले स्मार्ट इंडस्ट्रियल सिटी में से एक है.

ऑरिक सिटी ने कुल 5,07,164 वर्गमीटर क्षेत्रफल के 50 प्लॉट आवंटित किए हैं. इन पर 3,600 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है और इससे 2,000 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे. डीएमआईडीसी ने गलियारे के साथ आठ औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने का प्रस्ताव किया है.

इनमें महाराष्ट्र में शेन्द्रा-बिदकिन इंडस्ट्रियल और दिघी पोर्ट औद्यो्गिक क्षेत्र, उत्तर प्रदेश में दादरी-नोएडा-गाजियाबाद, हरियाणा में मानेसर-बवाल, राजस्थान में कुशखेरा-भिवाड़ी-नीमराणा और जोधपुर-पाली-मारवाड़, मध्यप्रदेश में पीथमपुर-धार-मऊ और गुजरात में अहमदाबाद-धौलेरा स्पेशल निवेश क्षेत्र शामिल हैं. इस मामले में निवेश आकर्षित करने में दूसरा स्थान ग्रेटर नोएडा में स्थित एकीकृत औद्योगिक टाउनशिप का है. यहां कुल 3,404 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित हुआ है और इससे 6,600 प्रत्यक्ष रोजगार मिलने की उम्मीद है.

Loading...
IGNITED MINDS