गठिया, शुगर जैसी बीमारियों से बचाव में आयुर्वेद चिकित्सा बहुत कारगर : डॉ. प्रताप चौहान

जीवा आयुर्वेद ने लखनऊ में लांच किया नया क्लीनिक

लखनऊ : आयुर्वेद चिकित्सा के विशेषज्ञ व जीवा आयुर्वेद के निदेशक डॉक्टर प्रताप चौहान ने शुक्रवार को राजाजीपुरम, लखनऊ में एक और आयुर्वेदिक क्लीनिक शुभारंभ किया। इस क्लीनिक को खोलने का मकसद ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट व दवाइयां उपलब्ध करवाना है। इस उद्घाटन के मौके पर डॉ. प्रताप चौहान ने मरीज़ों को परामर्श दिया। अब उत्तर प्रदेश में जीवा क्लीनिक की संख्या कुल 19 हो गई है। जीवा आयुर्वेद की पहुंच लगभग 1.5 मिलियन लोगों तक है और आने वाले दिनों में 2 मिलियन लोगों तक पहुंचने की उम्मीद है। ये नया क्लीनिक लखनऊ उसके आसपास के क्षेत्रों के लोगों को आयुर्वेद के और करीब लाएगा। ये नया क्लीनिक कानपुर, इलाहाबाद, गोरखपुर, आलमबाग, हजरतगंज और अलीगंज में जीवा आयुर्वेद के मौजूदा क्लीनिक की सेवाओं का भी पूरक होगा।

इस मौके पर जीवा आयुर्वेद के डॉयरेक्टर डॉ. प्रताप चौहान ने कहा कि, बदलती जीवनशैली के कारण इन दिनों गठिया, मधुमेह, मोटापा, पीसीओएस, हृदय से संबंधित बीमारियां बहुत आम हो गई हैं। इसका कारण है गलत डाइट व जीवनशैली। इन पुरानी बीमारियों से बचाव व निजात दिलाने के लिए आयुर्वेद चिकित्सा बहुत मददगार साबित होती है। टेलीकंसल्टेशन यानि फोन पर परामर्श, टी.वी. पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम व क्लीनिक के बढ़ते सेंटर्स के कारण आज हम भारत के लाखों लोगों तक पहुंच गए हैं। और अब इन नए क्लीनिक के ज़़रिए और भी लोगों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। ताकि सभी भारतवासियों को आयुर्वेद चिकित्सा से जुड़ी सभी सुविधाएं एक छत के नीचे मिल सकें। वर्षों से जीवा ने आयुर्वेद के प्राचीन सिद्धांतों को बरकरार रखते हुए उसे तकनीक के साथ जोड़ने का प्रयास किया है।

Loading...
IGNITED MINDS