बच्चों को स्वार्थ नहीं, परमार्थ के लायक बनायें -डा.जगदीश गांधी

सीएमएस के विभिन्न कैम्पसों द्वारा ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का आयोजन

लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) द्वारा ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का भव्य आयोजन आज विद्यालय के ऑडिटोरियम में सम्पन्न हुआ। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि बच्चे का जन्म स्वार्थ सिद्धि के लिए नहीं, अपितु परमार्थ के लिए हुआ है। बच्चे तो परमात्मा के आज्ञाकारी पुत्र अर्थात युवराज बनकर इस संसार की सेवा करने के लिए पैदा हुए है, अतः परमात्मा के दिव्य गुणों जैसे सदाचार, ईमानदारी, अहिंसा, न्याय, सहयोग आदि जीवन मूल्यों को बच्चों में प्रारम्भ से ही रोपित करें। इससे पहले, ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ में सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों ने शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा से उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

जहाँ एक ओर ईश्वर भक्ति से परिपूर्ण गीत-संगीत ने आध्यात्मिक उल्लास से सभी को सराबोर कर दिया तो वहीं दूसरी ओर लघु नाटिका, नृत्य, एरोबिक्स आदि अनेकानेक शानदार प्रस्तुतियों ने सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया। समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वोच्चता अर्जित करने वाले व वार्षिक परीक्षाओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया। अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्या मंजीत बत्रा ने कहा कि सी.एम.एस. अपने छात्रों का सर्वांगीण विकास कर ‘टोटल क्वालिटी पर्सन’ बनाने को दृढ़-संकल्पित है, परन्तु यह कार्य अभिभावकों के सहयोग के बगैर संभव नहीं हैं। उन्होंने बच्चों की हौसलाअफजाई करने के लिए अभिभावकों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

समारोह के अन्त में सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या संगीता बनर्जी ने सभी के प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया। इसके अलावा, सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (तृतीय कैम्पस) द्वारा सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में आयोजित ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ में भी मेधावी छात्रो को पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया। समारोह में विद्यालय के छात्रों ने एक से बढ़कर एक शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की छटा बिखेरकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (तृतीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या जयश्री कृष्णन ने कहा कि बालक के चरित्र निर्माण के लिए एक स्वस्थ वातावरण उपलब्ध कराना चाहिए। इसी प्रकार, सी.एम.एस. महानगर कैम्पस द्वारा सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में आयोजित ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ में बोलते हुए प्रधानाचार्या डा. कल्पना त्रिपाठी ने कहा कि बालकों को ज्ञान-विज्ञान, कला, शिल्प, खेलकूद आदि में उत्कृष्टता अर्जित करने के लिए प्रत्येक प्रयास पूरे मनोयोग तथा एकाग्रता के साथ करना चाहिए। सर्वांगीण शिक्षा के माध्यम से प्रत्येक छात्र परिवार, समाज और विश्व के लिए एक आदर्श नागरिक बन सकता है।

Loading...
IGNITED MINDS