सरकार ने विपक्ष के हंगामे के बीच पास कराया 2021-22 का बजट, सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

उत्तर प्रदेश विधानमंडल के बजट सत्र में गुरुवार को विपक्ष के भारी हंगामे के बाद भी योगी आदित्यनाथ सरकार अपना बजट पास कराने में सफल रही। विधानसभा सदन ने बजट और विनियोग विधेयक पारित कर दिया। इसके साथ ही प्रदेश विधानमंडल का सत्र अनिश्चितकाल के लिए समाप्त हो गया। विधानभवन में कार्यवाही दस मार्च तक चलनी थी। कार्यवाही तय समय से पहले स्थगित कर दी गई है। माना जा रहा है कि सरकार ने पंचायत चुनाव को लेकर भी कार्यवाही को पहले स्थगित कर दिया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरुवार को विपक्ष की अनुपस्थिति में वर्ष 2021-22 का आम बजट पारित करा लिया। उत्तर प्रदेश विधानमंडल के बजट सत्र में विधानसभा में विपक्ष के भारी हंगामे तथा बहिर्गमन के बीच बजट को पास करा लिया। सदन में गुरुवार को बजट पास कराने की कार्यवाही को लेकर विपक्ष ने कहा कि हम इसके गवाह नही बनेंगे। समाजवादी पार्टी के साथ बहुजन समाज पार्टी व कांग्रेस के बहिर्गमन के बीच सरकार ने आज बजट समेत चार विधेयक पारित करने के बाद उत्तर प्रदेश के विधानमंडल सत्र को अब अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है।

विधायक निधि बहाल: संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि सभी विधायकों को तीन-तीन करोड़ की विधायक निधि बहाल की गई है। इसके साथ ही विधानसभा सचिवालय कर्मचारियों को पुरस्कार प्रदान किया गया है। इनको पुरस्कार राशि के रूप में 12500 रुपए मिले हैं।

प्रश्नकाल स्थगित : विधानभवन में गुरुवार को विधान सभा में प्रश्नकाल स्थगित कर दिया गया। इसी बीच सरकार ने सभी विभागों के बजट को पास करा लिया है। इसके विरोध में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी तथा कांग्रेस के साथ योगी आदित्यनाथ सरकार को समर्थन दे रही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सदस्य नारेबाजी करते हुए सदन से बहिर्गमन कर गए।

राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद: राज्यपाल के अभिभाषण पर नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने धन्यवाद भाषण में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बहुत-बहुत बधाई उन्होंने विपक्ष का दावा छोड़ दिया। वित्त मंत्री को भी बजट पेश करने के लिए बधाई दी। सभी मंत्री गण , राज्य मंत्री गण ने सवालों का जवाब दिया इसके लिए धन्यवाद और बधाई। यहां जितने भी सदस्य है, उन्हेंं भी बधाई। बसपा और कांग्रेस के विधानमंडल दल नेता और भासपा को भी बधाई और धन्यवाद। समापन के दौरान उन्होंने एक शायरी पढ़ी और कहा कि अब तो झूठ सच्चाई का हिस्सा हो गया है, एक तरह से यह भी अच्छा हो गया है, उसने एक जादू भरी तकरीर की, कौम का नुकसान पूरा हो गया है।

राज्यपाल के अभिभाषण पर बसपा विधायक दल के नेता लालजी वर्मा ने सदन में अपनी प्रतिक्रिया दी। बसपा विधानमंडल दल नेता लालाजी वर्मा ने सदन में कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि हम इस बार सदन 90 दिन से ज्यादा दिन चलाएंगे। विपक्ष भी चाहता है सदन चले, लेकिन प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार लोकतंत्र को कुचलने का काम कर रही है। प्रदेश के विधानमंडल के सत्र में ऐसा पहली बार हो रहा है बगैर प्रश्न काल न चला हो और अनुदान मांगो को रखा गया हो। मैं तो यही चाहता हूं कि 10 मार्च तक सदन चले। कांग्रेस की नेता विधायक दल आराधना मिश्रा ने धन्यवाद प्रस्ताव में कहा कि सरकार हर विधायक को कम से कम दो सौ हैंड पम्प तथा हर जगह 10 किलोमीटर सड़क दे। उन्होंने विधायकों का महंगाई भत्ता को बढाने का अनुरोध किया।

सपा विधायक लकी यादव ने शिकायत की: जौनपुर के मल्हनी से समाजवादी पार्टी के विधायक लकी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष से सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता की शिकायत भी की। उन्होंने कहा कि एके सिंह शारदा सहायक में मुख्य अभियंता हैं। इनके खिलाफ जांच चल रही फिर भी चीफ के पद पर तैनात है। इनके खिलाफ टेंडर घोटाले में जांच हुई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई है।

 

Loading...
IGNITED MINDS