आशा वर्करों से PM मोदी बोले – AC कमरों में बैठ नहीं निकलता कोई समाधान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और आशा वर्करों से बात की. इस दौरान पीएम ने कई योजनाओं और उनको लागू करने में उनके सहयोग को सराहा. प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 के बाद से हमने एक नई रणनीति के तहत आगे बढ़ने का ठाना, इसके बाद हमें सफलता मिली. आज आशा वर्करों की वजह से मिशन इंद्रधनुष ज़मीन तक पहुंच रहा है.

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य का सीधा संबंध पोषण से है, आज आशा वर्करों के कारण ही हम इस मिशन में आगे बढ़ रहे हैं. प्रधानमंत्री बोले कि आज मेरे हज़ारों नहीं लाखों हाथ हैं, वो हाथ आप लोग हैं.

PM मोदी ने कहा कि Mission Indradhanush के तहत देश में टीकाकरण अभियान को पिछड़े इलाकों में नन्हे बच्चों तक पहुंचने का लक्ष्य तय किया है. आप सभी ने इस मिशन को तेज़ गति से आगे बढ़ाया और देश में 3 करोड़ बच्चों और 85 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण करवाया है. उन्होंने कहा कि टीकाकरण और पोषण स्वास्थ्य के लिए काफी अहम है.

प्रधानमंत्री बोले कि मुझे ख़ुशी है आप सभी देश के भविष्य को मज़बूत करने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं, देश की हर माता हर शिशु के सुरक्षा घेरे को मज़बूत करने का ज़िम्मा आपने अपने कंधों पर उठाया है.

प्रधानमंत्री ने इस दौरान कई लाभार्थियों से बात भी की. उन्होंने कहा कि विचार बदलना सबसे कठिन काम है, एसी के कमरों में बैठ कर समाधान नहीं निकलता है.

इस दौरान झारखंड की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता मनिता ने पीएम को बताया कि कैसे प्रसव के दौरान आपातकालीन सेवा प्रदान कर मां और बच्चे की जान बचाई. मनिता ने बताया कि इसी साल जुलाई में एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया, लेकिन तब वह रो नहीं रहा था. तो परिवारवालों को लगा कि वह मृत है लेकिन जब हम पहुंचे तो उसकी जांच कर देखा तो बच्चा जीवित था.

Loading...
IGNITED MINDS