सिर्फ ये 7 आसान काम करें, बस मिनटों में आ जाएगी नींद!

जिस तरह हर इंसान एक दूसरे से अलग होता है, ठीक उसी प्रकार सभी लोगों की आदतें सोने से लेकर खाने तक एक दूसरे से काफी विपरीत होती हैं. 

मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए हर एक व्यक्ति को अच्छी नींद की जरूरत होती है. लेकिन कुछ लोग रातभर बिस्तर पर करवटें बदलते रह जाते हैं. 

कई लोग तो अच्छी नींद पाने के लिए रात में मेडिटेशन करते हैं, तो वहीं कुछ लोग हल्के गुनगुने पानी से नहाते हैं, ताकि सुकून की नींद ले सकें. लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी उन्हें नींद ही नहीं आती है. अगर आप भी उन्हीं लोगों में से एक हैं तो यकीन मानिए ये खबर आपके लिए ही है. 

आइए जानते हैं एक अच्छी सुकून की नींद के लिए आपको क्या करने की जरूरत है.

 में लंदन की एक स्लीप एंड स्ट्रेस मैनेजमेंट एक्सपर्ट डॉ. नेरिना रामलखन ने बताया कि कैसे एक अच्छी नींद हमारी दिनचर्या से जुड़ी हुई है. 

उन्होंने बताया कि एक अच्छी नींद पाने के लिए सुबह उठने के बाद 30 मिनट के अंदर हेल्दी ब्रेकफास्ट करना बेहद जरूरी है. 

इसके अलावा डॉ. नेरिना रामलखन के मुताबिक, टेक्नोलॉजी से थोड़ी दूरी बनाने और दिनभर अपने काम को मेहनत से करने पर रात में सुकून की नींद ली जा सकती है. 

एक अच्छी और सुकून भरी नींद के लिए डॉ. नेरिना रामलखन ने कुछ सुझाव दिए हैं. आइए जानते हैं उनका क्या कहना है…कई स्टडी की रिपोर्ट में बताया जा चुका है कि सुबह का ब्रेकफास्ट शरीर के मेटाबॉलिज्म और ब्लड शुगर को नियत्रंण में रखने के लिए सबसे अहम होता है. इसके लिए जरूरी नहीं है कि आप बहुत ज्यादा खाएं, बल्कि 7-8 बादाम और 2 खजूर दिन की शुरुआत करने के लिए काफी होती हैं. 

सुबह उठने के 30 मिनट के अंदर हेल्दी  ब्रेकफास्ट करने से शरीर कई बीमारियों से सुरक्षित रहता है. कुछ लोग सुबह उठकर चाय या कॉफी से अपने दिन की शुरुआत करते हैं, लेकिन चाय या कॉफी पीने से पहले कुछ खाना सेहत के लिए बेहतर होगा. 

बता दें, शरीर मे कैफीन का असर 5 घंटों तक रहता है. मतलब अगर आप शाम में 5 बजे के समय चाय या कॉफी पीते हैं तो इसका लगभग आधा असर रात के 10 बजे तक आपके शरीर पर होता है, जिस वजह से आपको नींद लेने में मुश्किल होती है. इसलिए अगर अच्छी नींद चाहते हैं तो कोशिश करें कि 3 बजे के बाद कैफीन का इस्तेमाल न करें.

दिनभर में हर 90 मिनट के बाद कुछ देर टेक्नोलॉजी, जैसे मोबाइल, लैपटॉप, सोशल मीडिया से थोड़ा ब्रेक लेना जरूरी होता है. इससे आपके नर्वस सिस्टम और दिमाग को शांति मिलती है. दिमाग शांत होता है तो नींद भी अच्छी आती है 

शारीरिक गतिविधियों से शरीर में Adenosine  नामक कैमिकल प्रोड्यूस  होता है. ये कैमिकल अच्छी नींद के लिए जिम्मेदार होता है. इसके लिए आपको ज्यादा भाग दौड़ करने की जरूरत नहीं होती है, बल्कि सिर्फ दिनभर में हर 1 एक घंटे के बाद थोड़ा टहलना काफी है. 

एक अच्छी नींद पाने के लिए जरूरी है कि दिनभर में आपके साथ जो भी हुआ हो उसको अपने दिमाग से निकाल दें. अगर कोशिश करने के बाद भी आपके दिमाग से चीजें निकलती नहीं हैं, तो सोने से पहले सभी चीजों को पेपर पर लिखें और अपने दिमाग को सभी बातों से फ्री कर दें. दरअसल, अगर दिमाग में बातें घूमती रहती हैं तो आप चाह कर भी सो नहीं पाते हैं. साथ ही आप तनाव महसूस करते हैं. 

कई लोगों को आदत होती है कि वे सोने से पहले अपने सोने के घंटों को गिनते हैं कि वे कितने घंटों की नींद ले पाएंगे, उन्हें कितने बजे उठना है. ऐसा करने से लोगों के दिमाग पर प्रेशर बढ़ जाता है. 

बेहतर होगा कि घड़ी को खुद से दूर रखें. अगर रात में किसी समय आपकी नींद खुलती भी है तो घड़ी की ओर देखकर खुद को परेशान न करें कि आप पूरी नींद नहीं ले पाएंगे. 

ट्रेडिशनल चाइनीज मेडिसिन के मुताबिक, सोने से कुछ घंटों पहले अपने दिमाग को दिनभर के हर तरह के तनाव से फ्री करने का सबसे बेहतर समय होता है. 

सोने से पहले खुद को सोने के लिए रात 9 बजे से रात 9.30 बजे के बीच तैयार करें. इसका मतबल ये नहीं है कि आप 9 बजे ही अपने बेड पर जाकर लेट जाएं, बल्कि टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से बचें, बुरी चीजों के बारे में न सोचें, कोई डरावना या खतरनाक शो न देखें, जिससे नींद आने में मुश्किल होती है. 

एक अच्छी नींद के लिए मन और दिमाग को शांत करने वाली कोई किताब पढ़ें या सॉफ्ट म्यूजिक सुनें. अगर आप इन सभी चीजों को एक हफ्ते में 4 रातों तक करेंगे तो आपको खुद ही अपनी नींद और सेहत में सुधार दिखाई देने लगेगा. 

 

Loading...
IGNITED MINDS