‘हबल’ ने शुरू की शुरुआती आकाशगंगाओं की तलाश, यह है मुख्य उद्देश्य

नासा के हबल स्पेस टेलीस्कोप ने एक नए मिशन की शुरुआत की है। इसके तहत यह शक्तिशाली टेलीस्कोप छह विशाल आकाशगंगाओं के एक समूह का अध्ययन करेगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने उम्मीद जताई है कि इससे कई अन्य आकाशगंगाओं का पता चल सकेगा और यह पता करने में मदद मिलेगी कि ब्रह्मांड में शुरुआती आकाशगंगाएं कैसे विकसित हुईं।

हमारा ब्रह्मांड अनगिनत रहस्यों को खुद में समेटे हुए है। इसे समझने के लिए शुरुआती आकाशगंगाओं के गठन और उनके क्रमिक विकास को जानना बेहद जरूरी है। हालांकि, हबल स्पेस टेलीस्कोप हाल ही में कुछ सुदूर की आकाशगंगाओं को तलाश चुका है, लेकिन उनकी संख्या बहुत कम है। इस वजह से जब खगोलविद ब्रह्मांड को बहुत विशाल प्रस्तुत करते हैं तो इसके निर्धारण में उन्हें परेशानी होती है।

बियोंड अल्ट्रा-डीप फ्रंटीर फील्ड्स एंड लेगेसी ऑब्जर्वेशन (बुफालो) के जरिये शुरुआती विश्लेषण में आकाशगंगा का समूह एबेल 370 सामने आया है और इसके चारों ओर गुरुत्वाकर्षण वाली आकाशगंगाएं दिखाई दी हैं। एबेल 370 जैसे आकाशगंगाओं के विशाल समूह खगोलविदों को ऐसे ही अन्य सुदूर ऑब्जेक्ट्स तलाशने में मदद कर सकते हैं।

Loading...
IGNITED MINDS