केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानों के हित व कल्याण के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री

केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानों के हित व कल्याण के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद अमरोहा में 433 करोड़ रुपए लागत की कुल 31 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। लोकार्पित परियोजनाओं में विधानसभा नौगावां सादात के गजस्थल में 06 करोड़ 71 लाख रुपए की लागत से निर्मित राजकीय आई0टी0आई0, विधानसभा अमरोहा में 04 करोड़ 54 लाख रुपए की लागत से निर्मित 5,000 मीट्रिक टन का गोदाम, विधानसभा हसनपुर में 03 करोड़ 42 लाख रुपए की लागत से निर्मित 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र नगला खादर तथा विधानसभा धनौरा में 03 करोड़ 15 लाख रुपए की लागत से निर्मित 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र जलालपुर कलां सहित कुल 13 परियोजनाएं शामिल हैं।

मुख्यमंत्री द्वारा शिलान्यास की गई परियोजनाओं में विधानसभा अमरोहा में 267.47 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित पुलिस लाइन के आवासीय/अनावसीय भवन, विधानसभा हसनपुर में 45.32 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित 132 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र चचौरा, विधानसभा हसनपुर में 23.92 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय सोहतपुर, विधानसभा हसनपुर में 13.54 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित अग्निशमन केन्द्र, विधानसभा अमरोहा में 14.43 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित नवीन मण्डी स्थल में मैंगो एवं वेजीटेबल इण्टीग्रेटेड पैक हाउस सहित कुल 18 परियोजनाएं सम्मिलित हैं।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज जनपद अमरोहा में एक साथ 433 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास सम्पन्न हुआ है। यह विकास परियोजनाएं जनपदवासियों के जीवन में सुधार व समृद्धि लाएंगी। इससे पूर्व, जनपद हापुड़, बिजनौर, सम्भल, नोएडा में विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया। उन्होंने कहा कि विकास ही आगे बढ़ने का माध्यम बनेगा। विकास से ही जनपद अमरोहा के लोगों के सुख एवं समृद्धि का मार्ग सुदृढ़ हो सकेगा। वर्तमान राज्य सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्य धरातल पर दिखायी दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद अमरोहा की विधानसभा धनौरा, हसनपुर व नौगावां सादात के जनप्रतिनिधिगण के परिश्रम के माध्यम से ही आज 433 करोड़ रुपए की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में गड्ढों व अंधेरे से उ0प्र0 के बॉर्डर की शुरुआत होती थी, लेकिन अब प्रदेश में भयमुक्त शासन, गड्ढामुक्त सड़क और विद्युत की पर्याप्त आपूर्ति की जा रही है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सड़कों का तेजी से चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार की भ्रष्टाचार एवं अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति है। कानून के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की गई है। सार्वजनिक सम्पत्ति को क्षति पहुंचाने वालों, गरीबों, कमजोरों को सताने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश सरकार महिला सम्मान, सुरक्षा व स्वावलम्बन के लिये प्रतिबद्ध है। राज्य में बहन-बेटियों की सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। वे भयमुक्त होकर अपना जीवनयापन कर रही हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के आत्मसम्मान के लिए मिशन शक्ति, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना आदि योजनाएं संचालित जा रही हैं। प्रदेश में पुलिस भर्ती में 20 प्रतिशत महिलाओं को मौका दिया गया है। आज प्रदेश में 30,000 महिला पुलिसकर्मी बालिकाओं और महिलाओं की सुरक्षा के लिए अपनी सेवाएं दे रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वृद्धजनों, निराश्रित महिलाओं, दिव्यांगजनों को पेंशन की राशि सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजी जा रही है, बिचौलियों से मुक्ति मिली है। प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में जरूरतमन्दों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया है। प्रदेश सरकार लोक कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से जनता को लाभान्वित करने का कार्य रही है। उन्होंने कहा कि जनपद अमरोहा नयी पहचान के रूप में उभर रहा है। अमरोहा में ‘एक जनपद, एक उत्पाद योजना’ के तहत विशिष्ट उत्पाद के रूप में चयनित ‘ढोलक’ की थाप प्रदेश में ही नहीं, विदेशों में भी लोगों को एक स्वर से जोड़ रही है। सभी ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत सदस्य शासन की योजनाओं को घर-घर पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं, जिससे जनपद अमरोहा में सुख व समृद्धि का मार्ग प्रशस्त हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानों के हितों व कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बावजूद प्रदेश की सभी चीनी मिलों को चालू रखा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 से अब तक किसानों का साढ़े चार वर्ष में 01 लाख 43 हजार करोड़ रुपए का गन्ने का भुगतान किया गया है। गन्ना मूल्य को बढ़ाने के लिए उच्चाधिकारियों की कमेटी गठित की गई है। कमेटी के निर्णय के बाद गन्ना मूल्य की वृद्धि की जाएगी। प्रदेश सरकार किसानों के हित व कल्याण के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। प्रदेश के किसान के चेहरे पर मुस्कान होगी, तो प्रदेश अवश्य ही खुशहाल होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 86 लाख किसानों के 36,000 करोड़ रुपए का फसली ऋण माफ किया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के खाते में 6000 रुपए की धनराशि प्रतिवर्ष डी0बी0टी0 के माध्यम से अन्तरित की जा रही है। प्रदेश सरकार ने क्रय केन्द्र स्थापित कर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों की उपज क्रय का कार्य किया है। महिलाओं, गरीबों, मजदूरों, शोषित को बिना भेदभाव के कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। राज्य सरकार ने 15 करोड़ पात्र व्यक्तियों को निःशुल्क राशन, 01 करोड़ 56 लाख को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, 02 करोड़ 61 लाख निःशुल्क शौचालय बनवाने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों मे ग्राम सचिवालय की स्थापना कर प्रत्येक ग्राम पंचायत में कम्प्यूटर सहायक की भर्ती कर, बैंकिंग सुविधाओं का लाभ उपलब्ध कराने, योजनाओं की फीडिंग का कार्य ग्राम स्तर पर किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न सांस्कृतिक स्थलों का सौन्दर्यीकरण किया जा रहा है। जनपद अमरोहा पर्यटन एवं विकास की ओर अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भव्य श्रीराम मन्दिर का निर्माण किया जा रहा है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर कार्य करते हुए सभी को लाभान्वित किया जा रहा है। प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा रहा है। देश ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ बनने की तरफ अग्रसर है। आधारभूत संरचना के क्षेत्र में अनेक नए कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर चलकर देश की आर्थिक ताकत बनेगा। उन्होंने कहा कि साढे़ चार वर्ष में साढ़े चार लाख युवाओं को नौकरी दी गई है। आज जितनी परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया जा रहा है, उसका गुणवत्तापूर्ण समय से कार्य पूर्ण कराने का कार्य किया जाएगा। गरीब कल्याण योजनाओं का लाभ वांछित लोगों को मिला है। केन्द्र व प्रदेश सरकार गरीबों एवं असहाय लोगों के हितों के लिए दिन-रात कार्य कर रही है।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों की लाभार्थीपरक योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किए। कोविड-19/निर्वाचन के दौरान मृतकों के आश्रितों में श्रीमती मुकेश पत्नी स्व0 श्री सोरन सिंह तथा श्रीमती प्रीति सिंह पत्नी स्व0 श्री अरुण कुमार को मृतक आश्रित के रूप में अध्यापक के रूप मंे नियुक्ति पत्र एवं 30 लाख रुपए की अनुग्रह धनराशि प्रदान की गई। इसके अलावा, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आयुष्मान भारत योजना सहित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह के रूप में जनपद अमरोहा का ओ0डी0ओ0पी0 उत्पाद ‘ढोलक’ देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Loading...