मक्का-मदीना में कोविड पाबंदियां हटने से हज यात्रा के इच्छुकों में बढ़ी उत्सुकता

नई दिल्ली। सऊदी अरब में पवित्र स्थान मक्का-मदीना से कोविड-19 महामारी की पाबंदियां समाप्त किए जाने की घोषणा के बाद भारत में हज यात्रा 2022 पर जाने के इच्छुक लोगों में उत्सुकता बढ़ गई है। हज कमेटी ऑफ इंडिया और राज्य कमेटियों के दफ्तर में यात्रा से सम्बंधित जानकारी एकत्र करने के लिए संपर्क साधा जा रहा है। हज यात्रा 2020 और 2021 कोविड-19 महामारी की वजह से सऊदी अरब सरकार की तरफ से सीमित कर दी गई थी, जिसकी वजह से भारत से कोई भी यात्री हज यात्रा पर नहीं जा सका था।

गौरतलब है कि हज कमेटी ऑफ इंडिया की तरफ से दोनों वर्षों में यात्रा के लिए बाकायदा तैयारियां की गई थीं। आवेदन फार्म और यात्रा से सम्बंधित तय राशि आदि भी जमा कराई गई थी लेकिन यह सब कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गया।

कोरोना महामारी के काबू में आने की वजह से सऊदी अरब सरकार की तरफ से पवित्र मक्का और मदीना में इससे सम्बंधित गाइडलाइन को समाप्त किए जाने की घोषणा के बाद वहां पर बड़ी तादाद में दुनियाभर से उमरा के लिए अकीदतमंद पहुंच रहे हैं। सऊदी अरब में दी गई छूट के बाद भारत से हज यात्रा के लिए इच्छुक यात्री हज यात्रा 2022 के लिए आवेदन आदि करने के लिए काफी उत्सुक नजर आ रहे हैं। यात्रियों की तरफ से यात्रा के लिए हज कमेटी के दफ्तर जाकर और टेलीफोन आदि के जरिए यात्रा से सम्बंधित जानकारी एकत्र की जा रही है लेकिन हज कमेटी की तरफ से अभी तक किसी भी तरह की कोई जानकारी हज यात्रा 2022 के लिए उपलब्ध नहीं कराई जा रही है।

हज कमेटी ऑफ इंडिया का कहना है कि अभी तक सऊदी अरब प्रशासन की तरफ से हज यात्रा-2022 को लेकर किसी भी तरह की कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। इसलिए कमेटी की तरफ से भी इस सिलसिले में किसी भी तरह का स्पष्टीकरण नहीं दिया जा सकता है। हज कमेटी की तरफ से हज यात्रा-2022 के लिए किसी भी तरह की जानकारी उपलब्ध नहीं कराने से हज यात्रा के लिए इच्छुक यात्रियों में काफी बेचैनी पाई जा रही है।

हज यात्रा-2021 के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया की तरफ से नवंबर में आवेदन फॉर्म भरने की कार्रवाई शुरू की गई थी। हज यात्रा-2020 के लिए भी उस साल नवंबर में ही आवेदन फार्म भरकर जमा कराने का सिलसिला शुरू किया गया था। इसलिए हज यात्रा के इच्छुक लोगों को काफी उम्मीद है कि इस वर्ष कोरोना वायरस महामारी के असर के कम होने के बाद हज यात्रा 2022 का आयोजन सऊदी अरब सरकार की तरफ से कराया जाएगा। एक बार फिर दुनियाभर के यात्री हज यात्रा के लिए वहां पर पहुंचेंगे। जिस तरह हज यात्रा 2019 का आयोजन किया गया था, उसी तर्ज पर इस बार भी हज यात्रा का आयोजन किया जाएगा।

ऑल इंडिया हज सेवा समिति के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष हाफिज नौशाद आजमी ने हज कमेटी ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को पत्र लिखकर हज यात्रा 2022 के लिए दिशानिर्देश जारी करने की मांग की है। उनका कहना है कि हज यात्रा के इच्छुक लोगों की बेचैनी को दूर करने के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया को सऊदी अरब सरकार से संपर्क करके इस दिशा में जल्द से जल्द कदम उठाना चाहिए। उन्होंने मुख्य कार्यकारी अधिकारी को लिखे पत्र में इस बात पर भी चिंता जाहिर की है कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए कराए जाने वाले जीवन बीमा की रकम को समय को देखते हुए बढ़ाए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि 2005 में 3 लाख का प्रत्येक हाजी का बीमा किया जाता था, जिसे अब बढ़ाकर कम से कम 10 लाख किया जाना चाहिए। उनका कहना है कि कमेटी के पास बीमा कंपनियों को प्रीमियम जमा कराने के लिए बड़ी रकम मौजूद है, जिसका इस्तेमाल कमेटी को इसके लिए करना चाहिए।

Loading...