सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में कैदियों के पथराव में सिपाही घायल, एम्बुलेंस भेजा गया अस्पताल

फर्रुखाबाद। फर्रुखाबाद जनपद की फतेहगढ़ सेंट्रल जेल उप्र की सबसे सुरक्षित जेलों में आती है। रविवार को यहां पर उस वक्त सुरक्षा में सेंध लग गई जब एक कैदी की मौत पर जेल में निरूद्ध बंदियों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया।

भड़के बंदियों ने तोड़फोड़ के साथ आगजनी शुरू कर जेल पर कब्जा कर लिया। कैदियों के उपद्रव को रोकने पहुंचे जेल अधीक्षक और उपाधीक्षक पर भी आक्रोशित बंदियों ने हमला किया है और वह घायल हो गए हैं। उन्हें बचाते हुए जेल पुलिस की ओर से फायरिंग करने की बात सामने आ रही है। वहीं, उग्र बंदियों के पथराव में एक सिपाही भी घायल हुआ है जिसे उपचार के लिए भेजा गया है। जेल में उपद्रव की सूचना पर जिलाधिकारी व एसपी सहित अन्य आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और बंदियों पर काबू किए जाने का प्रयास जारी है।

सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बन्दी संदीप का सैफई जेल में स्थानांतरण कर दिया गया था। जेल से ट्रांसफर की खबर के बाद उसकी मौत हो गई। साथी बंदी की मौत पर भड़के बंदियों ने जेल में जमकर तोड़ फोड़ और आगजनी शुरू कर दी। बंदियों के उत्पात को पहले तो जेल प्रशासन भीतर ही भीतर दबाने का प्रयास करता रहा लेकिन जब हालात बेकाबू हो गए तो आलाधिकारियों को सूचना दी।

जेल के अंदर आग की सूचना पर दो दमकल की गाड़ियां जेल गेट पर आ गयी। वहीं, भारी पुलिस बल के साथ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा व जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट भी मौके पर पहुंच गए। बंदियों के जेल पर कब्जे किए जाने की खबर पर लगभग सभी थानों का फोर्स, एसओजी टीम व पीएसी बल भी आ गयी है। इस बीच जेल के भीतर से फायरिंग की आवाजें आ रही थी।

सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ के भीतर हालत बेकाबू खबर लिखे जानें तक बने हुए है। बंदियों और पुलिस कर्मियों के बीच मोर्चा बंदी चल रही है। फिलहाल सूत्रों की माने तो जेल के भीतर पुलिस की पिटाई भी हो गयी है। जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि बंदियों को शांत कराने का प्रयास किया जा रहा है।

पथराव में थाना मऊदरवाजा का सिपाही घायल

जानकारी के मुताबिक, जेल में बबाल के दौरान हुए पथराव से थाना मऊदरवाजा का सिपाही जितेन्द्र कुमार घायल हो गया। उसे एम्बुलेंस से उपचार के लिए भेजा गया।

Loading...