सुगम यातायात व्यवस्था के लिए शिफ्टवार लगाई जाये पुलिसकर्मियों की ड्यूटी : डीजीपी

लखनऊ। प्रदेश के सभी जिलों में यातायात व्यवस्था को सुचारु रूप से संचालित करने को लेकर पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल ने शुक्रवार को वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए सभी पुलिस कप्तान को दिशा निर्देश दिए।

पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल ने शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन, पुलिस आयुक्त लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, पुलिस उप महानिरीक्षक गोरखपुर एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर के साथ और अधिक सुगम यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में समीक्षा की ।

इस अवसर पर मुख्यालय से अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था, अपर पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिदेशक के जीएसओ सहित अन्य अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। पुलिस महानिदेशक ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सुगम यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा कर दिशा निर्देश दिये गये।

इसमें डीजीपी ने कहा कि सुगम यातायात व्यवस्था के लिए पुलिस कर्मियों की ड्यूटी शिफ्टवार व्यवस्थित ढंग से लगाई जाये। यातायात व्यवस्था प्रबन्धन में नयी तकनीकों का प्रयोग कर उसे और अधिक सुदृढ़ बनाया जाये। यातायात व्यवस्था को और अधिक सुचारू रूप से संचालित करने के लिए सुबह और रात के व्यस्त समय में अनुभवी पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगायी जाये।

जनपदों में नो-एन्ट्री का कड़ाई से पालन कराया जाये, इस के लिए स्थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया जाये। जिससे आम जनता को जाम की समस्या का सामना न करना पड़े।

वरिष्ठ अधिकारियों ने यातायात व्यवस्था प्रबन्धन में लगे पुलिस कर्मियों को उनके ड्यिूटी प्वाइन्ट पर समय-समय पर चेक किया जाये। डियूटी के सम्बन्ध में उन्हें ब्रीफ भी किया जाये। जिलों द्वारा किये जा रहे ई-चालान की समय-समय पर समीक्षा कर उनका अतिशीघ्र निस्तारण कराया जाये। बॉडी वार्न कैमरा के सम्बन्ध में समय-समय पर दिये गये निर्देशों का पालन कराया जाये, तथा उसकी उपयोगिता के सम्बन्ध में भली भांति ब्रीफ किया जाये।

इस सम्बन्ध में निर्धारित एसओपी का पालन सुनिश्चित कराया जाये। चौराहों पर लगे ट्रैफिक सिग्नलों का निरीक्षण कर शासन के अन्य विभागों व नगर निगम, जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित कर ट्रैफिक सिग्नलों की क्रियाशीलता बनाये रखें। जिससे यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से चलती रहे। वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा समय-समय पर चौराहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की क्रियाशीलता व कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण किया जाये।

वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सड़क दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों का निरीक्षण कर उन स्थलों को चिन्हित कर दुर्घटना रोकने की दिशा में सार्थक प्रयास किये जाये। वाहनों में लगे अवैध हूटर, बिना नम्बर प्लेट वाले वाहन एवं यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालो के विरूद्ध नियमानुसार आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाये।

Loading...