मुख्यमंत्री ने नि:शुल्क राशन वितरण योजना का किया शुभारम्भ

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यहां नि:शुल्क राशन वितरण योजना का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कुछ लाभार्थियों को राशन का पैकेट भी वितरित किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इससे पहले भी कोविड काल में तीन महीने तक राज्य सरकार ने नि:शुल्क राशन वितरण व्यवस्था की थी। इससे 15 करोड़ लोग लाभान्वित हुए थे। 2021 में भी मई से लेकर दीपावली तक भारत सरकार ने खाद्यान्न वितरण की नि:शुल्क व्यवस्था लागू की। इस बार केंद्र और राज्य सरकार दोनों की तरफ से 15 करोड़ लोगों को नि:शुल्क राशन दिया जा रहा है। यह राशन होली तक लोगों को मिलेगा।

उन्होंने कहा कि इस समय जब थर्ड वेव की आशंका है। तब इलाज की व्यवस्था के साथ-साथ नि:शुल्क खाद्यान्न की व्यवस्था भी की जा रही है। एक बार फिर दीपावली से लेकर होली तक यह व्यवस्था शुरू की गई है। आप लोग देख सकते हैं कि खाद्यान्न वितरण की पूरी व्यवस्था को कितनी पारदर्शी तरीके के तहत लागू की जा रही है। 2017 से पहले गरीब टकटकी लगाए देखता रहता था, दूसरी ओर अनाज बेच दिया जाता था। उत्तर प्रदेश में खाद्यान्न घोटाला और उस दौरान से सैकड़ों लोगों की भूख से मौत किसी से छुपा नहीं है। उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार आई तब हम लोगों ने भ्रष्टाचार पर रोक लगाई और तय किया कि जरूरतमंदों तक इसका लाभ पहुंचाने का काम किया जाएगा। आज पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ योजना का लाभ निचले स्तर पर आम लोगों को मिल रहा है।

कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में महिलाएं बेटियां सुरक्षित नहीं थीं। भ्रष्टाचार चरम पर था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश की कमान संभालने के बाद से लगातार राज्य की भलाई के लिए काम कर रहे हैं। आज बीमारू राज्य से बाहर निकल कर उत्तर प्रदेश हर क्षेत्र में पहले नंबर पर खड़ा हुआ है। कोरोना काल के दौरान मुख्यमंत्री ने जिस तरह से काम किया है, उसकी देश और दुनिया में तारीफ हुई है। आज कोविड टीका लगाने में हम पहले नंबर पर हैं। हर क्षेत्र में उत्तर प्रदेश में बेहतर से बेहतर कार्य हुआ है। इस मौके पर जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया समेत अन्य महत्वपूर्ण लोग उपस्थित रहे।

Loading...