युवाओं को रोजगार से जोड़ेगा स्वावलम्बी भारत अभियान

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े आर्थिक व जन संगठनों ने मिलकर बेरोजगारी की समस्या के समाधान के लिए एक पहल की है। युवाओं को उद्यमिता से जोड़ने के लिए स्वावलम्बी भारत अभियान शुरू किया है। राजधानी लखनऊ के एस.आर.इंस्टीट्यूट में दो दिवसीए कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला का उद्घाटन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान 25 जून को करेंगे। कार्यशाला में आये प्रतिनिधियों को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डा.कृष्ण गोपाल और स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सतीश संबोधित करेंगे।

दो दिवसीए कार्यशाला में उत्तर प्रदेश के सभी प्रांतों व उत्तराखण्ड के प्रान्त स्तर के चार—चार कार्यकर्ता शामिल होंगे। इसमें सभी प्रान्त और दोनों क्षेत्र के सभी 11 संगठनों के संगठन मंत्री और स्वावलम्बी भारत अभियान के लिए जिलों से निकल रहे पूर्णकालिक कार्यकर्ताओं को भी बुलाया गया है। कार्यशाला में भारत में स्वरोजगार एवं उद्यमिता समस्या एवं समाधान पर विस्तृत चर्चा होगी।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के क्षेत्र संगठन मंत्री अंशुल श्रीवास्तव ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि स्वावलम्बी भारत अभियान पूर्ण बीपीएल उन्मूलन व 100 प्रतिशत रोजगार के अवसर के उद्देश्य से शुरू किया गया है।

अंशुल श्रीवास्तव ने बताया कि युवाओं को जाब सीकर की जगह जाब प्रोवाइडर बनाना होगा। भारत विश्व का सबसे बड़ा युवा देश है। देश के युवाओं को और उनकी मानसिकता को उद्यमिता की तरफ मोड़ने के लिए यह अभियान शुरू किया गया है।

स्वदेशी जागरण मंच के क्षेत्र संगठन मंत्री अजय कुमार ने बताया कि भारत कृषि प्रधान नहीं बल्कि कृषि आधारित उद्योग प्रधान देश रहा है। आज भारत बेरोजगारी की समस्या से ग्रसित गरीब देश बन गया है। उन्होंने कहा कि सरकार सबको रोजगार उपलब्ध नहीं करवा सकती लेकिन सरकार रोजगार उपलब्ध करवाने में सहायक हो सकती है।

अजय कुमार ने बताया कि जब तक देश पूर्ण रोजगार युक्त नहीं हो जाता वह पूर्ण स्वावलंबन व वैश्विक मार्गदर्शक के अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकता।

प्रत्येक जिले में होगी रोजगार सृजन केन्द्र की स्थापना

स्वावलम्बी भारती अभियान के तहत प्रत्येक जिले में विश्वविद्यालय अथवा महाविद्यालय के सहयोग से एक रोजगार सृजन केन्द्र की स्थापना होगी। यहां पर सब प्रकार से युवाओं को रोजगार युक्त करने की योजनाओं का केन्द्र होगा। इस केन्द्र पर सरकारी योजनाओं की जानकारी और युवाओं को उद्यमिता कौशल का प्रशिक्षण भी दिलाया जायेगा। इसके अलावा बैंक लोन दिलाने तथा उद्योग शुरू करने में आने वाली कठिनाईयों का सामना करना पड़ेगा।

इन संगठनों के प्रतिनिधि होंगे शामिल

स्वदेशी जागरण मंच

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद

विश्व हिन्दू परिषद

लघु उद्योग भारती

वनवासी कल्याण आश्रम

ग्राहक पंचायत

भारतीय मजदूर संघ

भारतीय किसान संघ

भारतीय जनता पार्टी

सहकार भारती

राष्ट्रीय सेवा भारती

Loading...