देश विदेश के इतिहास में 18 जुलाई का महत्व

भारत और दुनिया के इतिहास में 18 जुलाई की तिथि का महत्व कई कारणों से है । इस दिन भारत के इतिहास के साथ साथ विश्व के इतिहास में कुछ ऐतिहासिक घटनाएं घटी थीं । इनमें से प्रमुख हैं :

  • 1857: बंबई विश्वविद्यालय की स्थापना हुई थी। 18 जुलाई 1857 को ब्रिटिश अधिकारी डॉ, जॉन विल्सन ने बॉम्बे विश्वविद्यालय की स्थापना की। 4 सितंबर, 1996 को बॉम्बे विश्वविद्यालय का नाम बदलकर मुंबई विश्वविद्यालय कर दिया गया था। मुंबई विश्वविद्यालय के साथ, मद्रास और कोलकाता विश्वविद्यालय भी 18 जुलाई को ही स्थापित किए गए थे।
  • 1781 : ब्रिटेन के विख्यात खगोल शास्त्री विलियम हरशल ने आकाश गंगा की वास्तविकता का पता लगाया। उन्होंने 1770 के दशक में खगोल विज्ञान को अपनाया, अपना स्वयं का दूरबीन व दर्पण बनाया, और यूरेनस ग्रह की खोज के लिए 1781 में प्रसिद्धि पाई ।
  • 1872 : ब्रिटेन में गुप्त मतदान प्रक्रिया की शुरुआत हुई थी ।

1918 : नोबेल पुरस्कार से सम्मानित दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला का जन्मदिन 18 जुलाई को ही होता है । इस दिन संयुक्त राष्ट्र ” अंतरराष्ट्रीय नेल्सन मंडेला दिवस ” मनाता है।

1927 : गजल सम्राट मेहदी हसन का जन्म 18 जुलाई को ही हुआ था।

1943 : ब्रिटिश सेना ने इटली के कटानिया शहर पर हमला किया था।

1947 : भारतीय स्वाधीनता अधिनियम को शाही स्वीकृति 18 जुलाई के दिन ही मिली थी।  3 जून 1947 को प्रस्तुत की गई माउंटबेटन योजना के आधार पर ब्रिटिश संसद ने 4 जुलाई, 1947 को जो भारत स्वतंत्रता विधेयक पेश किया गया था उसे 18 जुलाई, 1947 को पारित किया गया। यह विधेयक स्वतंत्र भारत के स्वरूप के निर्धारण के लिए था और इसी में भारत की आजादी की तारीख 15 अगस्त 1947 तय की गई थी। इसी के तहत विभाजन के बाद भारत और पाकिस्तान की सीमाएं निर्धारित करने के लिए एक सीमा आयोग के गठन की बात कही गई थी।

  • 1951: दक्षिण अमेरिकी देश उरुग्वे ने अपने संविधान को अंगीकृत किया था।
  • 1955: परमाणु ऊर्जा से उत्पादित बिजली को व्यावसायिक रूप से पहली बार बेचा गया था।
  • 1973 – अफ़ग़ानिस्तान में राजशाही की समाप्ति एवं गणराज्य की स्थापना की गई थी।
  • 1977 : दक्षिण पूर्वी देश वियतनाम संयुक्त राष्ट्र का सदस्य बना था।
  • 1980 : पूर्ण रूप से भारत में निर्मित उपग्रह ‘रोहिणी-1’ पृथ्वी की कक्षा में स्थापित की गई थी।

2002 : तेल अवीव में बम विस्फोट में 6 लोगों की मृत्यु हो गई थी और , 40 लोग घायल हो गए थे।

  • 2007 : भारत, पाकिस्तान और मैक्सिको में हरित क्रान्ति के जनक कहे जाने वाले विश्व प्रसिद्ध अमेरिकी कृषि वैज्ञानिक नार्मन बोरलॉग को क्रांग्रेसनल गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया।

2012 : भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार राजेश खन्ना का निधन उनके बंगले आशीर्वाद में हो गया था। 18 जुलाई को उनकी पुण्यतिथि पड़ती है।

18 जुलाई को जन्मे व्यक्ति ( जयंती )

1861 : कादम्बिनी गांगुली – भारत की पहली महिला स्नातक और पहली महिला फ़िजीशियन।

1918 :  नेल्सन मंडेला- नोबेल पुरस्कार सम्मानित दक्षिण अफ़्रीका के भूतपूर्व राष्ट्रपति।

1927 : मेहदी हसन, प्रसिद्ध ग़ज़ल गायक

1931 : भावानम वेंकटरामी रेड्डी – आंध्र प्रदेश के भूतपूर्व आठवें मुख्यमंत्री थे।

1935 : जयेन्द्र सरस्वती – कामकोटि पीठ, कांचीपुरम, तमिलनाडु के शंकराचार्य थे।

1946 : राजेश जोशी – भारत के प्रसिद्ध साहित्यकारों।

1970 : अश्विनी वैष्णव – भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो पहले भारतीय प्रशासनिक सेवा में अधिकारी रहे हैं।

1982 : प्रियंका चोपड़ा – हिंदी सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री।

1996 : स्मृति मंधाना – भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी

18 जुलाई को हुए निधन (पुण्यतिथि) :

1948 :  पीरू सिंह – भारतीय सेना के वीर अमर शहीदों में एक।

1998 : अब्दुल हमीद
कैसर – भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारियों में से एक।

2011 : जगदीश प्रसाद – भारतीय शास्त्रीय गायक थे।

2012 : राजेश खन्ना, हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता।

2016 : मुबारक बेगम – हिन्दी फ़िल्मों की प्रसिद्ध पार्श्व गायिका।

2017 : अजित शंकर चौधरी – सुप्रसिद्ध भारतीय कवि, संस्मरणकार, कहानीकार, उपन्यासकार तथा सहृदय समीक्षक थे।

Loading...