उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें – पढ़ें एक क्लिक में

भाजपा की महिला विधायक एसपी कार्यालय पर धरना पर बैठीं

बिजनौर। भाजपा की एक महिला विधायक अपने चेहरे से मिलते जुलते चेहरे वाली महिला के आपत्तिजनक वीडियो को लेकर की गई शिकायत पर पुलिस की कोई कार्रवाई न होने के कारण नाराजगी जाहिर करते हुए मंगलवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में धरने पर बैठ गईं। भारतीय जनता पार्टी की चांदपुर से विधायक कमलेश सैनी का आरोप है कि तीन दिन पूर्व उन्हें एक सोशल मीडिया ग्रुप में वायरल हुए एक आपत्तिजनक वीडियो की जानकारी मिली। इस वीडियो में नजर आ रही महिला का चेहरा उनके चेहरे से मिलता जुलता बताया जा रहा है।

भाजपा विधायक सैनी का कहना है कि उन्होंने सीओ और कोतवाल चांदपुर को इस मामले पर तुरन्त कार्रवाई करने के लिए कहा। उनका आरोप है कि उनकी शिकायत की अनदेखी की गई जिसकी वजह से आज धरना देना पड़ा। विधायक का आरोप है कि उनके विरोधी वीडियो में दिख रही महिला से उनका नाम जोड़ कर दुष्प्रचार कर रहे हैं। विधायक ने वीडियो पोस्ट करने वाले पर कार्रवाई करने तथा वीडियो में नजर आ रही महिला का पता लगाने की मांग की है। वहीं, एएसपी दिनेश सिंह ने बताया कि इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं इस प्रकरण में चांदपुर पुलिस की भूमिका की भी जांच की जाएगी।

250 किग्रा गांजे सहित तीन तस्कर गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की स्पेषल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने राज्य में और पंजाब, हरियाणा एवं दिल्ली सहित अन्य प्रदेशों में भारी मात्रा में मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले एक अन्तरराज्यीय गिरोह के तीन सदस्यों को 250 किलोग्राम मादक पदार्थ गांजा सहित गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि ऐसी सूचना मिल रही थी कि अन्तरराज्यीय स्तर पर मादक पदार्थों की तस्करी करने वाला गिरोह सक्रिय है, जो ओडिशा, असम, पश्चिम बंगाल, आन्ध्र प्रदेश तथा मध्य प्रदेश से मादक पदार्थों की तस्करी कर उत्तर प्रदेश सहित देश के अन्य राज्यों में इसका विक्रय करता है। इस सूचना के बाद सोमवार को पता चला कि ओडिशा से एक ट्रक गांजे की खेप लेकर लखनऊ के रास्ते से होते हुए हरियाणा के पलवल जा रहा है। इस पर एसटीएफ और एनसीबी की संयुक्त टीम रायबरेली रोड मोड़ के पास लखनऊ शहीद पथ पहुंची। घेराबन्दी करने के बाद ट्रक को रोका गया और उसमें मौजूद लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तार आरोपियों में ओडिशा के कलिंगा पटना निवासी गौरी, उप्र के अमरोहा का निवासी रहीस अहमद और सतबीर सिंह शामिल हैं। ट्रक से करीब 250 किलोग्राम गांजा बरामद किया गया। एसटीएफ की पूछताछ पर गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि वे बड़े पैमाने पर मादक पदार्थों की तस्करी करते हैं और उनका एक संगठित गिरोह हैं। गिरोह का सरगना साबिर खान है, जो पलवल का रहने वाला है। साबिर खान के गिरोह का अवैध मादक पदार्थों का कारोबार हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश समेत देश के अनेक प्रान्तों में फैला है। सरगना साबिर खान और सुरेन्द्र की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

होटल के कमरे में युवक और छात्रा के शव मिले

आगरा। पर्यटन नगरी में एक होटल के कमरे से 11वीं कक्षा की छात्रा और एक युवक का शव मिला है। दोनों ने सल्फास खाया और बाद में युवक ने अपने हाथ की नस काट ली। दोनों के बीच कथित रूप से प्रेम प्रसंग का मामला था। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जानकारी के अनुसार सिकंदरा क्षेत्र की रहने वाली कक्षा 11वीं की छात्रा गत दिवस घर से स्कूल के लिए निकली थी। बीती शाम को सिकंदरा के एक होटल के कमरे में छात्रा और युवक का शव मिला। युवक की पहचान कन्नौज निवासी अमित के रूप में हुई है। वह एक निजी कंपनी में काम करता था।

बीएसएफ जवान ने की सहकर्मी की गोली मार कर हत्या 

गाजियाबाद। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक जवान नेयहां झगड़े के बाद अपने सहकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी। जानकारी के अनुसार घटना बाल भारती स्कूल की है, जहां हरियाणा के गुरुग्राम की बीएसएफ बटालियन की एक कंपनी कैंप किए हुए है। पुलिस के मुताबिक बीएसएफ के अजीत सिंह और जगप्रीत सिंह के बीच सोमवार को किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। अजीत सिंह पंजाब के पठानकोट का निवासी है। जगप्रीत पंजाब के गुरदासपुर के रहने वाले थे। अचानक अजीत सिंह ने अपनी राइफल से जगप्रीत सिंह को गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। अजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है।

किसानों का शोषण करने वाले विपक्षी दल आज बहा रहे घड़ियाली आंसू-योगी

लखनऊ । भारतीय किसान यूनियन के आंदोलन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि किसान जो मांगेें कर रहे हैं, उनमें से कई का समाधान राज्य सरकार कर चुकी है। विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि किसानों का शोषण करने वाले लोग आज किसानों के लिए कथित रूप से घडियाली आंसू बहाने का कार्य कर रहे हैं। ये नहीं चल सकता है।

मुख्यमंत्री योगी ने मंगलवार शाम यहां पत्रकार वार्ता में कहा कि आवारा पशुओं के बारे में किसानों ने बात की है। राज्य सरकार ने हर जनपद में एक करोड रूपये से अधिक धन गौशाला निर्माण के लिए दिया है। साथ ही मनरेगा को इसके साथ जोडने की व्यवस्था कर रहे हैं। हर किसान को, जो अपने घर में गोवंश पालना चाहता है या पशुपालन करना चाहता है तो कनवर्जन के माध्यम से उसे धनराशि मुहैया करायी जा सकती है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में सामूहिक गौशाला, जहां पांच हजार से दस हजार गोवंश रखा जा सके, उसकी सेवा की जा सके एक करोड 20 लाख रूपये प्रत्येक जनपद को उपलब्ध कराया है। दस करोड रूपये हर नगर निगम को उपलब्ध कराया है ताकि वे अपने यहां भी गोवंश और आवारा पशुओं के लिए शेल्टर होम बना दें। योगी ने कहा कि मनरेगा को खेती के साथ जोडने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) का आदेश है कि दस वर्ष से अधिक पुराने ट्रैक्टरों का इस्तेमाल बंद किया जाए। हम सरकार की ओर से याचिका दायर कर किसानों को राहत पहुंचाने का काम करेंगे। योगी ने कहा कि किसानों के हित के जितने भी कार्य हो सकते हैं, केन्द्र और प्रदेश सरकार ने किये हैं। किसान हमारी प्राथमिकता में हैं। दिल्ली जा रहे किसानों पर लाठीचार्ज के बारे में पूछने पर योगी ने कहा कि लोकतंत्र में किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। जब किसानों का प्रतिनिधिमंडल उच्चस्तरीय केन्द्रीय प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करता है तो उन स्थितियों में  धैर्य के साथ हमें प्रतीक्षा करनी चाहिए।

विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि किसानों का शोषण करने वाले लोग आज किसानों के लिए कथित रूप से घडियाली आंसू बहाने का कार्य कर रहे हैं। ये नहीं चल सकता है। उत्तर प्रदेश सरकार और केन्द्र सरकार किसानों के हितों की सुरक्षा के लिए भरपूर कार्य कर रही है। आगे भी पूरी संवेदनशीलता के साथ किसानों के हितों की रक्षा के लिए हर प्रकार की मदद करने के लिए हम लोग पूरी तत्परता के साथ कार्य कर रहे हैं। जब कहा गया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, सपा मुखिया अखिलेश यादव और रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह का साथ किसानों को मिल रहा है, तो मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन-जिन नेताओं का नाम लिया गया है, ये वे नेता हैं जिन्हें आलू और गन्ने के बारे में भेद नहीं मालूम है। ये किसान नहीं हैं बल्कि ये दुर्भाग्य से या सौभाग्य से ऐसे घरों में पैदा हुए हैं जिन्होंने खेती किसानी नहीं देखी है। सत्ता में रहते इन्होंने कभी किसानों का हित नहीं किया है।

आंदोलनरत किसानों का समर्थन किया सपा प्रमुख अखिलेश ने 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया एवं उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को दिल्ली में अपनी विभिन्न मांगो के समर्थन में आंदोनलरत किसानों का समर्थन किया। दिल्ली में आंदोलनरत किसानों के समर्थन में सपा प्रमुख ने कहा कि किसान अपनी विभिन्न मांगो के समर्थन में सड़को पर है। अगर हम देखे तो पिछले चार सालों में करीब 50 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। इनमें से अधिकतर उत्तर प्रदेश सहित अनेक भाजपा शासित प्रदेशों के किसान शामिल है।

उन्होंने मंगलवार को यहां कहा कि दिल्ली की कैबिनेट ने फैसला लिया भाजपा की सरकार ने फैसला लिया कि यहां के किसानो के भुगतान के लिये जो बकाया पैसा है उसके लिये एक पैकेज की तैयारी होगी और पैकेज की घोषणा भी हुई। लेकिन अभी भी किसानो का बकाया है। जो लोग यह कहते थे कि डीजल पेट्रोल सस्ता होगा, लगातार हर दिन डीजल पेट्रोल मंहगा किया जा रहा है। नोटबंदी ने जीएसटी ने जहां व्यापारियों को परेशान किया उनका व्यापार खत्म किया, वहीं सीधा सीधा असर किसानो पर भी पड़ा है।

पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने कहा कि कर्ज माफी को लेकर यह बात कही गयी थी कि सभी किसानो का कर्ज माफ हो जायेगा लेकिन सच्चाई यह है कि अभी भी किसानो का कर्ज माफ नही हुआ है। गन्ने की नयी फसल तैयार हो गयी है, चीनी मिले चल नही रही है लेकिन अभी पुराना भुगतान नही हुआ है इसलिये स्वभाविक है कि किसान सड़को पर आया है। दिल्ली से मांग कर रहा है कि उनकी मांगे पूरी हो, डीजल कौन सस्ता कर सकता है डीजल तो दिल्ली की सरकार सस्ता करेगी। चीनी पाकिस्तान से मंगाई जा रही है, लेकिन आपकी चीनी को बाजार नही मिल रहा है। किसान गन्ने का अभी भी परेशान है।

दरोगा ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से आत्महत्या की  

शाहजहांपुर । जिले में केन्द्रीय मंत्री की सुरक्षा में तैनात दरोगा तारा बाबू ने अपनी सरकारी रिवाल्वर से खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। घायलावस्था में उसे डा. राम मनोहर लोहिया जिला चिकित्सालय भेजा गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। आवास विकास में ग्रामीण बैंक की एक शाखा का शुभारम्भ करने के लिये आये वित्त राज्य मंत्री के सुरक्षा दल में फर्रूखाबाद के फतेहगढ़ में तैनात दरोगा तारा बाबू तैनात थे, उसकी जिप्सी जनपद शहजहाँपुर के हुल्लापुर चैराहे के निकट अयूब टायर की दुकान के सामने खड़ी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पहले दरोगा अपने वाहन जिप्सी के निकट ही अपने मोबाइल से किसी से वार्ता करते रहे। जिसके बाद वह दुकान के भीतर कुर्सी पर बैठ कर बातचीत करने लगे इसी दौरान उन्होंने अचानक अपनी सर्विस रिवाल्वर निकाल कर तीन गोलियां मार लीद्य दरोगा के खुद को गोली मारने की सूचना पर थानाध्यक्ष अल्लागंज, राजेपुर व अमृतपुर की पुलिस मौके पर आ गयीद्य उन्हें तत्काल उसी जिप्सी में लादकर लोहिया अस्पताल लाया गयाद्य जंहा डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही जिला पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि उसने आत्महत्या क्यों की।

पुलिसिया रवैये से क्षुब्ध मुस्लिम परिवार के 13 सदस्यों ने स्वीकारा हिंदू धर्म

बागपत । उप्र के बागपत जिले में पुलिस के रवैये से क्षुब्ध एक मुस्लिम परिवार ने कथित रुप से हिंदू धर्म स्वीकार कर लिया। हिंदू युवा वाहिनी (भारत) की देखरेख में मंगलवार को धर्मगुरु ने इस परिवार के 13 लोगों को हवन कराकर विधिवत रूप से हिंदू धर्म मंे शामिल किया गया। धर्म परिवर्तन करने वालों ने जिले के एसडीएम को शपथ पत्र भी सौंप दिए हैं। जिसकी पुष्टि जिलाधिकारी बागपत ने की है।

युवा हिंदू वाहिनी (भारत) के प्रदेश अध्यक्ष शौकेंद्र खोखर के मुताबिक छपरौली थाने के बदरखा निवासी अख्तर पिछले छह-सात माह से बागपत कोतवाली क्षेत्र के निवाड़ा गांव के खुब्बीपुरा मोहल्ला में रह रहे है। अख्तर का कहना है कि कई माह पहले उसके बेटे गुलहसन की हत्या कर दी गई थी। आत्महत्या का रूप देने के लिए शव फांसी पर लटका दिया गया था। बार-बार गुहार के बावजूद पुलिस ने भी इसे विवेचना में आत्महत्या मान लिया। बागपत कोतवाली पुलिस से उन्हें न्याय नहीं मिला। सोमवार को अख्तर परिवार के साथ तहसील पहुंचा और एसडीएम को शपथ पत्र दिया। शपथ पत्र में उसने कहा है कि उसके परिवार के सभी स्वेच्छा से हिंदू धर्म स्वीकार कर रहे हैं। उन्होंने अपने नाम भी बदल लिए हैं। इस दौरान उन्होंने अपने गले में भगवा पटके भी डाल रखे थे और जय श्रीराम का उद्घोष कर रहे थे। युवा हिंदू वाहिनी (भारत) के प्रदेष अध्यक्ष खोखर के अनुसार मंगलवार सुबह बदरखा गांव में हवन और हनुमान चालीसा का पाठ हुआ। इसमें विधि-विधान के साथ 13 लोंगो ने जो एक ही मुस्लिम परिवार के हैं ने हिंदू धर्म स्वीकार किया। इनमें अख्तर अली, नफीसा, जाकिर, दिलशाद, नौशाद और इरशाद और अन्य परिवार के लोग शामिल है। इन्होंने बताया कि वें मुस्लिम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म स्वीकार कर रहे हैं।

सिपाही की संदिग्ध परिस्थितयों में गोली लगने से मौत 

कानपुर देहात। जिले के गजनैर इलाके में सोमवार रात को एक सिपाही की संदिग्ध परिस्थितियों में सीने में गोली लगने से मौत हो गयी। जानकारी के मुताबिक प्राथमिक जांच में यह पता चला है कि कांस्टेबिल नरेश चन्द्र यादव (56) ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मार ली। यह हादसा उस समय हुआ जब वह अपने साथी सिपाही वेद प्रकाश तिवारी के साथ गश्त पर निकला था। अभी इस बात की पुष्टि नही हो पायी है कि यह दुर्घटनावश हुआ है या किसी अन्य कारण से। प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि सिपाही ने आत्महत्या की है लेकिन अभी इस बारे में कुछ भी साफ नही है।

प्राप्त विवरण के मुताबिक सिपाही नरेश कानपुर देहात जिले के गजनेर पुलिस स्टेशन के अन्तर्गत पुलिस चैकी पर तैनात था। मृतक सिपाही इटावा के भरथना का रहने वाला था। उसने तीन दिन की छुटटी के बाद सोमवार दोपहर को काम पर लौटा था। उसके बाद वह कांस्टेबिल वेद प्रकाश तिवारी के साथ गश्त पर निकला था। साथ गये सिपाही वेद प्रकाष के अनुसार सरवनखेडा पेट्रोल पंप के निकट वह लघु शंका के लिये गया था अचानक उसे गोली चलने की आवाज सुनाई दी तो वह घटनास्थल पर पहुंचा तो देखा नरेश खून से लहूलुहान था। उसकी सर्विस राइफ उसके पास पडी हुई थी। उसे घायल अवस्था में तुरंत एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। उसकी छाती में गोली लगी थी। श्रीवास्तव ने बताया कि सिपाही नरेश के परिजनों का आरोप है कि उसकी हत्या की गयी है लेकिन अभी तक इस मामले में एफआईआर नही दर्ज की गयी है।

सीआईएसएफ जवान ने की पत्नी बच्चों की हत्या 

झांसी। परीछा ताप विद्युत संयंत्र में तैनात केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के एक जवान ने मंगलवार को अपनेे दो मासूम बच्चों सहित पत्नी की हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। घटना के पीछे कारण स्पष्ट नहीं हो सका है हालांकि एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें ड्यूटी के तनाव एवं परेशानी की चलते परिवार सहित आत्महत्या करने की बात लिखी है। हालांकि जवान मौके से फरार है। जानकारी के अनुसार मूल रूप से राजस्थान के दौसा निवासी शेर सिंह गुर्जर के सरकारी आवास में आज सुबह पडोसियों ने देखा कि उसकी पत्नी गीता (30), पुत्र कान्हा (04) और पुत्री तनीषा (06) के शव चारपाई पर पडे हैं परन्तु शेर सिंह गायब है। इन तीनों को जहरीला पदार्थ देने के बाद धारदार हथियार से मार दिया गया था। घटनास्थल पर एक सुसाइड नोट भी मिला जिसमें ड्यूटी में तनाव के चलते परिवार सहित सुसाइड की बात लिखी है। पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है व फरार अथवा गायब जवान की तलाश की जा रही है।

किसानों पर लाठीचार्ज की मायावती ने की निन्दा

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया एवं उप्र की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने दिल्ली में किसानों पर पुलिस लाठीचार्ज की निन्दा करते हुए कहा है कि यह भाजपा सरकार की निरंकुशता की पराकाष्ठा है, जिसका खामियाजा भुगतने के लिए उसे तैयार रहना चाहिए। बसपा नेत्री मायावती ने मंगलवार को यहां एक बयान में कहा कि किसानों की आय दोगुना कर उनके अच्छे दिन लाने का वायदा करने वाली भाजपा सरकार निहत्थे किसानों पर पुलिस से लाठियाँ बरसवा रही है, उन पर आँसू गैस के गोले दगवा कर पुलिसिया जुल्म कर रही है जबकि किसान समाज के लोग गाँधी जयन्ती के दिन आज गाँधी स्थल पर जाकर केवल अपना विरोध प्रदर्शन करने वाले थे।

उन्होंने कहा कि वैसे तो भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकारों की गरीब व किसान-विरोधी गलत नीतियों से समाज का हर वर्ग काफी ज्यादा दुःखी व पीड़ित है, परन्तु खासकर किसान वर्ग के लोग इस सरकार में कुछ ज्यादा ही संकट झेल रहे हैं। भाजपा की सरकारों ने उनकी समस्याओं का अगर सही समाधान किया होता तो खासकर यूपी, पंजाब व हरियाणा के किसानों को आज दिल्ली में पुलिस की लाठी का शिकार होकर मुसीबत व जिल्लत नहीं झेलनी पड़ती। मायावती ने कहा कि इससे पहले भी मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र में किसानों पर पुलिस बर्बरता व ज्यादती की घटनायें समाज के उद्वेलित कर चुकी हैं। इतना ही नहीं बल्कि भाजपा सरकारों द्वारा किसानों की कर्ज माफी की घोषणा भी इनके अन्य वायदों व घोषणाओं की तरह हवा-हवाई ही साबित हुयी है।

Loading...
IGNITED MINDS