चुनाव आयुक्‍त ने कहा- EVM नहीं VVPAT में थी खामी, आम चुनाव के लिए कर रहे बेहतर तैयारी

कैराना लोकसभा उप चुनाव के बाद इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में गड़बड़ी को राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मचा हुआ है. इस बीच मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने साफ किया कि ईवीएम में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी नहीं हुई है, बल्‍कि दिक्कत VVPAT में  है. उन्‍होंने बताया कि पंजाब में भी इसी तरह से VVPAT में गड़बड़ी देखने को मिली थी.

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ओपी रावत ने कहा कि गर्मी और ट्रेनिंग में तालमेल न होने के कारण VVPAT में गड़बड़ी हुई होगी, जबकि ईवीएम में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी अभी तक सामने नहीं आई है. उन्‍होंने कहा कि कई जगहों पर मशीन ने बहुत बेहतर तरीके से काम किया है. चुनाव आयुक्‍त ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए VVPAT में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी न हो इसकी पूरी कोशिश की जा रही है. पंजाब में VVPAT के बड़े पैमाने पर समस्या आने के बाद चुनाव आयोग ने कर्मचारियों की ट्रेनिंग और रखरखाव पर जोर दिया है.

कैराना में 20 फीसदी वीवीपेट मशीनों को बदलना पड़ा

दस राज्यों की 14 लोकसभा और विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश की कैराना और महाराष्ट्र की भंडारा गोंदिया लोकसभा सीट पर वीवीपेट मशीनों में गड़बड़ी की सबसे ज्यादा शिकायतों के कारण इन्हें बदलना पड़ा. वोटिंग खत्म होने के बाद आयोग की ओर से देर शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक कैराना सीट पर इस्तेमाल की गयी 1705 वीवीपेट मशीनों में से गड़बड़ी की शिकायतों के चलते 355 वीवीपेट (20.82 प्रतिशत) बदलनी पड़ीं. जबकि भंडारा गोंदिया सीट पर इस्तेमाल की गयी 2149 वीवीपेट में से गड़बड़ी की शिकायतों वाली 413 वीवीपेट (19.22 प्रतिशत) को बदलना पड़ा.

कैराना लोकसभा सीट पर 54 और नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में 61 फीसदी मतदान

ईवीएम में गड़बडी़ के आरोप-प्रत्यारोप के बीच उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में लगभग 54 प्रतिशत और 61 फीसदी मतदान हुआ.

Loading...
IGNITED MINDS