Varanasi : संकट मोचन मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी मिली

महंत को धमकीभरा पत्र, पुलिस ने बढ़ाई मंदिर की सुरक्षा

वाराणसी : वाराणसी के सबसे प्राचीन संकट मोचन मंदिर में 2006 से भी बड़ा बम धमाका करने की धमकी भरा एक पत्र महंत को मिला है। इसको लेकर लंका थाने में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने मन्दिर की सुरक्षा बढ़ा दी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बुधवार को बताया कि संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विश्वंभरनाथ मिश्र ने मंगलवार की रात लंका थाने में तहरीर दी। उन्होंने पुलिस को बताया कि पत्र में लिखा था कि मंदिर में मार्च 2006 से बड़ा धमाका करेंगे। इसके साथ ही यह भी कहा गया कि इस धमकी को मन्दिर प्रबंधन हल्के में न लें, यह चेतावनी है। महंत ने पत्र भेजने वाले जमादार मियां और अशोक यादव के खिलाफ लंका थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। प्रो. मिश्र ने केंद्रीय गृह मंत्रालय, आईबी और एडीजी जोन को जानकारी दी।

सात मार्च, 2006 को दशाश्वमेध घाट संकट मोचन मंदिर और कैंट स्टेशन पर बम धमाका हुआ था। इसमें सात लोगों की मौत जबकि 100 से अधिक लोग गंभीर रुप से घायल हुए थे। यह बम धमाका देश के 10 बड़े आतंकी हमलों में से था। इस सम्बन्ध में एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि तहकीकात में पता चला है कि प्रथम दृष्टया यह किसी की शरारत है, लेकिन इसे गंभीरता से लिया गया है। धमकी भरे पत्र में अशोक नाम के व्यक्ति का मोबाइल नम्बर पर है। इस सम्बन्ध में जांच पड़ताल की जा रही है। वहीं मन्दिर की सुरक्षा बढ़ाते हुए चिट्ठी भेजने वालों को चिह्नित कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

Loading...
IGNITED MINDS