शिक्षा का मंदिर बना अश्लील डांस का मंच,

यूपी के बलिया में शिक्षा का मन्दिर अश्लील डांस का मंच बनकर सामने आया है. जानकारी के मुताबिक शिक्षा के मन्दिर में बार बालाओं ने जमकर ठुमके लगाए. इस कार्यक्रम में पुलिस वाले भी मौजूद थे और सम्मानित भी किए गए थे. यही नहीं शिक्षा के मन्दिर में बार बालाओं का डांस उस वक्त हो रहा था जब स्कूल में बच्चों की पढ़ाई चल रही थी. प्राथमिक स्कूल में ग्राम प्रधान राजेश कुमार पाण्डेय द्वारा कम्बल वितरण का कार्यक्रम स्कूल के प्रांगण में आयोजित किया गया था. यह मामला यूपी के बलिया के प्राथमिक विद्यालय आसमान ठोठा, शिक्षा क्षेत्र रेवती का है. वहीं बार गर्ल्स के डांस के दौरान रुपये भी लुटाए गए.

बता दें स्कूल में डांस कार्यक्रम की वजह से अध्यापक भी काफी परेशान थे, लेकिन वह कुछ नहीं कह पाए. वहीं छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ने में भी काफी दिक्कत हो रही थी, जिसकी वजह से कुछ देर बाद बच्चों की छुट्टी कर उन्हें घर भेज दिया गया. वहीं आस-पास के लोगों ने कहा कि ग्राम प्रधान राजेश कुमार पांण्डेय ने इन बार गर्ल्स को कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए बुलाया था, लेकिन वह यह भूल गए कि स्कूल में बच्चे पढ़ते हैं, जिससे इसका उन पर बुरा असर भी हो सकता है. कार्यक्रम के दौरान बच्चे इतने परेशान हो रहे थे कि कई तो म्यूजिक की आवाज सुनकर अपने कान दबाकर बैठ गए. ठुमके लगाने वाली बार बालाओं और इनकी टीम पर पैसा लुटाते हुए लोग ग्राम प्रधान के मेहमान थे. कार्यक्रम में पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे जो इस कार्यक्रम में सम्मानित हो रहे थे.

मगर इन लोगों को ये नहीं पता है कि इस कार्यक्रम से स्कूल में पढने वाले बच्चे किस कदर परेशान है और उनकी पढाई किस कदर प्रभावित है. जब इस बारे में जब शिक्षा अधिकारी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ”आप के माध्यम से जो वीडियो दिखाई गई है वह एक प्राथमिक विद्यालय आसमान ठोठा में एक कम्बल वितरण कार्यक्रम के दौरान का है. इस दौरान स्कूल परिसर में हो रहे शोर-शराबे से वहां बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा होगा. निश्चित रूप से स्कूल में पठन पाठन के दौरान इस तरह के गतिविधि प्रतिबंधित है.” प्राथमिक विद्यालय का प्रधानाध्यापक प्रशासनिक हेड है. इस मामले में खंण्ड शिक्षा अधिकारी ने जांच कराकर रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही करने की बात कही है.

Loading...
IGNITED MINDS