12 घंटे में दो पत्रकारों ने की आत्महत्या, शौक में पत्रकारिता जगत

छत्तीगढ़ में पत्रकारों का मुश्किल दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन यहाँ पर पत्रकारों द्वारा की जाने वाली आत्महत्या में दो नाम और जुड़ गए है जिससे छत्तीसगढ़ का पत्रकारिता जगत शौक में डूबा हुआ है. छत्तीसगढ़ में पिछले 12 घंटों के भीतर दो पत्रकारों ने आत्महत्या कर ली है. आत्महत्या करने की असल वजह अभी तक सामने नहीं आई है. 

बता दें, छत्तीसगढ़ में पत्रकार जगत के दो जाने माने नाम जिन्होंने आत्महत्या की है, उस में एक है अंबिकापुर में हिंदी न्यूज चैनल के पत्रकार शैलेन्द्र विश्वकर्मा और दूसरी बस्तर में राजस्थान पत्रिका समूह के अखबार पत्रिका में पदस्थ महिला पत्रकार रेणु अवस्थी. दोनों पत्रकार काफी प्रतिभाशाली थे. बताया जा रहा है कि, पिछले काफी समय से छत्तीसगढ़ में बस्तर के पत्रकार नक्सलियों और पुलिस के द्वारा बनाए गए दबाव के कारण काफी मुश्किलों में पत्रकारिता कर रहे थे. 

इन दोनों ने खुदकुशी क्यों की, इसकी असल वजहों के बारे में अभी कुछ जानकारी नहीं मिल पाई है. इस मामले में पुलिस अभी जांच कर रही है. वहीं मिल रही खबरों के अनुसार रेणु ने आत्महत्या करने से पहले रायपुर में स्थित पत्रिका के हेड ऑफिस फोन किया था, वहीं पत्रिका के ऑफिस के लोगों ने जगदलपुर फोन किया. ऑफिस के लोग रेणु के घर पहुंच पाते तब तक रेणु सुसाइड कर चुकी थी. वहीं शैलेन्द्र विश्वकर्मा मौत से कुछ समय पहले तक सोशल मीडिया में सक्रीय थे हालाँकि उन्होंने कुछ पोस्ट की थी जिससे जाहिर हो रहा था कि वो बैचेनी में थे. 

Loading...
IGNITED MINDS