तन्वी सेठ पासपोर्ट केस: ट्रोल ने कहा- ये ‘इस्लामिक किडनी’ का इफेक्ट है, सुषमा ने शेयर किया ट्वीट

हिंदू-मुस्लिम कपल को पासपोर्ट दिये जाने को लेकर शुरू हुए विवाद और उसके बाद ट्रोल (सोशल मीडिया पर परेशान करने वाले) की गालियां का खुद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तंज भरे लहजे में जवाब दिया है. उन्होंने अपने आधिकारिक फेसबुक अकाउंट्स पर भद्दे कमेंट्स को शेयर किया है. सुषमा ने कहा कि पासपोर्ट को लेकर जब विवाद हुआ था तब वह देश से बाहर थी.तन्वी सेठ पासपोर्ट केस: ट्रोल ने कहा- ये 'इस्लामिक किडनी' का इफेक्ट है, सुषमा ने शेयर किया ट्वीट

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, ”मैं 17 से 23 जून तक भारत से बाहर थी. मेरी गैर-मौजूदगी में क्या हुआ मुझे नहीं पता. मैं कुछ ट्विट्स से बहुत सम्मानित महसूस कर रही हूं. मैं उन ट्वीट्स को आप सभी के साथ साझा कर रही हूं, इसलिए मैंने उन्हें लाइक किया है.” मुस्लिम युवक अनस सिद्दीकी से शादी रचाने वाली हिंदू महिला तन्वी सेठ ने लखनऊ के पासपोर्ट ऑफिस पर धर्म के नाम पर पासपोर्ट देने में रुकावट की बात कही थी.

सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट को शेयर किया है जिसमें नितांत नाम के शख्स ने लिखा है, ”सुषमा जी वो आपकी किडनी कुछ ज्यादा ही सेक्यूलर निकली. कहीं नवाज शरीफ को ना इंडिया का विजा दे दे.” राजेंद्र नाम के एक शख्स ने लिखा है सुषमा अब सुषमा बेगम हो चुकी हैं. इसलिए हिंदुओं की आवाज को नजरअंदाज कर रही हैं. एक अन्य यूजर्स ने कहा, ”मुझे पासपोर्ट में इतनी मुसीबत हुई, जबकि मेरे पास दस्तावेज सही था, लेकिन सुषमा बेगम ने कोई हेल्प नहीं की.”

ज्यादातर ट्रोल ने बीजेपी और कई अन्य संगठनों को टैग किया है. जिसमें गालियां तक लिखी गई है. रॉबिन नाम के शख्स ने तो शर्मिंदगी की सारी हदें पार करते हुए सुषमा स्वराज की किडनी फेल होने की भी दुआ कर डाली. उन्होंने लिखा, ”सुषमा स्वराज मैं आपके लिए दुआ कर रहा हूं कि आपका फिर से किडनी फेल हो जाए.” इंदिरा बाजपेयी ने #ISupportVikasMishra के साथ लिखा है क्या यह इस्लामिक किडनी का इफैक्ट है.

क्या है मामला?

दरअसल, लखनऊ स्थित रतन स्क्वायर पासपोर्ट कार्यालय के अधिकारी विकास मिश्रा पर तन्वी सेठ ने बदसलूकी का आरोप लगाया था. तन्वी सेठ के मुताबिक, जब वह अपना आवेदन लेकर विकास मिश्रा के पास गई तो उन्होंने मुस्लिम से शादी करने को लेकर व्यक्तिगत कमेंट किए, जब तन्वी सेठ ने इसका विरोध किया तो विकास मिश्रा ने उनके साथ बदसलूकी भी की. जिसकी शिकायत तन्वी सेठ ने विदेश मंत्रालय से की.

विवाद बढ़ने पर आनन-फानन में पासपोर्ट इश्यू कर दिया गया. पासपोर्ट अधिकारी का कहना है कि तन्वी सेठ अवैध रूप से अपने पति अनस सिद्दीकी का नाम पासपोर्ट में शामिल कराना चाहती थीं, जिस निकाहनामे को आधार बनाकर वह यह दावा कर रहीं थीं, उसमें उनका नाम ‘सादिया अनस’ लिखा हुआ था. इसकी जानकारी उन्होंने आवेदन में नहीं दी थी. इसे लेकर उन्होंने आपत्ति जाहिर की थी.

विकास मिश्रा की सफाई के बाद बीजेपी के कई नेताओं ने सवाल खड़े किये हैं और योगी सरकार से पूरी जांच की मांग की है. पासपोर्ट विभाग विदेश मंत्रालय के अंतर्गत आता है ऐसे में अब ट्रोल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को निशाना बनाना शुरू कर दी है.

Loading...
IGNITED MINDS