FIFA World Cup : ये टीमें ऐसे पहुंच सकती हैं नॉकआउट दौर में

फुटबॉल विश्व कप 2018 के ग्रुप चरण के अंतिम मैच सोमवार से खेले जाएंगे। इस दौरान हर ग्रुप में दोनों मैच एक साथ शुरू होंगे ताकि टीमें परिणाम को फिक्स नहीं कर पाए। ब्राजील, उरुग्वे, फ्रांस, क्रोएशिया, इंग्लैंड और बेल्जियम जैसी टीमें पहले ही नॉकआउट में जगह बना चुकी है। आइए अब नजर डालते हैं कि अन्य टीमें किस तरह प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर सकती हैं। हर ग्रुप में किस तरह नजर आ रहा है अभी समीकरण…फुटबॉल विश्व कप 2018 के ग्रुप चरण के अंतिम मैच सोमवार से खेले जाएंगे। इस दौरान हर ग्रुप में दोनों मैच एक साथ शुरू होंगे ताकि टीमें परिणाम को फिक्स नहीं कर पाए। ब्राजील, उरुग्वे, फ्रांस, क्रोएशिया, इंग्लैंड और बेल्जियम जैसी टीमें पहले ही नॉकआउट में जगह बना चुकी है। आइए अब नजर डालते हैं कि अन्य टीमें किस तरह प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर सकती हैं। हर ग्रुप में किस तरह नजर आ रहा है अभी समीकरण...  ग्रुप 'ए' :  मेजबान रूस और उरुग्वे इस ग्रुप से पहले ही प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुके हैं। ये दोनों टीमें अब ग्रुप में शीर्ष पर बने रहने के लिए भिड़ेंगी। सऊदी अरब और मिस्त्र तीसरे स्थान के लिए आमने-सामने होंगी।  ग्रुप 'बी' :  स्पेन और पुर्तगाल इस ग्रुप से नॉकआउट में पहुंचने की दावेदार होंगी, लेकिन ईरान इनसे 1 अंक पीछे है। पुर्तगाल यदि ईरान के खिलाफ मैच ड्रॉ भी करवा लेगा तो नॉकआउट में पहुंचेगा। स्पेन यदि मोरक्को के खिलाफ मैच ड्रॉ भी करवा लेता है तो नॉकआउट में पहुंचेगा बशर्ते पुर्तगाल अपना मैच जीत जाए।  ग्रुप 'सी' :   पूर्व चैंपियन फ्रांस 6 अंकों के साथ पहले ही नॉकआउट में पहुंच चुका है, लेकिन वह डेनमार्क को हराकर शीर्ष पर बना रहना चाहेगा। मैच ड्रॉ रहा तो भी वह शीर्ष पर रहेगा। ऑस्ट्रेलिया को अगले दौर में पहुंचने के लिए पेरू को हराना होगा और यह उम्मीद करनी होगी कि डेनमार्क दूसरे मैच में फ्रांस से हार जाए। इस स्थिति में भी ऑस्ट्रेलिया को कम से कम दो गोलों के अंतर से यह मैच जीतना होगा।  ग्रुप 'डी' :   अर्जेंटीना को अगले दौर में पहुंचने के लिए अपने अंतिम मैच में नाइजीरिया को हराना होगा और यह उम्मीद करनी होगी कि क्रोएशिया दूसरे मैच में आइसलैंड से हार नहीं जाए। क्रोएशिया इस ग्रुप से क्वालीफाई कर चुका है। नाइजीरिया यदि 2 गोल के अंतर से जीता तो क्वालीफाई हो जाएगा। नाइजीरिया ने यदि मैच ड्रॉ भी करवा लिया तो भी नॉकआउट में पहुंच सकता है बशर्ते आइसलैंड अपना मैच 2 गोल के अंतर से नहीं जीत जाए।  ग्रुप 'ई' :   ब्राजील यदि सर्बिया के खिलाफ मैच जीत जाए या ड्रॉ भी करवा ले तो भी शीर्ष पर रह सकता है यदि स्विट्‍जरलैंड दूसरे मैच में कोस्टा रिका पर बड़ी जीत दर्ज नहीं कर ले। अभी ब्राजील का गोल अंतर बेहतर है। स्विस टीम ‍यदि कोस्टारिका से मैच ड्रॉ भी करवा ले तो भी आगे बढ़ जाएगी। स्विस टीम यह मैच हारकर भी आगे बढ़ सकती है बशर्ते सर्बिया भी पराजित हो जाए। सर्बिया यदि मैच जीत जाए तो नॉकआउट में पहुंचेगा, वह ड्रॉ मैच खेलकर भी आगे बढ़ सकती है बशर्ते स्विस टीम अपना मैच दो गोल के अंतर से हार जाए।  ग्रुप 'एफ' :   मैक्सिको यदि स्वीडन के खिलाफ ड्रॉ भी करवा ले तो शीर्ष पर रहते हुए आगे बढ़ जाएगा। जर्मनी को यदि आगे बढ़ना है तो स्वीडन के समान परिणाम लाना होगा। यदि दोनों मैच ड्रॉ रहे तो इस बात से आगे बढ़ने वाली टीम का फैसला होगा कि किस टीम ने कितने गोल दागे।  ग्रुप 'जी' :   इंग्लैंड और बेल्जियम इस ग्रुप से पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैं। अब इनके बीच ग्रुप में शीर्ष पर रहने के लिए संघर्ष होाग। मैच ड्रॉ होने की स्थिति में इंग्लैंड शीर्ष पर रहेगा। ट्‍यूनीशिया और पनामा के बीच तीसरे स्थान पर आने की जंग होगी।  ग्रुप 'एच' :   जापान ने यदि पोलैंड के साथ मैच ड्रॉ भी करवा लिया तो आगे बढ़ जाएगा। सेनेगल और कोलंबिया के मैच की विजेता टीम आगे बढ़ेगी। यदि मैच ड्रॉ भी रहा तो अफ्रीकी टीम नॉकआउट में पहुंचेगी।

ग्रुप ‘ए’ :

मेजबान रूस और उरुग्वे इस ग्रुप से पहले ही प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुके हैं। ये दोनों टीमें अब ग्रुप में शीर्ष पर बने रहने के लिए भिड़ेंगी। सऊदी अरब और मिस्त्र तीसरे स्थान के लिए आमने-सामने होंगी।

ग्रुप ‘बी’ :

स्पेन और पुर्तगाल इस ग्रुप से नॉकआउट में पहुंचने की दावेदार होंगी, लेकिन ईरान इनसे 1 अंक पीछे है। पुर्तगाल यदि ईरान के खिलाफ मैच ड्रॉ भी करवा लेगा तो नॉकआउट में पहुंचेगा। स्पेन यदि मोरक्को के खिलाफ मैच ड्रॉ भी करवा लेता है तो नॉकआउट में पहुंचेगा बशर्ते पुर्तगाल अपना मैच जीत जाए।

ग्रुप ‘सी’ :

पूर्व चैंपियन फ्रांस 6 अंकों के साथ पहले ही नॉकआउट में पहुंच चुका है, लेकिन वह डेनमार्क को हराकर शीर्ष पर बना रहना चाहेगा। मैच ड्रॉ रहा तो भी वह शीर्ष पर रहेगा। ऑस्ट्रेलिया को अगले दौर में पहुंचने के लिए पेरू को हराना होगा और यह उम्मीद करनी होगी कि डेनमार्क दूसरे मैच में फ्रांस से हार जाए। इस स्थिति में भी ऑस्ट्रेलिया को कम से कम दो गोलों के अंतर से यह मैच जीतना होगा।

ग्रुप ‘डी’ :

अर्जेंटीना को अगले दौर में पहुंचने के लिए अपने अंतिम मैच में नाइजीरिया को हराना होगा और यह उम्मीद करनी होगी कि क्रोएशिया दूसरे मैच में आइसलैंड से हार नहीं जाए। क्रोएशिया इस ग्रुप से क्वालीफाई कर चुका है। नाइजीरिया यदि 2 गोल के अंतर से जीता तो क्वालीफाई हो जाएगा। नाइजीरिया ने यदि मैच ड्रॉ भी करवा लिया तो भी नॉकआउट में पहुंच सकता है बशर्ते आइसलैंड अपना मैच 2 गोल के अंतर से नहीं जीत जाए।

ग्रुप ‘ई’ :

ब्राजील यदि सर्बिया के खिलाफ मैच जीत जाए या ड्रॉ भी करवा ले तो भी शीर्ष पर रह सकता है यदि स्विट्‍जरलैंड दूसरे मैच में कोस्टा रिका पर बड़ी जीत दर्ज नहीं कर ले। अभी ब्राजील का गोल अंतर बेहतर है। स्विस टीम ‍यदि कोस्टारिका से मैच ड्रॉ भी करवा ले तो भी आगे बढ़ जाएगी। स्विस टीम यह मैच हारकर भी आगे बढ़ सकती है बशर्ते सर्बिया भी पराजित हो जाए। सर्बिया यदि मैच जीत जाए तो नॉकआउट में पहुंचेगा, वह ड्रॉ मैच खेलकर भी आगे बढ़ सकती है बशर्ते स्विस टीम अपना मैच दो गोल के अंतर से हार जाए।

ग्रुप ‘एफ’ :

मैक्सिको यदि स्वीडन के खिलाफ ड्रॉ भी करवा ले तो शीर्ष पर रहते हुए आगे बढ़ जाएगा। जर्मनी को यदि आगे बढ़ना है तो स्वीडन के समान परिणाम लाना होगा। यदि दोनों मैच ड्रॉ रहे तो इस बात से आगे बढ़ने वाली टीम का फैसला होगा कि किस टीम ने कितने गोल दागे।

ग्रुप ‘जी’ :

इंग्लैंड और बेल्जियम इस ग्रुप से पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैं। अब इनके बीच ग्रुप में शीर्ष पर रहने के लिए संघर्ष होाग। मैच ड्रॉ होने की स्थिति में इंग्लैंड शीर्ष पर रहेगा। ट्‍यूनीशिया और पनामा के बीच तीसरे स्थान पर आने की जंग होगी।

ग्रुप ‘एच’ :

जापान ने यदि पोलैंड के साथ मैच ड्रॉ भी करवा लिया तो आगे बढ़ जाएगा। सेनेगल और कोलंबिया के मैच की विजेता टीम आगे बढ़ेगी। यदि मैच ड्रॉ भी रहा तो अफ्रीकी टीम नॉकआउट में पहुंचेगी।

Loading...
IGNITED MINDS