पेशावर: आत्मघाती हमले में एएनपी नेता सहित 14 की मौत

आतंकवादियों के गढ़ पाकिस्तान को भी आतंकियों ने नहीं बक्शा है, ये बात कई बार साबित हो चुकी है और अब एक बार फिर पेशावर शहर में आत्मघाती बम हमला 14 लोगों की जान ले गया. इस हमले में 65 अन्य घायल भी हो गए है. हैं. मंगलवार रात की ये घटना याकातूत इलाके में घटी जिसके बाद घायलों को पास के लेडी रीडिंग अस्पताल रेफेर किया गया और राहत एवं बचाव टीम सुबह तक अपने काम में लगी हुई थी.आतंकवादियों के गढ़ पाकिस्तान को भी आतंकियों ने नहीं बक्शा है, ये बात कई बार साबित हो चुकी है और अब एक बार फिर पेशावर शहर में आत्मघाती बम हमला 14 लोगों की जान ले गया. इस हमले में 65 अन्य घायल भी हो गए है. हैं. मंगलवार रात की ये घटना याकातूत इलाके में घटी जिसके बाद घायलों को पास के लेडी रीडिंग अस्पताल रेफेर किया गया और राहत एवं बचाव टीम सुबह तक अपने काम में लगी हुई थी.    यहाँ एक एक चुनावी बैठक चल रही थी जिस पर  हुए आत्मघाती विस्फोट में अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) के नेता हारून बिल्लौर सहित कम से कम 14 लोगों के मरने की खबर . एएनपी के कार्यकर्ता और हारून बिल्लौर चुनाव संबंधी एक बैठक कर रहे थे तभी अचानक ये आत्मघाती हमला हुआ जिससे वह मौजूद लगभग 300 लोग घबरा कर भागने लगे, विस्फोट से और भगदड़ से कई लोग घायल भी हो गए.   अवामी नेशनल पार्टी के हारून बिल्लौर गंभीर रूप से घायल हो गए और लेडी रीडिंग अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) के अधिकारी ने बताया कि हमले में कम से कम 12 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री का इस्तेमाल हुआ है. गौरतलब है कि हारून बिल्लौर के पिता बशीर अहमद बिल्लौर भी 2012 में पेशावर में  पार्टी की एक बैठक के दौरान ऐसे ही एक आत्मघाती हमले में मारे गए थे. हमला तालिबानी हमलावर ने किया था.

यहाँ एक एक चुनावी बैठक चल रही थी जिस पर  हुए आत्मघाती विस्फोट में अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) के नेता हारून बिल्लौर सहित कम से कम 14 लोगों के मरने की खबर . एएनपी के कार्यकर्ता और हारून बिल्लौर चुनाव संबंधी एक बैठक कर रहे थे तभी अचानक ये आत्मघाती हमला हुआ जिससे वह मौजूद लगभग 300 लोग घबरा कर भागने लगे, विस्फोट से और भगदड़ से कई लोग घायल भी हो गए.

अवामी नेशनल पार्टी के हारून बिल्लौर गंभीर रूप से घायल हो गए और लेडी रीडिंग अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) के अधिकारी ने बताया कि हमले में कम से कम 12 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री का इस्तेमाल हुआ है. गौरतलब है कि हारून बिल्लौर के पिता बशीर अहमद बिल्लौर भी 2012 में पेशावर में  पार्टी की एक बैठक के दौरान ऐसे ही एक आत्मघाती हमले में मारे गए थे. हमला तालिबानी हमलावर ने किया था. 

Loading...
IGNITED MINDS