बिजली चोरी रोकने को लगेंगे प्रीपेड मीटर, भ्रष्टाचारी जाएंगे जेल : श्रीकांत शर्मा

ऊर्जा मंत्री बोले, सपा,बसपा व कांग्रेस के कारण प्रदेश की छवि धूमिल हुई

बहराइच : जिले के दौरे पर पहुंचे ऊर्जा मंत्री ने राहुल गांधी की ओर से पीएम की आलोचना को लेकर उन्हें हीन भावना से ग्रस्त बताते हुए कहा की वह एक फ्लॉप पार्टी के फ्लॉप अध्यक्ष रह चुके हैं, उन्हें समझना चाहिए की मोदी पूरे देश के पीएम हैं। उन्होंने कहा की हम भ्रष्ट्राचार व अपराध के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रहे हैं। सपा, बसपा व कांग्रेस के कॉकटेल के कारण पूर्व में प्रदेश की छवि धूमिल हो गई। जिसे सरकार लगातार सही कर रही है। पहले की सरकारों में अपराधियों को संरक्षण मिलता था, लेकिन हमारी सरकार बनने के बाद अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हुई।  जिले के दौरे पर पहली बार पहुंचे ऊर्जा मंत्री शर्मा शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में शहरी क्षेत्र में भूमिगत बिजली लाइन परियोजना शुरू हुई थी। इस परियोजना में बड़े पैमाने पर अनियमितता की शिकायत मिली है। विजलेंस व विभागीय टीम को जांच के आदेश दिए गए हैं। भ्रष्टाचार उजागर होने पर जिम्मेदारों को जेल भेजा जाएगा। बिजली चोरी रोकने के लिए प्री-पेड मीटर लगाने की तैयारी हो रही है।

उन्होंने कहा कि सपा,बसपा व कांग्रेस के कॉकटेल से पूर्ववर्ती सरकारों के मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री तक मालामाल हो गए। 70 सालों की बरकार समस्याओं को युद्धस्तर पर दूर करने का प्रयास चल रहा है। उन्होंने कहा की सरकार के 90 कार्यकाल में 1500 उपकेंद्रों को अपग्रेड, 464 नए उपकेंद्र बनाए गए हैं। जिले में बिजली के क्षेत्र में कराए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि पीएम सौभाग्य योजना से 2.14 लाख घरों तक बिजली पहुंचाई गई है। 9064 मजरों में पहली बार बिजली पहुंची है। 33 केवीए के दो नए उपकेंद्रों के निर्माण के साथ आठ केंद्रों की क्षमता बढ़ाई गई। 6112 नए ट्रांसफार्मर भी लगाए गए हैं। इन कार्यो पर 440 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। शहरी क्षेत्र की 33 व 11 केवीए भूमिगत बिजली लाइन परियोजना पर 80 करोड़ रुपये खर्च करने के बाद भी आए दिन बिजली गुल होने के सवाल पर कहा कि समीक्षा बैठक में अनियमितता पर चर्चा हुई है। परियोजना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। गड़बड़ी मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।  ऊर्जा मंत्री ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्धता के साथ कदम बढ़ा रही है। कहा कि दो सालों में 57800 करोड़ रुपये किसानों को भुगतान किया गया है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने चलती मिलों को ही बेच डाला।

Loading...
IGNITED MINDS