जामिया हिंसा मामले में 10 गिरफ्तार, कोई छात्र नहीं

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर रविवार शाम राजधानी दिल्ली के जामिया नगर और आसपास के इलाके में भड़की हिंसक मामले में दिल्ली पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। खास बात ये है कि गिरफ्तार लोगों में एक भी स्टूडेंट नहीं है। पुलिस के मुताबिक सभी गिरफ्तार आरोपी क्रिमिनल बैकग्राउंड के हैं। गिरफ्तार 10 लोगों में से 3 लोग इलाके के बीसी (बैड कैरेक्टर) घोषित अपराधी हैं। इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं, जबकि मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। पहला मामला न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके में और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया है।
इसमें दंगा फैलाने, आगजनी करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने की धाराएं लगाई गई हैं। रविवार को संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में प्रदर्शनकारियों ने जमकर तांडव मचाया था। बसों तथा अन्य गाड़ियों को फूंक दिया। इतना ही नहीं, आग बुझाने आई दमकल की 4 गाड़ियों में से भी एक को पूरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया था। इसके अलावा कई अन्य गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई थी। इस हिंसा में पुलिस के 30 और दमकल के 2 कर्मचारी सहित 32 लोग, जबकि प्रदर्शनकारियों में 40 से ज्यादा लोगों सहित कुल 70 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।
Loading...
IGNITED MINDS