करने वाले करें ‘सीएए’ का विरोध, हमें हर चुनौती के लिए रहना है तैयार -भागवत

मुरादाबाद में संघ की चार दिवसीय क्षेत्रीय कार्यकारिणी

मुरादाबाद : राष्ट्रीय स्वयंसेसक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक प्रमुख डा.मोहनराव भागवत ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पूरी तरह से देशहित में है। सरकार ने जनभावनाओं का सम्मान करते हुए ये कानून बनाए हैं। जिन्हें विरोध करना है, वह विरोध करते हैं। इससे हमें डिगना नहीं है, बल्कि डटकर खड़े रहना है। मुरादाबाद में एमआईटी इंस्टीट्यूट के सभागार में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की चार दिवसीय क्षेत्रीय कार्यकारिणी की बैठक गुरुवार से शुरू हुई। बैठक में आरएसएस के सरसंघचालक मोहनराव भागवत चार दिन तक रहेंगे। बुधवार देर रात मुरादाबाद पहुंचे। मोहन भागवत ने गुरुवार को स्वयंसेवकों को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि हमें हर चुनौती का सामना करने के लिए खुद को तैयार करना है। किसी के विरोध करने से डिगना नहीं है, बल्कि डटे रहना होगा। देश को परम वैभव तक ले जाने के लिए स्वयंसेवकों को लगातार आगे बढ़ते जाना है। धारा 370 को हटाकर और सीएए कानून बनाकर सरकार ने जनभावनाओं का सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि कुछ वर्षों से देश में आत्मविश्वास और उत्साह का वातावरण बना हुआ है। हमें किसी के विरोध की परवाह ना करके आगे बढ़ते जाना है। भारत को विश्व गुरु बनाने के रास्ते में कई चुनौतियां आएंगी और आ रही हैं।

गुरुवार को सरसंघचालक ने चार सत्रों में क्षेत्रीय कार्यकारिणी की बैठक, ब्रज प्रांत, उत्तराखंड प्रांत और मेरठ प्रांतों के प्रांत प्रचारकों, विभाग प्रचारकों के साथ बैठक, जिज्ञासा समाधान, आगामी कार्यों पर विचार किया गया। सरसंघचालक के मुरादाबाद आगमन पर पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए। खुद जिलाधिकारी राकेश सिंह और एसएसपी अमित पाठक सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। बैठक के दौरान पश्चिम क्षेत्र प्रचारक आलोक कुमार, मेरठ प्रांत प्रचारक धनीराम, पदम सिंह, अजय मित्तल, सुरेंद्र सिंह आदि मौजूद थे।

Loading...
IGNITED MINDS