स्विट्जरलैंड में विमान दुर्घटनाग्रस्त, 20 की मौत

स्विट्जरलैंड के पहाड़ों में द्वितीय विश्व युद्ध के जमाने का एक पुराना विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई है. पुलिस की प्रवक्ता एंतीना सेंती ने बताया कि विमान में 20 लोग सवार थे, जिनमें से किसी को बचाया नहीं जा सका.स्विट्जरलैंड के पहाड़ों में द्वितीय विश्व युद्ध के जमाने का एक पुराना विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई है. पुलिस की प्रवक्ता एंतीना सेंती ने बताया कि विमान में 20 लोग सवार थे, जिनमें से किसी को बचाया नहीं जा सका.  उन्होंने बताया कि मृतकों में 11 पुरुष और नौ महिलाएं हैं. मृतकों में ऑस्ट्रिया का एक दंपति और उनका बेटा भी शामिल है. जंकर जेयू52 एचबी-एचओटी विमान का निर्माण 1939 में जर्मनी में हुआ था. यह देश के पूर्वी हिस्से में पिज सेगनास पर्वत पर हादसे का शिकार हुआ. यह 3000 मीटर ऊंचा पहाड़ है.  प्रवक्ता ने बताया कि दुर्घटना 2,540 मीटर की ऊंचाई पर हुई है. जर्मन भाषी अखबार ‘ब्लीक' के मुताबिक, विमान ने देश के दक्षिण में स्थित तिचीनो से उड़ान भरी थी और इसे शनिवार दोपहर को ज्यूरिख के निकट ड्यूबेन्डॉर्फ़ हवाई क्षेत्र में उतरना था. ‘20 मिनट' अखबार ने चश्मदीदों के हवाले से बताया कि विमान पूरा घूम गया था और एक पत्थर की तरह जमीन पर आ गिरा.  मलबा बहुत छोटे इलाके में फैल गया. इससे संकेत मिलता है कि विस्फोट की वजह से दुर्घटना होने की संभावना नहीं है. पुलिस ने पहले बताया था कि कि पांच हेलीकॉप्टर खोज और बचाव अभियान में लगाये गये हैं और घटनास्थल के हवाई क्षेत्र को रविवार को भी बंद रखा गया है.  एटीसी समाचार एजेंसी ने रिपोर्ट दी है कि यह विमान जेयू-एयर कंपनी का था जिसका ताल्लुक स्विस वायु सेना से है. जेयू-एयर ने अपनी वेबसाइट पर हादसे पर गहरा दुख जताया है और दुर्घटना में मारे गए यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की है. इसने कहा कि कंपनी ने उड़ान संचालन को बंद कर दिया है

उन्होंने बताया कि मृतकों में 11 पुरुष और नौ महिलाएं हैं. मृतकों में ऑस्ट्रिया का एक दंपति और उनका बेटा भी शामिल है. जंकर जेयू52 एचबी-एचओटी विमान का निर्माण 1939 में जर्मनी में हुआ था. यह देश के पूर्वी हिस्से में पिज सेगनास पर्वत पर हादसे का शिकार हुआ. यह 3000 मीटर ऊंचा पहाड़ है.

प्रवक्ता ने बताया कि दुर्घटना 2,540 मीटर की ऊंचाई पर हुई है. जर्मन भाषी अखबार ‘ब्लीक’ के मुताबिक, विमान ने देश के दक्षिण में स्थित तिचीनो से उड़ान भरी थी और इसे शनिवार दोपहर को ज्यूरिख के निकट ड्यूबेन्डॉर्फ़ हवाई क्षेत्र में उतरना था. ‘20 मिनट’ अखबार ने चश्मदीदों के हवाले से बताया कि विमान पूरा घूम गया था और एक पत्थर की तरह जमीन पर आ गिरा.

मलबा बहुत छोटे इलाके में फैल गया. इससे संकेत मिलता है कि विस्फोट की वजह से दुर्घटना होने की संभावना नहीं है. पुलिस ने पहले बताया था कि कि पांच हेलीकॉप्टर खोज और बचाव अभियान में लगाये गये हैं और घटनास्थल के हवाई क्षेत्र को रविवार को भी बंद रखा गया है.

एटीसी समाचार एजेंसी ने रिपोर्ट दी है कि यह विमान जेयू-एयर कंपनी का था जिसका ताल्लुक स्विस वायु सेना से है. जेयू-एयर ने अपनी वेबसाइट पर हादसे पर गहरा दुख जताया है और दुर्घटना में मारे गए यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की है. इसने कहा कि कंपनी ने उड़ान संचालन को बंद कर दिया है

Loading...
IGNITED MINDS