जेट एयरवेज के चेयरमैन बोले, ‘निवेशकों को पैसा गंवाने पर शर्मिंदा महसूस कर रहा हूं’

जेट एयरवेज के संस्थापक चेयरमैन नरेश गोयल ने गुरुवार को कहा कि उनके शेयरधारकों को इस समय पैसा गंवाना पड़ा है जिसकी वजह से वह अपने को ‘दोषी और शर्मिंदा’ महसूस कर रहे हैं. गौरतलब है कि वित्तीय संकट से जूझ रही इस निजी एयरलाइन कंपनी के शेयरों में भारी गिरावट आई है. यह एक संपूर्ण सेवा विमानन कंपनी है. इसका शेयर दो जुलाई के बाद से 12 प्रतिशत टूट चुका है. जेट एयरवेज के चेयरमैन बोले, 'निवेशकों को पैसा गंवाने पर शर्मिंदा महसूस कर रहा हूं'

आज कारोबार के दौरान यह 52 सप्ताह के निचले स्तर 286.95 रुपये पर आ गया. कंपनी का शेयर 5 जनवरी, 2018 को 52 सप्ताह के उच्चस्तर 883.65 रुपये पर पहुंचा था. उस समय के बाद से आज यह 67.5 प्रतिशत नीचे है. कंपनी की सालाना आमसभा को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि प्रतिस्पर्धा बढ़ रही है और ईंधन भी महंगा हो रहा है.  गोयल ने कहा, ‘‘काफी शेयरधारकों ने पैसा गंवाया है. मैं दोषी और शर्मिंदा महसूस कर रहा हूं.’’ 

एयरलाइन की वित्तीय सेहत और कर्मचारियों के वेतन में कटौती के प्रस्ताव की चिंता के बीच जेट एयरवेज के चेयरमैन ने कहा कि सार्वजनिक धारणा सुधारने तथा नकारात्मक प्रचार को रोकने के लिए एक नई समिति गठित की जाएगी. 

गोयल ने कहा कि नई कार्यकारी समिति के जरिये कंपनी के बारे में सभी धारणाओं को सुधारा जाएगा. एयरलाइन के निदेशक नसीम जैदी और अशोक चावला नई कार्यकारी समिति की बैठक की अध्यक्षता करेंगे. उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि एयरलाइन का वैश्विक स्तर पर भागीदारों के साथ मजबूत कोड शेयर नेटवर्क है. उन्होंने कहा कि हम इंजीनियरिंग और उड़ान परिचालन में एयर इंडिया के साथ भी सहयोग पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस बारे में एयर इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप सिंह खारोला के साथ कई बैठकें हो चुकी हैं. 

जेट एयरवेज ने टाली वित्तीय परिणामों की घोषणा
वित्तीय चुनौतियों से जूझ रही विमानन कंपनी ने जून तिमाही परिणाम की घोषणा आज अघोषित तिथि तक टाल दी. कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को बताया कि निदेशक मंडल ने जून तिमाही के वित्तीय प्रदर्शन की समीक्षा नहीं करने का निर्णय लिया. इससे पहले कंपनी के प्रवर्तक नरेश गोयल ने शेयरधारकों को आज कहा कि वह शेयरधारकों का पैसा डूबने के कारण दोषी और शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं

Loading...
IGNITED MINDS