अलग-अलग मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं दुर्गा सप्तशती के ये 13 पाठ

आज नवरात्रि का आंठवा दिन है। इस दिन माँ महागौरी का पूजन होता है। वैसे ज्योतिषों के मुताबिक आज अष्टमी है और आज ही आधी नवमी का भी पर्व है। ऐसे में आज ही के दिन आप दुर्गा सप्तशती का पाठ कर सकते हैं और माँ दुर्गा को खुश कर सकते हैं। तो आइए हम आपको बताते हैं दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से क्या होते हैं फायदे।

पहला अध्याय – कहते हैं पहला अध्याय चिंताओं से मुक्ति देता है। इसका हर दिन पाठ करना चाहिए।

दूसरा अध्याय – कोर्ट केस और विवादों में विजय पाना हो तो दूसरा दूसरा अध्याय पढ़ना चाहिए।

तीसरा अध्याय –   कहते हैं शत्रुओं और विरोधियों से परेशान होने पर तीसरा अध्याय पढ़ना चाहिए।

चौथा अध्याय – माँ की कृपा दृष्टि पाने के लिए चौथा अध्याय पढ़ना चाहिए।

पांचवा अध्याय – जीवन में समस्याएं हो तो पांचवे अध्याय का पाठ करें।

छठा अध्याय – भय, शंका और ऊपरी बाधा का नाश करने के लिए छठा अध्याय पढ़े।

सातवां अध्याय – विशेष मनोकामना की पूर्ति के लिए सातवां अध्याय का पाठ करें।

आठवां अध्याय – मनचाहा जीवनसाथी पानी के लिए आठवां अध्याय पढ़े।

नौवां अध्याय – खोए हुए व्यक्ति को वापस लाने के लिए और संतान पाने के लिए नौवें अध्याय का पाठ करें।

दसवां अध्याय – दसवां अध्याय का पाठ करने से रोग, शोक का नाश हो जाता। इसके आलावा अधूरी मनोकामना पूरी हो जाती।

ग्यारहवां अध्याय – इस अध्याय के पाठ से व्यापार में लाभ और सुख-शांति मिलती है।

बारहवां अध्याय – मान और सम्मान पाने के लिए इस अध्याय का पाठ करें।

तेरहवां अध्याय – देवी माँ की भक्ति और कृपा दृष्टि पाने के लिए यह अध्याय पढ़े।

Loading...
IGNITED MINDS