तेजाब डालकर दो महिलाओं की हत्या करने वाले को हुई उम्रकैद की सजा

प्रतापगढ़। जिले की एक अदालत ने तेजाब डालकर दो महिलाओं की हत्या के करीब चार साल पुराने एक मामले में आरोपी एक व्यक्ति को दोषी करार देते हुए उम्रकैद तथा जुर्माने की सजा सुनायी है।  अभियोजन पक्ष के अनुसार सात मई 2014 को आसपुर देवसरा क्षेत्र के निवासी दिनेश वर्मा ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि जगदम्बा नामक व्यक्ति ने रात में सो रही उसकी भाभी फूलन तथा सुमन पर तेजाब डाल दिया था। गम्भीर रूप से जख्मी हुई दोनों महिलाओं की बाद में मौत हो गयी थी। पुलिस ने जगदंबा के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया था। अपर सत्र न्यायाधीश जफीर अहमद के न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपी जगदम्बा को हत्या का दोषी मानते हुए कल आजीवन कारावास तथा 25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी।

(बरेली) एससी-एसटी एक्ट में गिरफ्तारी बिना जांच अनुचित-राजभर

बरेली। प्रदेष की योगी सरकार में काबीना मंत्री एवं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश राजभर ने कहा है कि एससी-एसटी में दर्ज मुकदमों में बिना जांच गिरफ्तारी करने से गैर अनुसूचित जाति के लोगों का शोषण और उत्पीड़न होगा इस मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसला सही था केंद्र सरकार ने दबाव में आकर नया संशोधित एक्ट लागू कराने के प्रयास किए हैं क्योंकि राज्यसभा में अनुसूचित वर्ग सांसद ज्यादा है, उन्होंने कहा है कि सरकार किसी भी दबाव में ऐसे फैसले न ले, जिससे वर्ग संघर्ष जैसी स्थिति आए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सही था, वोट बैंक की राजनीति के चलते केंद्र सरकार ने गलत बिल पास करा दिया, जबकि सवर्ण-पिछड़ा वर्ग किसी भी सरकार को बनाने व गिराने की ताकत रखता है। 

यहां पत्रकारों से बातचीत में सुभासपा नेता राजभर ने कहा कि कुछ लोग मामूली विवाद में भी परिवार के 10 लोगों के नाम मुकदमा लिखवा देते हैं। ऐसे में हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ हैं। उन्होंने कहा कि उनकी दोस्ती भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से है। इस वजह से 2022 तक उनकी पार्टी भाजपा के साथ हैं लेकिन अगर भाजपा सरकार अगर कुछ  गलत करेगी तो वह उसका विरोध भी करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ नेता और  ब्यूरोक्रेट्स मिलकर सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार को ठीक से काम नहीं करने दे रहे। पश्चिमी यूपी में होईकोर्ट बेंच की स्थापना होनी चाहिए। प्रदेश सरकार में ब्यूरोक्रेट्स हावी है, कुछ नेता भी बाधाएं पैदा कर रहे हैं। उन्होंने 2019 के चुनाव के बारे में कहा गठबंधन की बात करने वाले अभी तो मैदान में ही नहीं है।

(पीलीभीत) पुजारी की गला रेतकर हत्या

पीलीभीत। जिले के अमरिया क्षेत्र में एक मंदिर के पुजारी की गला रेतकर हत्या कर दी गयी। जानकारी के अनुसार अमरिया थना क्षेत्रा के भूड़ कोनी गांव स्थित शिव मंदिर के पुजारी रामेश्वर दयाल (65) का शव शुक्रवार को कुछ ग्रामीणों ने मंदिर के पीछे देखकर पुलिस को सूचना दी। उनकी हत्या गला काटकर की गयी है। हत्याकाण्ड की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी अखिलेश मिश्र तथा पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह मौके पर पहंुचे और घटनास्थल का मुआयना किया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस हत्या के पीछे के कारणों का तत्काल पता नहीं लग सका है। मामले की जांच की जा रही है।

(लखनऊ) प्रदेश में 41556 सहायक अध्यापकों का चयन पूरा-जायसवाल

लखनऊ। प्रदेश सरकार ने कहा है कि प्रदेश में 41 हजार 556 सहायक अध्यापकों का चयन हो चुका है और इन शिक्षकों की तैनाती के बाद शिक्षक-छात्र अनुपात को और बेहतर करने तथा समायोजन में होने वाली समस्याओं से निजात पाने में मदद मिलेगी। वहीं इसके साथ ही 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती परीक्षा में 41556 अभ्यर्थियों का चयन हो चुका है। इन शिक्षकों के आने के बाद समस्या का हल काफी हद तक हो जाएगा। इसके आगे भी भर्ती प्रक्रिया जारी रहेगी।

विधान परिषद में शुक्रवार को शिक्षक दल के सदस्य सुरेश कुमार त्रिपाठी के सवाल के जवाब में बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने कहा कि जहां तक जिलों में शिक्षकों के समायोजन का सवाल है तो जिलों में जब देखा गया कि शिक्षक-छात्र अनुपात ठीक नहीं है तो उपलब्ध शिक्षकों में से समायोजन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है, जो पांच सितम्बर तक पूरी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती परीक्षा में 41556 अभ्यर्थियों का चयन हो चुका है। इन शिक्षकों के आने के बाद समस्या का हल काफी हद तक हो जाएगा। इसके आगे भी भर्ती प्रक्रिया जारी रहेगी।

इस पर त्रिपाठी ने पूछा कि अनेक जिलों में बेसिक शिक्षाधिकारी केवल परस्पर सहमति से (म्यूचुअल) तबादले करने को ही कह रहे हैं। वे समायोजन के दायरे में आने वाले स्थानान्तरण नहीं कर रहे हैं। किसी-किसी विद्यालय में जहां कोई छात्र नहीं हैं, वहां छह-छह अध्यापक हैं। जिस विद्यालय में अध्यापक नहीं हैं वहां समायोजन तो किया जाना चाहिये। बेसिक शिक्षाधिकारी कहते हैं कि समायोजन करना उनके अधिकार क्षेत्र के बाहर है। क्या सरकार ने बेसिक शिक्षाधिकारियों को समायोजन के सम्बन्ध में जानकारी नहीं दी है। इस पर मंत्री ने कहा कि तबादलों के सिलसिले में जिला स्तर पर जो समिति बनी थी, उनमें सम्बन्धित जिलाधिकारी को अध्यक्ष बनाया गया था। बेसिक शिक्षाधिकारी, डायट के प्राचार्य और सम्बन्धित खण्ड शिक्षाधिकारी उस समिति के सदस्य होते हैं, लिहाजा जानकारी ना होने का सवाल नहीं है।

उन्होंने कहा कि छात्र-शिक्षक अनुपात को बनाये रखते हुए अगर आपसी सहमति के आधार पर शिक्षक परस्पर तबादला कराना चाहते हंै, तो इसकी अनुमति दी गयी है। जहां तक समायोजन की बात है तो यह केवल शिक्षक-छात्र अनुपात ठीक करने के लिये ही किया जाता है। जहां पर शिक्षक ज्यादा हैं वहां से निकालकर उन्हें ऐसे स्कूलों में भेजा जाता है, जहां शिक्षकों की कमी है। अगर किसी विद्यालय में समायोजन को लेकर इस तरह की कोई शिकायत की जाती है तो जांच कराकर सम्बन्धित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं इसी विषय पर सपा सदस्य शशांक यादव ने सवाल किया कि सरकार ने कहा है कि अगर किसी जिले में शिक्षकों की संख्या आवश्यकता से 15 प्रतिशत से ज्यादा कम है तो वहां तैनात शिक्षकों का किसी और जगह स्थानान्तरण नहीं होगा। लखीमपुर खीरी जिले में पहले से ही 44 प्रतिशत शिक्षकों की कमी होने के बावजूद शिक्षकों ने गलत शपथपत्र देकर दूसरी जगह अपने तबादले करा लिये। आज वहां 54 प्रतिशत की कमी हो गयी है। यह इतना बड़ा भ्रष्टाचार का नमूना बन गया है। क्या मंत्री इसकी जांच कराएंगी। इस पर बेसिक षिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि इसकी निश्चित रूप से जांच करायी जाएगी। अगर ऐसा पाया गया तो कार्रवाई भी होगी, और नियमतः जो भी शिक्षकों के तबादले किये गये, या होने चाहिये थे मगर नहीं हुए, उसका भी पूरा ध्यान रखा जाएगा।

(षाहजहांपुर) बलात्कार पीड़िता के आत्मदाह मामले में थानाध्यक्ष सहित तीन निलंबित

शाहजहांपुर। जिले में कथित रूप से बलात्कार पीडिता महिला द्वारा आत्मदाह करने के मामले में थानाध्यक्ष और दो दरोगा निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक परौर थानाक्षेत्र के एक गांव में रहने वाली 28 वर्षीय महिला का इलाज करने के बहाने अमृतापुर निवासी झोलाछाप डॉक्टर विनय कुमार ने 18 अगस्त को बलात्कार किया था। इसके बाद महिला ने दिल्ली में काम कर रहे अपने पति को बुलाया और थाने गई जहां पुलिस ने मुकदमा दर्ज ना करके गांव के लोगों के साथ सुलह समझौता करा दिया था।

आरोप है कि पुलिस द्वारा कार्रवाई ना करने से व्यथित होकर महिला ने 29 अगस्त को अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। इससे उसका तीन वर्षीय बेटा मयंक भी झुलस गया। बीती शाम महिला की इलाज के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस के आलाधिकारियों के संज्ञान में घटना आने पर पूरे मामले की जांच करायी गयी। मामले में उनकी रिपोर्ट पर प्रथम दृष्टया परौर थानाध्यक्ष सुभाष कुमार तथा दरोगा लाल सिंह राणा एवं लोकेश कुमार को निलंबित कर दिया गया है। दरोगा लाल सिंह राणा, लोकेश पर रिपोर्ट दर्ज न करने एवं समझौता कराने के कारण रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है तथा आरोपी झोलाछाप डॉक्टर विनय कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता और आरोपी के मध्य समझौता कराने में जो भी लोग शामिल थे उनकी पहचान कर उन पर कड़ी कार्यवाही की जा रही है।

(प्रतापगढ़) बस से कुचलकर दंपति की मौत

प्रतापगढ़। जिले के हथिगंवा थानाक्षेत्र में खिदिरपुर चैराहे पर गुरुवार शाम रोडवेज बस से कुचलकर बाइक सवार दंपति की मौत हो गयी। जानकारी के अनुसार राज करन सिंह (48) पत्नी आशा सिंह (44) के साथ बाइक से जा रहे थे। इसी दौरान खिदिरपुर चैराहे के निकट रोडवेज बस ने उन्हें कुचल दिया। गंभीर रूप से घायल दंपत्ति को उपचार के लिए स्थानीय चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने आशा को मृत घोषित कर दिया और राजकरन को इलाज के लिए इलाहाबाद मेडिकल कालेज भेजा। जहां राजकरन सिंह की मौत हो गयी।

(लखनऊ) भाजपा विधायक ने जान का खतरा बता मांगी सुरक्षा 

लखनऊ। प्रदेष में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक ने राज्य विधानसभा में खुद की जान को खतरा होने का मुददा उठाते हुए कहा कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा नहीं मुहैया करायी जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि सत्तापक्ष का विधायक होने के बावजूद जिला प्रषासन ने गनर उपलब्ध कराने के लिए एक लाख रुपए की मांग की। उन्होंने सरकार और विधानसभा अध्यक्ष से गुहार लगायी कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध करायी जाये। 

सत्ताधारी दल के विधायक अशोक सिंह चंदेल ने शून्यकाल में सदन में कहा कि उन्होंने सुरक्षा मसले पर अधिकारियों से बात की थी लेकिन जिस अतिरिक्त सुरक्षा की पेशकश उन्हें की गयी, वह बहुत खर्चीली थी। वाराणसी में शार्प शूटर गिरफ्तार हुए। कुछ गिरफ्तारियां हमीरपुर में हुईं ओर इन सबसे खतरे का अंदाजा लगाया जा सकता है। हमीरपुर सदर से विधायक चंदेल ने कहा कि उन्हें उच्च न्यायालय के आदेश पर सुरक्षा मिली थी लेकिन पूर्व की सपा सरकार ने सुरक्षा कम कर दी थी। मामले को गंभीर बताते हुए संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने सदस्य को आश्वासन दिया कि इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किये जाएंगे।

नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चैधरी ने कहा कि ऐसे ही खतरे विपक्ष के कुछ सदस्यों पर भी हैं। उन्हांेने विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित से कहा कि विधानसभा के सभी सदस्यों की सुरक्षा का दायित्व आपका है। जिन्हंे धमकी मिल रही है उन्हें सुरक्षा उपलब्ध करायी जाये। बाद में अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने सरकार को निर्देश दिया कि विधायकों पर खतरे को देखते हुए उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करायी जाए। 

(लखनऊ) सरकारी क्षेत्रों में रोजगार घटा, आबादी बढ़ने से बेरोजगार बढ़े-स्वामी

-कांग्रेस ने किया बहिर्गमन

लखनऊ। कांग्रेस ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि वह युवाओं को रोजगार देने को लेकर गंभीर नहीं है। उनका आरोप था कि सरकार ने सिर्फ तीन फीसद ही रोजगार दिया और 23 जिलों के बेरोजगारों को तो रोजगार ही नहीं मिला। वहीं सरकार की ओर से कहा गया कि आबादी बढ़ने के कारण सेवायोजन कार्यालय में पंजीयन बढ़ा है और बेरोजगार भी। वहीं सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर घटे हैं। सरकार के उत्तर से असंतुष्ट होकर कांग्रेस सदस्यों ने इसके विरोध में सदन से बहिर्गमन किया।

प्रष्नकाल के दौरान कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू ने सरकार से जानना चाहा कि पिछले वित्त वर्ष में सरकार ने युवाओं को कितनी नौकरियां दीं। इस पर श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बताया कि 2017-18 में सेवायोजन विभाग द्वारा एक अप्रैल 2017 से 31 मार्च 2018 तक 63,152 युवाओं को रोजगार मेलों के जरिए निजी क्षेत्र में नौकरियां उपलब्ध करायी गयीं। उन्होंने कहा कि कौशल विकास मिशन के तहत एक लाख 89 हजार 936 लोगों को प्रशिक्षित किया गया। इनमें से 67, 003 रोजगार कर रहे हैं। मौर्य ने बताया कि 60 हजार करोड रूपये की परियोजनाओं की ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी हो चुकी है और इन परियोजनाओं से रोजगार के बडे अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षकों और पुलिसकर्मियों की भी व्यापक पैमाने पर भर्ती करने जा रही है। मंत्री के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस सदस्य सदन से वाकआउट कर गये। श्रम मंत्री ने यह भी कहा कि बढ़ती आबादी के कारण पंजीयन बढ़ा है और बेरोजगार भी। उन्होंने स्वीकार किया कि सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर घटे हैं जबकि निजी क्षेत्रों में बढ़े हैं।

(लखनऊ) दिसम्बर तक सूबे के हर घर का सरकार कर देगी ऊर्जीकृत-षर्मा

लखनऊ। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा है कि राज्य सरकार आगामी 31 दिसम्बर तक सूबे के हर घर को ऊर्जीकृत कर देगी। उन्होंने यह भी कहा कि 2022 जक शहरी क्षेत्रों में स्मार्ट मीटर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रीपेड मीटर लगाये जायेंगे। साथ ही उन्होंने के कहा कि यूपी पीसीएल को मार्च 2020 तक घाटे से उबार दिया जायेगा। उन्होंने यह भी दावा किया कि वर्तमान सरकार पूर्ववर्ती सरकार की अपेक्षा सस्ते में बिजली क्रय कर रही है और सरकार ने लाइन लाॅस को भी कम किया है।

विधानसभा में प्रष्नकाल के दौरान शुक्रवार को लघु सत्र के अन्तिम दिन विपक्ष और सत्ता पक्ष दोनों के सदस्यों ने ऊर्जा विभाग से जुड़े कई सवाल राज्य सरकार से किए। सरकार की ओर से उत्तर देते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि प्रदेष के गांवा, मजरों एवं वार्डों के विद्युतीकरण का कार्य दिसम्बर 2018 में पूर्ण करा लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि आर्थिक सामाजिक जनगणना के आधार पर प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत ग्रामीण एवं नगरों के गरीब उपभोक्ताओं को निःषुल्क विद्युत कनेक्षन दिए जा रहे हैं। वहीं ग्रामीण उपभोक्ताओं को पांच सौ रुपए, जो किष्तों में दिया जाना है, में विद्युत कनेक्षन दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पहले चरण 40 लाख स्मार्ट मीटर पहले चरण में लगाये जायेंगे। जबकि एक करोड़ प्रीपेड मीटर क्रय कर लिए गए हैं। जिन्हें नवम्बर माह से लगाये जाने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो जायेगी। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था पूरे प्रदेष में 2022 के अंत तक लागू हो जायेगी। एक अन्य प्रष्न के उत्तर में ऊर्जा मंत्री ने बताया कि वर्तमान में पाॅवर कारपोरेषन सबसे सस्ती बिजली जल विद्युत निगम से तीन रुपए 63 पैसे प्रति यूनिट की दर से खरीद रहा है जबकि सबसे महंगी बिजली सोलर विद्युत के जरिए आठ रुपए 58 पैसे की दर से खरीदी जा रही है। उन्होंने बताया कि 2017-18 में औसतन तीन रुपए 86 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदी गयी है। 

वहीं एक अन्य प्रष्न के उत्तर में ऊर्जा मंत्री ने बताया कि वर्ष 2000 में राज्य विद्युत परिषद के विघटन के बाद विद्युत कम्पनियों के अस्तित्व में आने पर पावर कारपोरेषन की वितरण कम्पनियों का सकल घाटा वित्तीय वर्ष 2016-17 के अन्त में 73986.72 करोड़ हो गया है। उन्होंने बताया कि इस सरकार में पांच प्रतिषत कम हुआ है जिससे 3400 करोड़ का लाभ हुआ है। वहीं बकाया और बिजली चोरी रोकने के कारण 6000 करोड़ रुपए का राजस्व बढ़ा है। ऊर्जा मंत्री से प्रष्न करने वालों सपा के नरेन्द्र सिंह वर्मा, मनोज कुमार पाण्डे, बसपा के उमाषंकर सिंह, भाजपा के हर्षवर्धन बाजपेयी एवं बाला प्रसाद अवस्थी आदि थे। 

(बागपत) यूपी की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया शिवपाल ने

बागपत। समाजवादी पार्टी में कोई भी ‘महत्व’ नहीं मिलने से दुखी एवं ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’ का गठन करने वाले पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने अब ऐलान किया हैथ् क उनका मोर्चा आगामी लोकसभा चुनाव मंे उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगा। हालांकि मोर्चा के घोषणा के समय जब उनसे चुनाव में प्रत्याषी जाने के बावत सवाल किया गया था तब वह इसे टाल गए थे।

यहां दरकवदा गांव में संवाददाताओं से बातचीत में षिवपाल ने कहा कि उनका नवगठित मोर्चा वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने दावा किया कि मोर्चे के सहयोग के बिना देश में अगली सरकार बनाना संभव नहीं होगा। उन्होंने भाजपा में शामिल होने की अपनी योजना सम्बन्धी अटकलों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि यह सब विरोधियों की साजिश है।एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उपेक्षित और अपमानित होकर उन्होंने मोर्चा बनाया है। उनका प्रयास होगा कि ऐसे लोगों को जोड़ें, जिनका समाजवादी पार्टी में सम्मान नहीं हो रहा है। इसीलिए सेक्युलर मोर्चा बनाकर अपने लोगों को काम दिया है। पूर्व मंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव के साथ मिलकर बड़े जतन से समाजवादी पार्टी बनाई थी लेकिन लगातार हो रही उपेक्षा के चलते वरिष्ठ नेता अपमानित महसूस कर रहे हैं। जिन्हें हाशिये पर रख दिया गया था उन्हंे जोड़कर सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है। उल्लेखनीय है कि शिवपाल सिंह यादव ने पिछले बीते बुधवार को ही समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन की औपचारिक घोषणा की थी।

(लखनऊ) उप्र भाजपा ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजी राहत सामग्री

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को केरल के बाढ पीड़ितों की मदद के लिए भारी मात्रा में राहत सामग्री भेजी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय एवं प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने केरल में बाढ पीड़ितों की रोज मर्रा की जरूरतों के सामान सहित अन्य खाद्य वस्तुओं से लदे 13 ट्रकों को प्रदेश मुख्यालय पर झण्डी दिखाकर रवाना किया। 

इस मौके पर डा. पाण्डेय ने कहा कि केरल में आई भयंकर बाढ़ से भारी संख्या में जानमाल की क्षति हुई है। भारतीय जनता पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता तन-मन-धन से आपदा ग्रस्त लोंगो की हर सम्भव मदद कर रहा है। पार्टी द्वारा केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एकत्र किये जाने वाली राहत सामग्री में समाज के विभिन्न संगठनों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। उत्तर प्रदेश का कार्यकर्ता इस संकट की घडी में केरल के आपदा ग्रस्त लोंगो के साथ है। प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने कहा कि केरल के नागरिक इस समय जल प्रलय का सामना कर रहे है। केरल के बाढ़ पीड़ितो की मदद हेतु पूरे प्रदेश से राहत सामग्री भेजने हेतु भाजपा कार्यकर्ता योजनापूर्वक जुटे हैं। उन्हांेने बताया कि गाजियाबाद में भी भारी मात्रा राहत सामग्री पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा एकत्र की गई है। एकत्र राहत सामग्री शीघ्र ही केरल भेजने के लिए पार्टी कार्यकर्ता प्रबंधन में लगे हुए है। प्रदेश महामंत्री (संगठन) ने कहा कि पूरे प्रदेश में पार्टी कार्यकर्ता समाज के विभिन वर्गो के सहयोग से केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री एकत्र कर भेजने के कार्य में जुटे है।

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. राकेश त्रिवेदी ने बताया कि इन राहत सामग्रियो में चादर, दरी, चावल, दाल, नमक, चीनी, रिफाइन्ड, रस, बिस्कुट, दालमोट, नमकीन, चप्पल, बच्चों की नया पैंट शर्ट, लेडीज सूट विभिन्न कपडें सहित रोजमर्रा की जरूरत के अन्य सामान के अतिरिक्त 3 लाख रूपये का चेक केरल सरकार को बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए भेजा गया, जबकि 2 लाख का चेक कल भेजा जायेगा। पार्टी द्वारा राहत सामग्री एकत्रीकरण के कार्य हेतु आपदीय राहत एवं सेवा विभाग के प्रदेश संयोजक मणिकान्त जैन के साथ अवध, पश्चिम व ब्रज क्षेत्र में अशोक पाण्डेय, काशी, गोरखपुर व कानपुर आनंद पाण्डेय समन्वय का कार्य कर रहे है। 

(देवरिया) संदिग्ध परिस्थितियों में महिला की मौत

देवरिया। जिले के भटनी थाना क्षेत्र में एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्र्टमाटम के लिए भेज दिया। भटनी थाना क्षेत्र के सल्लहपुर के रहने वाली किसमी देवी (35) पत्नी महेश यादव की शुक्रवार की सुबह संदिग्घ परिस्थितियों में घर पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना भाई भटनी थाना क्षेत्र के सकरापुर के रहने वाले मनोज के द्वारा थाने को सूचना दी। सूचना पर थाने की पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्र्टमाटम के लिए भेज दिया। पुलिस के जांच मेें महिला के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। पुलिस परिवार के लोगों से पूछताछ कर रही हैं। 

(देवरिया) रेलवे लाइन पर मिले शव की हुई पहचान

देवरिया। जिले के भटनी थाना क्षेत्र में रेलवे लाइन पर अज्ञात युवक के शव की पहचान शुक्रवार की दोपहर में पोस्र्टमाटम हाउस पर पहुंच कर परिवार के लोगों ने की। जानकारी के अनुसार भटनी थाना क्षेत्र में गेट संख्या 115 पर बीती रात को अज्ञात पुरूष (25) का शव रेलवे टैªक पर मिला। सूचना पर जीआरपी ने शव को कब्जे ंमें लेकर पोस्र्टमाटम के लिए भेज दिया था। परिवार के लोगों के द्वारा शुक्रवार की दोपहर में देवरिया पोस्र्टमाटम हाउस पर पहुंच कर शव की पहचान की। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौप दिया।

(देवरिया) जमीनी विवाद में मारपीट, तीन घायल

देवरिया। जिले के खुखुन्दू थाना क्षेत्र के रहने वाले कलावती देवी (55) अपने जमीन पर शौचालय बनवा रही थी। तभी गांव के ही कुछ लोगों ने मारपीट कर घायल कर दिया। परिवार के मनोज (25) और सुनीता (20) को मारपीट कर घायल कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया।

(देवरिया) अज्ञात वृद्ध का मिला शव

देवरिया। भटनी थाना क्षेत्र में करीब 55 वर्षीय अज्ञात पुरूष का शव सूरजीपुर गांव में मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पहचान करने की कोशिश की लेकिन पहचान नही हो सका। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

(लखनऊ) सत्ता में आने पर राफेल डील की जांच के लिये बनायेंगे राष्ट्रीय जांच कमीशन -आनन्द शर्मा 

लखनऊ। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं राज्यसभा सदस्य आनंद शर्मा ने कहा है कि अगर राफेल डील मामले पर जांच के लिये संयुक्त संसदीय समीति रूजेपीसीरू का गठन नही किया गया तो उनकी पार्टी की सरकार जब सत्ता में आएगी तो पार्टी जांच के लिए राष्ट्रीय जांच कमीशन बनाएंगी। उन्होंने कहा कि राफेल सौदा इस सदी का सबसे बड़ा घोटाला है। अचानक दाम का बढ़ जाना और पब्लिक सेक्टर कंपनी को हटा देना, कई बड़े सवाल खड़ा करता है और प्रधानमंत्री को इन सवालो का जवाब देना चाहियें।

कांग्रेस नेता आनन्द शर्मा ने शुक्रवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आखिर भाजपा सरकार इस मुददे पर जेपीसी गठित करने से क्यों डर रही है। अगर ऐसा नही हुआ तो सत्ता में आने पर हमारी पार्टी राष्ट्रीय जांच कमीशन बनायेंगे। पूर्व वाणिज्य मंत्री शर्मा ने कहा कि राफेल डील और नोटबंदी नरेंद्र मोदी सरकार के दो सबसे बड.े घोटाले है और आने वाले चुनाव में यह मुख्य मुददे होंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने आखिर क्यों सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिन्दुस्तान एयरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के बजाये एक कम अनुभव रखने वाली कंपनी के साथ यह डील की गयी।

Loading...
IGNITED MINDS