युगांडा में विदेश मंत्री ने राष्ट्रपति मुसेवेनी से की मुलाकात

नई दिल्ली ( शाश्वत तिवारी) युगांडा की तीन दिवसीय यात्रा पर गए विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने शुक्रवार को राष्ट्रपति योवेरी मुसेवनी से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए युगांडा के विदेश मामलों के राज्य मंत्री हेनरी ओकेली ओरीम के साछ चर्चा की। इस बारे में विदेश राज्य मंत्री मुरलीधरन ने ट्वीट कर जानकारी दी।

अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि युगांडा के माननीय राष्ट्रपति से भेंट करके प्रसन्नता हुई। उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से भेजी गई शुभकामनाओं से अवगत कराया। राष्ट्रपति ने युगांडा में भारतीय समुदाय के महत्वपूर्ण योगदान के लिए उनकी प्रशंसा की।

विदेश राज्यमंत्री मुरलीधरन ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि युगांडा के विदेश राज्य मंत्री, हेनरी ओकेलो ओरीम के साथ उपयोगी चर्चा हुई। खुशी है कि वित्त राज्य मंत्री हेनरी मुसाफी भी इस चर्चा में शामिल हुए। द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं की समीक्षा की गई। विविध क्षेत्रों में एक साथ काम करने और संबंधों को और आगे ले जाने पर सहमति बनी।

बता दें कि विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन 11 नवंबर से युगांडा और रवांडा के पांच दिवसीय दौरे हैं। अपनी यात्रा के दौरान वह तीन दिन युगांडा में रहेंगे तो दो दिन रवांडा की यात्रा करेंगे। दोनों देशों के साथ भारत के मैत्री एवं सौहार्दपूर्ण संबंध है। मुरलीधरन युगांडा के व्यापारियों और भारतीय समुदाय के साथ भी बातचीत करेंगे।

विदेश राज्य मंत्री मुरलीधरन 14 और 15 नवंबर को रवांडा की यात्रा के दौरान विदेश मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्री डॉ. विंसेंट बिरुटा के साथ भारत-रवांडा संयुक्त आयोग की पहली बैठक की सह-अध्यक्षता करेंगे।

वह रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कागामे से भी मुलाकात करेंगे। यात्रा के दौरान विदेश मंत्री भारत सरकार की अनुदान से बना भारत-रवांडा उद्यमिता विकास केंद्र का उद्घाटन करेंगे और किगाली नरसंहार स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। वह रवांडा में भारतीय समुदाय के साथ भी बातचीत करेंगे।

Loading...