‘लाल टोपी’ उप्र में बदलाव का रंग, भाजपा ने जनता से किए वादे नहीं किए पूरेः अखिलेश यादव

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव, अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत पार्टी के सभी सांसद बुधवार को ‘लाल टोपी’ लगाकर संसद भवन पहुंचे। अखिलेश ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने जनता से किए वादे पूरे नहीं किए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गत मंगलवार को गोरखपुर में आयोजित रैली में सपा पर हमला बोलते हुए कहा था कि ये लाल टोपी उत्तर प्रदेश के लिए रेड अलर्ट यानि खतरे का निशान है। इनकी नजर केवल लाल बत्ती पर है। प्रधानमंत्री के इस हमले के बाद संसद के शीतकालीन सत्र में भाग लेने के लिए सपा सांसद लाल टोपी लगाकर सदन में पहुंचे। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, जया बच्चन समेत सभी पार्टी सांसदों ने पार्टी की लाल टोपी लगाई हुई थी।

संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ‘लाल टोपी’ बदलाव का रंग है। उत्तर प्रदेश बदलाव देखना चाहता है। भाजपा द्वारा किए गए वादे महज ‘जुमला’ हैं, वे लगातार झूठ बोलते रहे हैं। सपा प्रमुख ने भाजपा पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि क्या उन्होंने जनता के किए अपने वादे पूरे किए। किसानों की आय दोगुनी हुई और क्या युवाओं को नौकरी दी गई।

अखिलेश ने केंद्र सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि सार्वजनिक संपत्ति बेचने वाले लाल रंग से परेशान हैं। सरकार संसद में वास्तविक मुद्दों पर चर्चा नहीं करना चाहती है।

सपा सांसदों ने संसद भवन परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना दे रहे विपक्ष के 12 निलंबित सांसदों के पास जाकर अपना समर्थन जताया। अखिलेश यादव ने सांसदों के राज्यसभा से निलंबन की कार्यवाही पर विरोध जताते हुए धरना रत सांसदों का समर्थन किया।

Loading...