जब दृष्टि विराट होती है तो बड़े-बड़े कार्य भी सम्पन्न होते हैंः मुख्यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता एवं केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के कर-कमलों से आज जनपद मीरजापुर में 3,037 करोड़ रुपये लागत की 04 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 185 करोड़ रुपये की 94 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इन लोकार्पित 04 राष्ट्रीय राजमार्गाें की कुल लम्बाई 146 किलोमीटर है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता को समर्पित यह राष्ट्रीय राजमार्ग लोगों के जीवन को सहज एवं सरल बनाएंगे और विकास कार्याें में मददगार साबित होंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के आधार पर कार्य कर रही है। विकास का कोई विकल्प नहीं होता। सड़क, बिजली, शौचालय युक्त आवास, रसोई गैस के कनेक्शन आदि विकास के आधार हैं। जब समाज के सभी वर्गाें का विकास होता है, तो सर्वत्र खुशहाली आती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश किसानों, श्रमिकों की मेहनत एवं युवाओं की ऊर्जा से आने वाले दिनों में दुनिया की महाशक्ति बनेगा। जनपद मीरजापुर में मां विंध्यवासिनी के नाम पर मेडिकल कॉलेज का शुभारम्भ हो गया है। इस सत्र से इस मेडिकल कॉलेज में प्रवेश शुरू होने जा रहा है। प्रदेश सरकार ने राज्य में सुशासन एवं कानून का राज स्थापित किया है। प्रदेश के युवाओं को उनकी योग्यतानुसार बिना भेदभाव के निष्पक्ष एवं पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया द्वारा सरकारी नौकरी प्रदान की गयी हैं। प्रदेश सरकार ने सभी श्रमिकों के कल्याण एवं उनके सम्मान के लिए भरण-पोषण भत्ता देने की घोषणा की है। प्रदेश सरकार ने वृद्धों एवं निराश्रित महिलाओं तथा दिव्यांगजन की पेंशन को बढ़ाने का कार्य किया है। प्रदेश के सर्वांगीण विकास एवं लोक कल्याण के कार्याें के लिए राज्य सरकार पूर्णतः प्रतिबद्ध है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी से लेकर वर्ष 2014 तक सड़क परिवहन में जितना कार्य नहीं हुआ होगा उससे ज्यादा कार्य वर्ष 2014 से 2021 के मध्य हो चुका है। केन्द्र सरकार प्रदेश में 03 लाख करोड़ रुपये के कार्य सड़क परिवहन के क्षेत्र में सम्पन्न कर चुकी है और अन्य कार्य प्रगति पर हैं। सड़कों के संजाल से प्रदेश में 4-लेन इण्टर स्टेट कनेक्टिविटी विकसित हुई है। वाराणसी से हल्दिया तक वॉटर हाई-वे क्रियाशील है। आने वाले दिनों में प्रदेशवासियों को सी-प्लेन की सुविधा भी उपलब्ध होने वाली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब दृष्टि विराट होती है तो बड़े-बड़े कार्य भी सम्पन्न होते हैं। प्रदेश सरकार बिना भेदभाव गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिला सहित समाज के सभी वर्गाें के विकास के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार ने सभी पात्र व्यक्तियों को निःशुल्क आवास, शौचालय, हर घर को शुद्ध पेयजल, बिजली के कनेक्शन, रसोई गैस के कनेक्शन, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, आयुष्मान योजना के तहत 05 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर सहित अन्य योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव के उपलब्ध कराने का कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 के बाद प्रधानमंत्री के योग्य नेतृत्व एवं दूरदृष्टि से समाज के सभी लोगों का उन्नयन हो रहा है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के लिए पूरा देश ही परिवार है। प्रधानमंत्री ने अभी कुछ दिन पूर्व ही काशी विश्वनाथ धाम को राष्ट्र को समर्पित किया है। जनपद मीरजापुर में मां विंध्यवासिनी धाम के निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। यह जन आस्था का सम्मान है। पर्यटन विकास के इन कार्याें से श्रद्धालुओं को मिलने वाली सुविधाओं में वृद्धि होगी। लोगों के जीवन और देश एवं प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सकारात्मक परिवर्तन आएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा एवं प्रदेश सरकार के प्रयासों से प्रयागराज कुम्भ-2019 स्वच्छता, सुरक्षा एवं सुव्यवस्था का प्रतीक बना। नमामि गंगे परियोजना से स्वच्छ, निर्मल एवं अविरल गंगा की परिकल्पना को साकार करने का कार्य हुआ। ऐसा पहली बार हो रहा है कि देश के प्रधानमंत्री निर्माण श्रमिकों पर पुष्प वर्षा करते हैं, उनके साथ भोजन करते हैं, प्रयागराज कुम्भ-2019 में स्वच्छता कर्मियों के पैरों को धोते हैं। जिस देश का नेतृत्व अपने किसानों, श्रमिकों, स्वच्छताकर्मियों का सम्मान करता हो और समाज के हर वर्ग के प्रति अनुराग रखता हो उस देश को दुनिया की महाशक्ति बनने से कोई रोक नहीं सकता।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास की विराट सोच बड़ा कार्य करती है। सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना के खिलाफ प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश ने सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के सम्मिलित प्रयासों के परिणामस्वरूप देश एवं प्रदेश में कोरोना नियंत्रित है। देश के सभी लोगों को निःशुल्क कोविड टेस्ट, उपचार एवं वैक्सीन की सुविधा प्रदान की जा रही है। कोरोना की यह वैक्सीन एक सुरक्षा कवच है। यह सुरक्षा कवच सभी के लिए आवश्यक है। देश के गरीब लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। डबल इंजन की सरकार द्वारा प्रदेश में पात्र लोगों को एक माह में दो बार खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना के नये वैरिएण्ट के प्रति सावधानी एवं सतर्कता आवश्यक है।

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश संसाधन सम्पन्न प्रदेश है। सही सोच, सही नेतृत्व एवं सही विकास से नये भारत का नया उत्तर प्रदेश प्रगति के पथ पर अग्रसर है। प्रदेश के समग्र विकास का श्रेय यहां की जनता जनार्दन को जाता है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश सुखी, सम्पन्न, शक्तिशाली एवं सामर्थ्यवान बनने की दिशा में अग्रसर है। प्रदेश में सुशासन की स्थापना की गयी है। माफियाओं, गुण्डों एवं अपराधियों के हौसले पस्त हैं। प्रदेश के स्कूल एवं विद्यालयों की दशा एवं दिशा दोनों में सकारात्मक परिवर्तन आए हैं। उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियांे की इच्छा का सम्मान करते हुए जनपदवासियों के लिए कई बाईपास के निर्माण एवं एक नये पुल के निर्माण कार्य की स्वीकृति की घोषणा भी की।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि देश एवं प्रदेश की तस्वीर बदल रही है। प्रदेश में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा 03 लाख करोड़ रुपये के कार्य कराए जा चुके हैं और आने वाले 05 वर्षाें में 05 लाख करोड़ रुपये के निर्माण कार्य कराए जाएंगे। इस प्रकार 08 लाख करोड़ रुपये के कार्य प्रदेश के इन्फ्रास्ट्रक्चर को विश्वस्तरीय बना देंगे।

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि 1350 किलोमीटर लम्बा राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या-01 वाराणसी से हल्दिया जलमार्ग क्रियाशील है। वाराणसी से प्रयागराज तक गंगा नदी में डेजिंग का कार्य पूरा हो चुका है। वाराणसी, गाजीपुर, साहिबगंज एवं हल्दिया मंे मल्टी मोडल हब का निर्माण किया जा रहा है। देश मंे 40 रिवर पोर्ट बन रहे हैं। जनपद मीरजापुर के रिवर पोर्ट को मान्यता दी जा चुकी है।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि देश में सोनीपत-पानीपत से दिल्ली, मथुरा, आगरा, इटावा होते हुए प्रयागराज को जलमार्ग से जोड़ने के प्रोजेक्ट पर प्रारम्भिक कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने मीरजापुरवासियों से कहा कि वह अगली बार दिल्ली से सी-प्लेन पर बैठकर यहां गंगा में उतरेंगे। फ्लाइंग बोर्ड के नियम बनाये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश में हाई स्पीड सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे से लोग दिल्ली 04 घण्टे की जगह 40 से 45 मिनट मंे पहंुच रहे हैं। प्रदेश की जनता इस विकास को महसूस कर रही है।

इस अवसर पर केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्यमंत्री श्रीमती अनुप्रिया सिंह पटेल, प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत राज्यमंत्री रमा शंकर सिंह पटेल अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Loading...