अलग तरह की अदाकारी के लिए जाने जाते हैं अभय देओल

एक फ़िल्मी परिवार से ताल्लुक रखने वाले फिल्म अभिनेता अभय देओल का जन्म 15 मार्च 1976 को पंजाबी जाट परिवार में हुआ ।अभय देओल दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र के भाई अजित देओल के बेटे हैं।

अभय देओल ने साल 2005 में इम्तियाज अली की फिल्म ‘सोचा न था’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। इस फिल्म को उनके चाचा एवं दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र ने प्रोड्यूस किया था। इस फिल्म के बाद इसके बाद वह कई फिल्मों में अभिनय करते नजर आये। साल 2009 में अनुराग कश्यप की ‘देव डी’ में अभय देओल के काम को काफी सराहा गया और फिल्म को क्रिटिक्स के साथ-साथ दर्शकों ने भी पसंद किया। 2011 में प्रदर्शित जोया अख्तर की फिल्म ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ अभय देओल के करियर के लिए सुपरहिट फिल्म साबित हुई। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए अभय देओल सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से नामांकित किए गए।

अभय देओल की कुछ प्रमुख फिल्मों में आइशा, हनीमूंस ट्रेवल्स लिमिटेड , आहिस्ता-आहिस्ता, सोच ना था, रांझणा, हैप्पी भाग जाएगी आदि शामिल हैं। फिल्मों के अलावा अभय कुछ वेब सीरीज़ में भी नजर आये। उनके द्वारा अभिनीत वेब सीरीज 1962- द वॉर इन द हिल्स में नज़र आये थे। भारत-चीन के बीच 1962 में हुई पहली जंग से प्रेरित इस वॉर सीरीज़ में अभय ने मेजर सूरज सिंह का किरदार निभाया था। इसके अलावा वह कुछ टीवी शोज में भी नजर आये।अभिनय के अलावा अभय देओल ने अपनी फिल्म जिंदगी ना मिलेगी दोबारा के सांग सेनोरिटा में अपनी आवाज भी दी है। इसके अलावा उन्होंने अपनी फिल्म व्हाट आर द ऑड्स को प्रोड्यूस भी किया है।

वर्कफ़्रंट की बात करें तो अभय देओल बतौर अभिनेता आखिरी बार क्राइम कॉमेडी फिल्म ‘वेल्ले’ में अपने भतीजे करण देओल के साथ स्क्रीन शेयर करते नजर आये। अभिनय के साथ -साथ अभय देओल सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहते हैं और अपनी बात मुखरता से रखने के लिए जाने जाते हैं।

Loading...