अर्जुन कपूर पहली बार खुशी और जाह्नवी कपूर से अपने बदलते रिश्तों पर बोले:

बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी के निधन के बाद से ही उनकी बेटियों जाह्नवी-खुशी के भाई अर्जुन कपूर के साथ बदलते रिलेशन को लेकर काफी सुर्खियों में रहे हैं. अपने परिवार के इस बुरे समय में अर्जुन कपूर कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहे. ऐसे में हाल ही में अर्जुन ने पहली बार अपनी दोनों बहनों जाह्नवी और खुशी से बदलते रिश्तों को लेकर खुलकर बात की है.

कई रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जाता रहा है कि अर्जुन कपूर के बोनी कपूर की दूसरी पत्नी श्रीदेवी और उनकी दोनों बेटियों के साथ अच्छे रिश्ते नहीं रहे थे हालांकि श्रीदेवी के निधन के बाद अर्जुन अंशुला की तरह ही जाह्नवी और खुशी का ध्यान रखते हैं. ऐसे में उनसे हाल ही में इसपर सवाल किया गया और उन्होंने अब पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है.

अर्जुन का कहना है कि जो खुशी और जाह्नवी के साथ हुआ उसी दुख का सामना वो कुछ सालों पहले कर चुके हैं, वो अपने दुश्मन के साथ भी ऐसा होना नहीं चाहेंगे. अर्जुन कपूर ने बताया कि वो खुशी और जाह्नवी के साथ ऐसा रिश्ता चाहते है जो अपने आप जुड़े ना कि किसी पब्लिसिटी के लिए.

उन्होंने कहा कि वो जानते हैं कि खुशी और जाह्नवी अपने लिए कुछ अच्छा ही करेंगी और उनके हर फसले में वो और अंशुला उनके साथ हैं. फैमिली के साथ गुड टाइम स्पेंड करने की बात पर अर्जुन ने बताया कि एक परिवार के लिए साथ में खाना खाना और गुड टाइम स्पेंड करना काफी जरूरी होता है.

अर्जुन ने कहा, “हमारी लाइफ में काफी कुछ हो गया जिसके कारण हमें चीजों को संभालने के लिए भी समय नहीं मिला. ये मेरे जिंदगी के सबसे बुरे अनुभवों में से हैं इसका सामने करने के बाद मैं ये कभी नहीं चाहूंगा कि कभी मेरे दुश्मनों के साथ ऐसा हो.”

बता दें कि अर्जुन ने डीएनए से बातचीत के दौरान बताया, “मैं उस समय पंजाब में था जब मुझे ये खबर मिली. मैने तुरन्त अपनी मौसी और बहन को कॉल किया. मैनें तब वहीं किया जो मुझे तब सही लगा. मेरी मां होती तो वो यही चाहती कि ऐसे समय में मैं अपने पिता और परिवार का पूरी तरह से साथ दूं. अगर मैं एक अच्छा भाई और बेटा बन सकता हूं तो मैं ऐसा क्यों न करूं? मुझे तो कुछ अच्छा ही मिल रहा है, मुझे दो बहने और मिल रही हैं साथ ही अपने पिता की सेवा करके मुझे काफी आराम मिलता है. “

इसके आगे अपने रिश्तो के बारे में बात करते हुए अर्जुन ने कहा, “ये अभी बहुत ही नई शुरुआत है. लेकिन हम एक दूसरे के साथ काफी कंफर्टेबल हैं और ये एक काफी अच्छी शुरुआत भी है. मुझे डर था कि ज्यादा बात करने से नजर लग जाएगी. हम चाहते हैं कि सब चीजें अपने आप ठीक लेवल पर पहुंच जाएं.”

अर्जुन ने कहा, “हमारी जिंदगी की सबसे अच्छी बात ये है कि हम सभी आजाद हैं लेकिन जब किसी को भी जरूरत होती है तो हमेशा एक दूसरे का पूरी तरह से साथ देते हैं. यही हमारा तरीका है. हम किसी दिखाने के लिए अचानक से आपस में नहीं रहते हैं यही कराण है कि मुझे थोड़ा समय लगा.”

 

Loading...
IGNITED MINDS