डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘मैं और किम जोंग उन एक दूसरे के प्यार में पड़ गए हैं’

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन एक-दूसरे के ‘प्रेम’ में पड़ गए हैं. उत्तर कोरिया के नेता की ओर से मिले ‘खूबसूरत पत्रों’ से उनके बीच दोस्ती गहरी हुई है. रिपब्लिकन पार्टी के एक स्थानीय उम्मीदवार के समर्थन में पश्चिम वर्जीनिया में आयोजित एक रैली में ट्रंप ने शनिवार को उत्तर कोरिया के नेता की काफी प्रशंसा की. ट्रंप ने रैली में कहा, “हम प्यार में पड़ गए-ओके? ‍‍वास्तव में. उन्होंने मुझे बेहद खूबसूरत पत्र लिखे जो काफी अच्छे हैं. हम प्यार में पड़ गए.’अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन एक-दूसरे के ‘प्रेम’ में पड़ गए हैं. उत्तर कोरिया के नेता की ओर से मिले ‘खूबसूरत पत्रों’ से उनके बीच दोस्ती गहरी हुई है. रिपब्लिकन पार्टी के एक स्थानीय उम्मीदवार के समर्थन में पश्चिम वर्जीनिया में आयोजित एक रैली में ट्रंप ने शनिवार को उत्तर कोरिया के नेता की काफी प्रशंसा की. ट्रंप ने रैली में कहा, “हम प्यार में पड़ गए-ओके? ‍‍वास्तव में. उन्होंने मुझे बेहद खूबसूरत पत्र लिखे जो काफी अच्छे हैं. हम प्यार में पड़ गए.'  सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता की प्रशंसा की. संयुक्त राष्ट्र और कई अन्य देश किम जोंग-उन पर बड़े स्तर पर मानवाधिकार हनन के आरोप लगाते रहे हैं. ट्रंप ने एक साल पहले इसी मंच पर उत्तर कोरिया को ‘पूरी तरह बर्बाद’ करने की धमकी दी थी.     दावा-ओबामा शुरू करने वाले थे कोरिया से युद्ध अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिर दावा किया कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा उत्तर कोरिया के साथ युद्ध शुरू करने की कगार पर थे. उन्होंने कहा कि अगर वह नहीं चुने जाते तो युद्ध शुरू हो चुका होता. सीएनएन की खबर के मुताबिक, ट्रंप ने बुधवार को यहां एक प्रेस वार्ता में कहा, "राष्ट्रपति ओबामा सोचते थे कि युद्ध के लिए जाना चाहिए. आप जानते हैं कि वह युद्ध शुरू करने के कितने करीब थे. हजारों नहीं बल्कि लाखों लोग मारे जा सकते थे..जो कि विश्व युद्ध हो सकता था."    ट्रंप ने कहा, "अगर मैं निर्वाचित नहीं होता तो आप को युद्ध का सामना करना पड़ता." ट्रंप ने अपने दावे को मजबूती देने के लिए यह संकेत दिया कि ओबामा ने 'एक तरह से' उन्हें यह बात प्रत्यक्ष रूप से बताई थी. ट्रंप ने बुधवार को उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन की ओर से मिले पत्र को 'असाधारण पत्र' बताया और किम के साथ अपने संबंधों का बखान किया. उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री माइक पोम्पियो प्योंगयांग का दौरा करेंगे और दोनों नेताओं के बीच अन्य बैठक की नींव रखेंगे.

सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता की प्रशंसा की. संयुक्त राष्ट्र और कई अन्य देश किम जोंग-उन पर बड़े स्तर पर मानवाधिकार हनन के आरोप लगाते रहे हैं. ट्रंप ने एक साल पहले इसी मंच पर उत्तर कोरिया को ‘पूरी तरह बर्बाद’ करने की धमकी दी थी.

दावा-ओबामा शुरू करने वाले थे कोरिया से युद्ध
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिर दावा किया कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा उत्तर कोरिया के साथ युद्ध शुरू करने की कगार पर थे. उन्होंने कहा कि अगर वह नहीं चुने जाते तो युद्ध शुरू हो चुका होता. सीएनएन की खबर के मुताबिक, ट्रंप ने बुधवार को यहां एक प्रेस वार्ता में कहा, “राष्ट्रपति ओबामा सोचते थे कि युद्ध के लिए जाना चाहिए. आप जानते हैं कि वह युद्ध शुरू करने के कितने करीब थे. हजारों नहीं बल्कि लाखों लोग मारे जा सकते थे..जो कि विश्व युद्ध हो सकता था.”

ट्रंप ने कहा, “अगर मैं निर्वाचित नहीं होता तो आप को युद्ध का सामना करना पड़ता.” ट्रंप ने अपने दावे को मजबूती देने के लिए यह संकेत दिया कि ओबामा ने ‘एक तरह से’ उन्हें यह बात प्रत्यक्ष रूप से बताई थी. ट्रंप ने बुधवार को उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन की ओर से मिले पत्र को ‘असाधारण पत्र’ बताया और किम के साथ अपने संबंधों का बखान किया. उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री माइक पोम्पियो प्योंगयांग का दौरा करेंगे और दोनों नेताओं के बीच अन्य बैठक की नींव रखेंगे.

Loading...
IGNITED MINDS