IL-FS के राइट्स शेयर खरीदेंगे एलआईसी, ओरिक्स और SBI

बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के वित्त-पोषण कारोबार में लगी आईएल एंड एफएस (IL&FS) को अपने मौजूदा शेयरधारकों एलआईसी, ओरिक्स कॉर्प और एसबीआई की ओर से बड़ी राहत मिली है. तीन कंपनियों ने शनिवार को आईएलएंडएफएस के प्रस्तावित 4,500 करोड़ रुपये के राइट्स इश्यू को खरीदने का ऐलान किया है.बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के वित्त-पोषण कारोबार में लगी आईएल एंड एफएस (IL&FS) को अपने मौजूदा शेयरधारकों एलआईसी, ओरिक्स कॉर्प और एसबीआई की ओर से बड़ी राहत मिली है. तीन कंपनियों ने शनिवार को आईएलएंडएफएस के प्रस्तावित 4,500 करोड़ रुपये के राइट्स इश्यू को खरीदने का ऐलान किया है.  वित्तीय संकट से जूझ रही इस कंपनी की सालाना आम बैठक (AGM) के बाद यह घोषणा की गई है. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक कंपनी के एक शेयरधारक ने बैठक के बाद कहा कि कंपनी की सबसे बड़ी शेयरधारक एलआईसी और जापान की ओरिक्स कॉर्प राइट्स इश्यू खरीद के माध्यम से कंपनी में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाएंगी. इस समय इसमें एलआईसी की 25 प्रतिशत से अधिक और ओरिक्स की 23 प्रतिशत से कुछ ज्यादा हिस्सेदारी है.  उन्होंने कहा कि इसी प्रकार एसबीआई भी राइट्स शेयर खरीदने के लिए तैयार है. वर्तमान में उसकी हिस्सेदारी सबसे कम करीब सात प्रतिशत है.  गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को एक बैठक में एलआईसी और ओरिक्स को कंपनी में और पूंजी नहीं डालने के लिए कहा है. IL&FS वित्तीय प्रणाली की दृष्टि से एक महत्वूपर्ण कंपनी है.  सूत्रों के मुताबिक आरबीआई ने आईएलएंडएफएस के और पूंजी डालने की योजना पर फैसला लेने के लिए बड़े शेयरधारकों के साथ बैठक की थी. कंपनी को तत्काल 3,000 करोड़ रुपये की पूंजी की जरूरत है, वह राइट्स इश्यू के जरिए 4,500 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है.

वित्तीय संकट से जूझ रही इस कंपनी की सालाना आम बैठक (AGM) के बाद यह घोषणा की गई है. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक कंपनी के एक शेयरधारक ने बैठक के बाद कहा कि कंपनी की सबसे बड़ी शेयरधारक एलआईसी और जापान की ओरिक्स कॉर्प राइट्स इश्यू खरीद के माध्यम से कंपनी में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाएंगी. इस समय इसमें एलआईसी की 25 प्रतिशत से अधिक और ओरिक्स की 23 प्रतिशत से कुछ ज्यादा हिस्सेदारी है.

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार एसबीआई भी राइट्स शेयर खरीदने के लिए तैयार है. वर्तमान में उसकी हिस्सेदारी सबसे कम करीब सात प्रतिशत है.  गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को एक बैठक में एलआईसी और ओरिक्स को कंपनी में और पूंजी नहीं डालने के लिए कहा है. IL&FS वित्तीय प्रणाली की दृष्टि से एक महत्वूपर्ण कंपनी है.

सूत्रों के मुताबिक आरबीआई ने आईएलएंडएफएस के और पूंजी डालने की योजना पर फैसला लेने के लिए बड़े शेयरधारकों के साथ बैठक की थी. कंपनी को तत्काल 3,000 करोड़ रुपये की पूंजी की जरूरत है, वह राइट्स इश्यू के जरिए 4,500 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है.

Loading...
IGNITED MINDS