मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी दलों की सक्रियता बढ़ी हुई, आखिर किसान किसके सिर ताज बांधेंगे

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी दलों की सक्रियता बढ़ी हुई है. मुख्यमंत्री शिवराज चौहान जनआशीर्वाद यात्रा कर रहे हैं जबकि कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया जन संपर्क अभियान में जुटे हुए हैं. लेकिन इन सबके बावजूद विभिन्न दलों के केंद्रीय नेता भी बीच-बीच में राज्य का दौरा कर चुनावी माहौल को गरम कर रहे हैं.मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी दलों की सक्रियता बढ़ी हुईमंदसौर जिले का समीकरण

राज्य के मंदसौर जिले में चार विधानसभा सीटें हैं. इनमें मंदसौर, मल्हारगढ़, सुवासरा और गरोठ विधानसभा सीटें शामिल हैं. इनमें मल्हारगढ़ सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है. इन चारों सीटों में से तीन पर भाजपा जबकि एक पर कांग्रेस काबिज है. मंदसौर से यशपाल सिंह सिसोदिया, मल्हारगढ़ से जगदीश देवरा, सुवासरा से कांग्रेस के हरदीप सिंह डंग और गरोठ से राजेश यादव धर्मवीर सिंह विधायक हैं.

मंदसौर जिले की चारों सीटों पर 8,75,444 मतदाता हैं. इनमें से 2013 के विधानसभा चुनावों में 6,87,997 यानी 78.6 फीसदी लोगों ने मतदान किया था. 2013 के आंकड़े बताते हैं कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 3,40,749 (49.5%), कांग्रेस को 2,91,253 (42.3%), निर्दलीय उम्मीदवारों को 30,549 (4.4%), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) 8,452 (1.2%) और समाजवादी पार्टी (सपा) 5,586(0.8%) वोट मिले थे.

मंदसौर सीट का समीकरण

मध्य प्रदेश की मंदसौर विधानसभा सीट सामान्य है. यहां पर 25 नवंबर 2013 को मतदान और 8 दिसंबर 2013 को मतगणना हुई थी, जहां भाजपा के यशपाल सिंह सिसोदिया ने जीत हासिल की थी. हालांकि 2008 के चुनावों में भाजपा ही इस सीट पर कायम थी. पिछले कुछ दिनों में मंदसौर में किसानों में तमाम मुद्दों को लेकर अंसतोष बढ़ा है.

इसकी वजह से मंदसौर किसान आंदोलन का मैदान भी बना जिसकी वजह से शिवराज सिंह चौहान सरकार की काफी किरकिरी हुई. शायद किसानों के इसी गुस्से को भुनाने के लिए कांग्रेस भी आगे बढ़कर आई. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मंदसौर पहुंचे. इसका साफ मकसद था कि किसान बहुल मध्य प्रदेश में कांग्रेस के प्रति एक संवेदना और उसकी जरूरत को महसूस किया जा सके. अब आगामी चुनावों के नतीजे ही तय करेंगे कि आखिर किसान किसके सिर ताज बांधेंगे.  

विधानसभा चुनाव-2013

भाजपा-यशपाल सिंह सिसोदिया- 84,975    (49.7%)

कांग्रेस-महेंद्र सिंग गुर्जर- 60,680 (35.5%)

विधानसभा चुनाव-2008

भाजपा-यशपाल सिंह सिसोदिया- 60,013    (45.7%)

कांग्रेस-महेंद्र सिंग गुर्जर- 58,328 (44.4%)

विधानसभा की तस्वीर

मध्य प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए इसी साल नवंबर-दिसंबर में चुनाव होने हैं. 230 में से 35 अनुसूचित जाति जबकि 47 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं. 148 गैर-आरक्षित सीटें हैं. 2013 में हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी 165 सीटों पर जीत हासिल कर सरकार बनाई थी जबकि कांग्रेस को 58 सीटों से संतोष करना पड़ा था. वहीं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने 4 जबकि 3 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी.

निर्वाचन आयोग के मुताबिक 2013 में मध्य प्रदेश में कुल 4,66,36,788 मतदाता थे जिनमें महिला मतदाताओं की संख्या 22064402 और पुरुष मतदाताओं की संख्या 24571298 और अन्य वोटर्स 1088 थे. 2013 में 72.07 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था.

Loading...
IGNITED MINDS