बुलंदशहर हिंसा के दोषियों को जेल भेजने की मांग, नागरिक एकता पार्टी ने किया प्रदर्शन

लखनऊ : नागरिक एकता पार्टी ने बुलंदशहर हिंसा में षडयंत्रकारियों को चिन्हित करके इनके विरुद्ध वैमनस्यता फैलाने व समाज विरोधी कृत्य सम्बन्धी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की मांग की है। साथ ही सरकार से यह भी मांग की गई कि जिस प्रकार भीड़ द्वारा मारे गये पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के माता-पिता को तथा परिवार को कुल 50 लाख रू. का मुआवजा दिया गया उसी तरह भीड़ में मारे गये मृतक सुमित के माता-पिता को भी समुचित मुआवजा दिया जाये। नागरिक एकता पार्टी के भारी संख्या में आये कार्यकर्ताओं जीपीओ गेट से गाँधी प्रतिमा हजरतगंज तक सड़कों पर उतरकर शांतिपूर्वक पैदल मार्च निकाला और जोरदार नारेबाजी की गई।

नागरिक एकता पार्टी ने इस घटना के षडयंत्रकारियों का पर्दाफाश करने एवं घटना की साजिश रचने वालों को इंस्पेक्टर सुबोध सिंह तथा आम नागरिक सुमित की हत्या के आरोप में जेल भेजकर दण्डित की मांग की। इस प्रकार की भयंकर घटना बार-बार करने वाले संगठन बजरंग दल तथा इसी प्रकार के अन्य संगठनों को प्रतिबन्धित किया जाये और इनको आतंकवादी की श्रेणी में डाला जाये। राष्ट्रीय अध्यक्ष शमीम खान के नेतृत्व में हुए इस पैदल मार्च में प्रदेश अध्यक्ष कमर रजा एवं जिले के पदाधिकारियो व कार्यकर्ता मौजूद थे यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष शाकिब खान के नेतृत्व में भारी संख्या में आये युवाओं तथा महिला सभा लखनऊ की जिलाध्यक्ष सबा नईम के नेतृत्व में आई महिलाओं ने नारे लगाकर जोरदार प्रदर्शन किया। पार्टी के कार्यकर्ता कानून व्यवस्था ध्वस्त! दंगाई मस्त, जनता त्रस्त!! के नारे लगाते हुए गाँधी प्रतिमा के सामने बहुत देर तक प्रदर्शन करते रहे।

Loading...
IGNITED MINDS