उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक ने कानून व्यवस्था के बारे में कही ये बड़ी बात…

अमेठी। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक ने कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था में अभी सुधार की आवश्यकता है। पूर्व की सरकार कानून व्यवस्था खराब हो गई थी। मौजूदा सरकार ने अस्सी प्रतिशत सुधार कर लिया है। बीस प्रतिशत सुधार शेष है। राज्यपाल राम नाईक आज दोपहर अमेठी खेरौना गांव स्थित हेलीपैड पर पहुंचे। इसके बाद एक विद्यालय के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था में काफी हद तक सुधार हुआ है, अभी और सुधार की जरूरत है। अलीगढ़ विश्वविद्यालय में जिन्ना की प्रतिमा पर उठे विवाद के सवाल पर कहा कि मामले में राष्ट्रपति ने दखल दी है। मुझे उस पर कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं है। 

विद्यार्थी धर्म का पालन करें बच्चे 

राज्यपाल कहा कि विद्यार्थी अपने धर्म का पालन करें। किताबी कीड़ा न बने पढ़ाई के साथ साथ स्वास्थ्य और संस्कार पर विशेष ध्यान दें। शिक्षा के क्षेत्र में बालिकाओं की संख्या बढऩे पर उन्होंने खुशी जताई। कहा कि आज महिलायें जहाज और मेट्रो का संचालन कर रही है। सर्व शिक्षा अभियान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी ने शुरू किया था। पीएम नरेंद्र मोदी इस अभियान को आगे बढ़ा रहे है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं  अभियान आज समूचे देश में चल रहा है, जिसका परिणाम भी आने लगा है। बालिकाएं हर क्षेत्र में बच्चों से आगे जा रही है। शिक्षा के क्षेत्र में बालक बालिकाओं को पूरी तन्यमता से कार्य करना चाहिए। पठन पाठन काल में बच्चे इसी कार्य से जुड़े रहे। अपने कार्य के प्रति सजग रहेंगें तभी वह अपने पथ पर अग्रसर होंगें। 

चौदह मेधावी और सात समाजसेवी सम्मानित

विद्यालय के चौदह मेधावी बच्चों को राच्यपाल ने सम्मानित किया। राच्यपाल ने विद्यालय के शिक्षण कार्य की प्रशंसा भी की। राज्यपाल ने खंड शिक्षा अधिकारी डा. सत्य प्रकाश यादव को सम्मानित किया। उन्होंने बीईओ संग्रामपुर की सराहना करते हुए अन्य लोगों को नसीहत लेने की बात कहीं।

समाजसेवा के कार्य में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले सात समाजसेवियों को भी राच्यपाल ने प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, राच्यमंत्री सुरेश पासी, विधायक तिलोई मयंकेश्वर शरण सिंह, विधायक अमेठी गरिमा सिंह, अनंत विक्रम सिंहसहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Loading...
IGNITED MINDS