Jmmu Kashmir : घाटी में पटरी पर आने लगा सामान्य जनजीवन, शिक्षण संस्थान खुले

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने के बाद कश्मीर घाटी में बंद शिक्षण संस्थानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की प्रक्रिया बुधवार को पूरी हो गई। सभी कालेज और विश्वविद्यालय खुल गए। प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूल पहले ही खुल चुके हैं। 5 अगस्त के बाद शिक्षण संस्थानों को एहतियातन बंद कर दिया गया था। घाटी में सामान्य जनजीवन तेजी से पटरी पर लौट रहा है। कश्मीर घाटी में अब अलगाववादी गतिविधियां थम गई हैं। देश विरोधी और आजादी के नारे लगने बंद हो गए हैं। मुठभेड़ के बाद हिंसक प्रदर्शनों का दौर भी गुजरे जमाने की बात हो गई है। पूरी घाटी में शांति है। स्थानीय नागरिक अपने बच्चों को हिंसक गतिविधियों से दूर रख रहे हैं। गुरुवार से पर्यटकों पर घाटी में आने पर लगा प्रतिबंध भी हट जाएगा। घाटी फिर पर्यटकों से गुलजार होगी। प्रशासन जल्द ही श्रीनगर समेत कई जिलों में चरणबद्ध तरीके से मोबाइल सेवा बहाल करने की प्रक्रिया शुरू करने वाला है। मोबाइल इंटरनेट सेवा अभी बंद है। कश्मीर घाटी के सभी जिलों में लैंडलाइन फोन सेवा बहाल हो चुकी है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक की कश्मीर घाटी की स्थिति पर नजर है। वह पल-पल की जानकारी अधिकारियों से ले रहे हैं। घाटी के संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षाबलों का पहरा है।

Loading...
IGNITED MINDS