गोरक्षपीठाधीश्वर योगी के नेतृत्व में निकली भव्य शोभायात्रा, सड़क पर उमड़ी भीड़

मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शोभायात्रा का किया भव्य स्वागत, योगी पर बरसाए फूल
विजयदशमी का पर्व,अन्याय और अत्याचार पर न्याय और धर्म की जीत का प्रतीक

गोरखपुर : गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने विजयादशमी के अवसर पर पारंपरिक वेशभूषा में भगवान श्रीराम का राजतिलक किया। गोरक्षपीठाधीश्वर के नेतृत्व में गोरखनाथ मंदिर से रामलीला मैदान तक भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। गोरखनाथ मंदिर में दूर-दूर से आये श्रद्धालुओं ने गोरक्षपीठाधीश्वर का तिलक कर उनसे आशीर्वाद लिया। योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में श्रीनाथ जी का विशिष्ठ पूजन किया। इस दौरान गोरखनाथ मंदिर वैदिक मंत्रों से गूंज उठा। शोभा यात्रा के दौरान गोरखनाथ ब्रिज की तरफ से आ रही एम्बुलेंस को रुकी देख कर स्वयं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने रास्ता दिलवाते हुए ड्राइवर को एम्बुलेंस ले जाने का इशारा किया। शोभायात्रा में मुस्लिम समुदाय ने भी हिस्सा लिया और भव्य स्वागत करते हुए पुष्प वर्षा की।

रामलीला मैदान में अपने संबोधन के दौरान गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी न कहा कि विजयदशमी का त्योहार पाप,अन्याय और अत्याचार पर सत्य,धर्म और न्याय की जीत का प्रतीक है। सीएम योगी ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम केवल उपासना के पात्र नहीं है उनका जीवन आदर्शों से भरा हुआ है इसलिए हम सभी को भगवान राम के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि 14 वर्षों के बनवासकाल के दौरान भगवान राम ने ऋषि मुनियों और धर्म की रक्षा के लिए राक्षसों का वध किया और उन्हें पापियों और अत्याचारियों से मुक्ति दिलाई। सीएम योगी ने कहा कि इस बार आयोध्या में 6 देशों की रामलीलाओं का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि थाईलैंड एक बड़े मुस्लिम देश का राजा खुद को भगवान राम का वंशज मानता है। दुनिया के कई देशों में कई भाषाओं में रामलीला का मंचन होता है। सीएम योगी ने कहा हमारी भाषाएं अलग अलग हो सकती हैं मगर भाव एक जैसा है। उन्होंने कहा कि भगवान राम के जीवन से प्रेरणा लेकर अपने जीवन में व्यापक सुधार लाया जा सकता है।

Loading...
IGNITED MINDS