बारिश से बेहाल हुआ देश, गिर सोमनाथ में 6 घंटे में 12 इंच, वायुसेना बुलाई

सोमवार को देश के कई हिस्सों में भारी वर्षा का कहर टूट पड़ा। सर्वाधिक प्रभावित गुजरात हुआ, जहां गिर सोमनाथ जिले में 12 इंच बारिश ने हाहाकर मचा दिया। चार गांव डूब गए। एक मीटर गैज ट्रेन में फंसे 70 यात्रियों को एनडीआरएफ को भेजा गया। जबकि चार गांवों में घिरे लोगों को निकालने के लिए वायुसेना को बुलाया गया है।बारिश से बेहाल हुआ देश, गिर सोमनाथ में 6 घंटे में 12 इंच, वायुसेना बुलाई

सात जिलों में आफत : रुपाणी

मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हालात बिगड़ते देख राहत व बचाव के लिए आपात बैठक की। उन्होंने बताया कि राज्य के छह-सात जिले बुरी तरह प्रभावित हैं। एनडीआरएफ की 15 टीमों को तैनात किया गया है। गिर गधेड़ा रेलवे स्टेशन पर पानी भरने से देलवाड़ा-वेरावल मीटरगेज ट्रेन फंस गई। इसमें 70 लोग सवार थे। यहीं बाढ़ में घिरे चार गांवों में फंसे लोगों को निकालने के लिए वायुसेना से मदद मांगी गई है।

यहां हुई भारी वर्षा

पिछले 24 घंटों में और सोमवार दिनभर गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, जूनागढ़, नवसारी व वलसाड़ में भारी वर्षा हुई। सुबह 9 से दोपहर तीन बजे तक गिर सोमनाथ जिले में सर्वाधिक 12 इंच वर्षा हुई।

महाराष्ट्र की ईगतपुरी में 8 इंच बारिश

सोमवार को उत्तर व मध्य महाराष्ट्र के कई हिस्सों में भारी वर्षा हुई। राज्य के बांध 75 फीसदी तक भर गए। नासिक में गंगापुर बांध का पानी गोदावरी नदी में छोड़ना पड़ा। परमणी, अहमदनगर, नासिक, औरंगाबाद व नांदेड़ जिलों में जोरदार बारिश हुई। ईगतपुरी तहसील में 24 घंटे में सर्वाधिक 8 इंच से ज्यादा बारिश हुई।

राजस्थान के मावली में चार इंच बारिश

बीते 24 घंटे में राजस्थान में भी अच्छी बारिश हुई। उदयपुर जिले के मावली व डबोक में चार इंच से ज्यादा बारिश हुई। वहीं खैरवाड़ा व ब्यावर में तीन इंच, अजमेर में करीब आधा इंच बारिश हुई।

केरल में भारी वर्षा

केरल में एक बार फिर मानसून पूरे वेग से बरस रहा है। इससे आठ जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए। रेल व सड़क यातायात पर भी असर पड़ा है। केरल में मानसून का दूसरा चरण चरम पर है। भारी वर्षा हो रही है। राज्य के कई निचले इलाके पानी में डूब गए हैं।

9 जुलाई के बाद से अब तक वर्षाजन्य हादसों में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। रेलवे ट्रैक पर जलजमाव से सिग्नल सिस्टम ठप हो गया। इस कारण एर्नाकुलम-तिरुवनंतपुरम रूट की कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलपुझा, कोट्टायम, ईडुक्की, एर्नाकुलम, थ्रिसुर जिलों में सोमवार को शिक्षा संस्थाएं बंद करना पड़ी।

चमौली में बादल फटा, एक दर्जन मकान तबाह

उधर उत्तराखंड के चमौली जिले के थराली व घाट क्षेत्रों में सोमवार अल सुबह बादल फटने से करीब एक दर्जन मकान, 10 दुकानें व छह वाहन बह गए। एक व्यक्ति की मौत हो गई। बादल फटने की वजह से हुई मूसलधार बारिश से प्राणमति नदी में बाढ़ आ गई।

Loading...
IGNITED MINDS