जॉर्डन घाटी में लगी आग, खेतों की रखवाली कर रहे 13 पाकिस्तानियों की मौत

अम्मान : जॉर्डन घाटी में खेतों की आग में तेरह पाकिस्तानी नागरिकों की मौत हो गई है जिनमें आठ बच्चे शामिल हैं। यह जानकारी सोमवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, ये लोग जॉर्डन घाटी में खेतों के निकट अस्थायी आवास में रहते थे जिसे खेतों की आग ने आगोश में ले लिया। यह आग इनके शिविरों में रविवार को आधी रात में लगी। नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रवक्ता इयाद अल अमरे ने कहा कि संभवत: यह आग बिजली के शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी। उन्होंने आगे कहा कि जॉर्डन घाटी के निजी फॉर्म हाउसेजज में हजारों प्रवासी मजदूर बदतर स्थिति में जीने को मजबूर हैं, क्योंकि यह इलाका सब्जियां और फलों के उत्पादन के मशहूर है।

नागरिक सुरक्षा विभाग के अन्य सूत्र ने कहा कि जॉर्डन घाटी में प्रवासी मजदूरों को टिन शेड वाले घरों रखा जाता है जहां इस तरह की घटनाएं होती रहती हैं। इस हादसे में तीन अन्य घायल भी हुए हैं जिन्हें अस्पताल पहुंचा दिया गया है। पुलिस ने हादसे की जांच शुरू कर दी है।  विदित हो कि हाल के वर्षों में सीरियाई शरणार्थियों के शिविरों में बिजली के शॉट सर्किट और खाने बनाते समय गैस स्टोव के फटने से कई भयानक दुर्घटनाएं हुई हैं।

Loading...
IGNITED MINDS