बस्ती में नेशनल हाई-वे पर बन रहे फ्लाईओवर का डेक स्लैब गिरा, चार मजदूर घायल

वाराणसी में फ्लाईओवर की बीम गिरने का मामला अभी पुराना भी नहीं हुआ था कि आज बस्ती में नेशनल हाई-वे पर बन रहे फ्लाईओवर का डेक स्लैब गिर पड़ा। जिससे चार मजदूर घायल हैं। इनको अस्पताल में भर्ती कराने के साथ ही राहत कार्य जारी है।फ्लाईओवर का 60 फीसदी कार्य पूरा हो चुका है।वाराणसी में फ्लाईओवर की बीम गिरने का मामला अभी पुराना भी नहीं हुआ था कि आज बस्ती में नेशनल हाई-वे पर बन रहे फ्लाईओवर का डेक स्लैब गिर पड़ा। जिससे चार मजदूर घायल हैं। इनको अस्पताल में भर्ती कराने के साथ ही राहत कार्य जारी है।फ्लाईओवर का 60 फीसदी कार्य पूरा हो चुका है।   बस्ती में लखनऊ को गोरखपुर से जोडऩे वाले नेशनल हाई-वे-28 पर बने रहे फ्लाईओवर का एक डेक स्लैब आज गिर पड़ा। इस हादसे में चार लोग घायल हैं। घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। अभी भी मलवे में दो लोग फंसे हैं। जिनको बाहर निकालने के साथ ही राहत व बचाव कार्य जारी है।मौके पर बस्ती के डीएम राजशेखर और एसपी दिलीप कुमार समेत एनएचएआई के अधिकारी मौजूद हैं।    बस्ती-लखनऊ फोरलेन पर बन रहे फुट एरिया के पास निर्माणाधीन ओवरब्रिज का एक डेक स्लैब आज सुबह अचानक गिर गया। इसमें चार मजदूर घायल हो गए हैं। इसके मलवे के नीचे और मजदूर दबे होने की आशंका है। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए राहत बचाव कार्य जारी है। फ्लाईओवर के किनारे लोहे का क्लैंप लगाकर शटरिंग पर कंक्रीट की ढलाई का काम चल रहा था। इसी दौरान फ्लाईओवर का एक डेक स्लैब गिर गया।    बस्ती में सड़क पर गिरे पेड़ से टकराई तेज रफ्तार कार, तीन की मौत यह भी पढ़ें   घायल मजदूरों में धर्मेंद्र सिंह और सुरेश राय के रूप में पहचान हुई है। इन दोनों को जिला अस्पताल भेजा गया है। ओवर ब्रिज और पिलर के बीच फंसे मजदूर बाबू साह को सुरक्षित निकाल लिया गया है।    बस्ती में बाबा सच्चिदानंद के खिलाफ चार महिलाओं ने लगाया दुष्कर्म का आरोप यह भी पढ़ें   वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन के पास बीते 18 मई को एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा गिरने से करीब 18 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 25 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इस हादसे में सेतु निगम के अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। योगी सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 7 इंजीनियर और एक ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्‍हें गिरफ्तार भी करने का आदेश दिया था।   बस्ती में रिश्वत लेने के आरोप में चार वनकर्मी गिरफ्तार यह भी पढ़ें मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान  बस्ती जिले के फुटहिया राष्ट्रीय राजमार्ग 28 पर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के अंतर्गत आनेवाले निर्माणाधीन फ्लाइओवर की डेक स्लैब गिरने की सूचना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थानीय प्रशासन को तत्काल राहत कार्य शुरू करने के साथ ही वहां पर यातायात सुचारू कराने का निर्देश दिया है।    बस्ती में सड़क के किनारे ट्रक से ट्रैवलर की टक्कर, नौ घायल यह भी पढ़ें   इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिए है। सीएम ने स्थानीय प्रशासन को तत्काल राहत कार्य शुरू करने और यातायात सुचारू कराने के निर्देश दिए है। पुल का निर्माण एनएचएआई करा रही थी।  भारी वाहनों को डायवर्ट कर निकाला गया  लखनऊ को जाने वाले सभी भारी वाहनों को डायवर्ट कर मूड़घाट से गनेशपुर होते हुए निकाला गया। लखनऊ से आने वाले वाहनों को कप्तानगंज से डायवर्ट कर गनेशपुर व वाल्टरगंज होते हुए बस्ती हाईवे पर निकाला गया। इस दौरान राहगीरों और बस यात्रियों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। सड़क पर वाहनों के खड़े होने से जाम जैसे हालत रहे। सुबह के समय लोग घरों से निकल कर गंतव्य के लिए सवारी व खुद के वाहनों से रवाना हो रहे थे। सर्विस रोड का आवागमन प्रशासन ने रोक दिया। ट्रक व बसों को डायवर्ट कर निकाला गया। सुबह 7.55 बजे से गोरखपुर से आने वाले वाहनों को खलीलाबाद व बस्ती के मध्य रोक दिया गया। टोल प्लाजा के पहले से वाहनों को डायवर्ट कर वाल्टरगंज होते हुए कप्तानगंज व हर्रैया निकाला गया, तो मूड़घाट से गनेशपुर होते हुए दुबौला कप्तानगंज भेजा गया।

बस्ती में लखनऊ को गोरखपुर से जोडऩे वाले नेशनल हाई-वे-28 पर बने रहे फ्लाईओवर का एक डेक स्लैब आज गिर पड़ा। इस हादसे में चार लोग घायल हैं। घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। अभी भी मलवे में दो लोग फंसे हैं। जिनको बाहर निकालने के साथ ही राहत व बचाव कार्य जारी है।मौके पर बस्ती के डीएम राजशेखर और एसपी दिलीप कुमार समेत एनएचएआई के अधिकारी मौजूद हैं।

बस्ती-लखनऊ फोरलेन पर बन रहे फुट एरिया के पास निर्माणाधीन ओवरब्रिज का एक डेक स्लैब आज सुबह अचानक गिर गया। इसमें चार मजदूर घायल हो गए हैं। इसके मलवे के नीचे और मजदूर दबे होने की आशंका है। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए राहत बचाव कार्य जारी है। फ्लाईओवर के किनारे लोहे का क्लैंप लगाकर शटरिंग पर कंक्रीट की ढलाई का काम चल रहा था। इसी दौरान फ्लाईओवर का एक डेक स्लैब गिर गया। 

घायल मजदूरों में धर्मेंद्र सिंह और सुरेश राय के रूप में पहचान हुई है। इन दोनों को जिला अस्पताल भेजा गया है। ओवर ब्रिज और पिलर के बीच फंसे मजदूर बाबू साह को सुरक्षित निकाल लिया गया है। 

वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन के पास बीते 18 मई को एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा गिरने से करीब 18 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 25 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इस हादसे में सेतु निगम के अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। योगी सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 7 इंजीनियर और एक ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्‍हें गिरफ्तार भी करने का आदेश दिया था।

मुख्यमत्री ने लिया संज्ञान

बस्ती जिले के फुटहिया राष्ट्रीय राजमार्ग 28 पर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के अंतर्गत आनेवाले निर्माणाधीन फ्लाइओवर की डेक स्लैब गिरने की सूचना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थानीय प्रशासन को तत्काल राहत कार्य शुरू करने के साथ ही वहां पर यातायात सुचारू कराने का निर्देश दिया है। 

इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिए है। सीएम ने स्थानीय प्रशासन को तत्काल राहत कार्य शुरू करने और यातायात सुचारू कराने के निर्देश दिए है। पुल का निर्माण एनएचएआई करा रही थी।

भारी वाहनों को डायवर्ट कर निकाला गया

लखनऊ को जाने वाले सभी भारी वाहनों को डायवर्ट कर मूड़घाट से गनेशपुर होते हुए निकाला गया। लखनऊ से आने वाले वाहनों को कप्तानगंज से डायवर्ट कर गनेशपुर व वाल्टरगंज होते हुए बस्ती हाईवे पर निकाला गया। इस दौरान राहगीरों और बस यात्रियों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। सड़क पर वाहनों के खड़े होने से जाम जैसे हालत रहे। सुबह के समय लोग घरों से निकल कर गंतव्य के लिए सवारी व खुद के वाहनों से रवाना हो रहे थे। सर्विस रोड का आवागमन प्रशासन ने रोक दिया। ट्रक व बसों को डायवर्ट कर निकाला गया। सुबह 7.55 बजे से गोरखपुर से आने वाले वाहनों को खलीलाबाद व बस्ती के मध्य रोक दिया गया। टोल प्लाजा के पहले से वाहनों को डायवर्ट कर वाल्टरगंज होते हुए कप्तानगंज व हर्रैया निकाला गया, तो मूड़घाट से गनेशपुर होते हुए दुबौला कप्तानगंज भेजा गया।

Loading...
IGNITED MINDS