PM मोदी ने वाराणसी में कोरोना टीकाकरण में शामिल छह फ्रंट लाइन वर्कर्स से की बात

देश व्‍यापी कोरोना वैक्‍सीनेशन को लेकर चल रहे अभियान के बीच दोपहर 1:15 बजे टीकाकरण सत्र के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के तीन केंद्रों पर छह लोगों से वर्चुअल संवाद किया। इनमें महिला अस्पताल में मैट्रन पुष्पा देवी और वैक्सिनेटर रानी कुंवर श्रीवास्तव, जिला अस्पताल में सीएमएस डा. वी शुक्ला, एसएलटी रमेश चंद्र, सफाई कर्मी अप्सरी बेगम, सीएचसी हाथी पर एएनएम श्रृंखला चौहान वर्चुअल संवाद में शामिल रहे।

पीएम ने कहा कि दुनिया में सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम हमारे देश में चल रहा है । आज, राष्ट्र के पास अपने स्वयं के टीके का निर्माण करने की इच्छाशक्ति है-एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया टीके उपलब्‍ध हैं। देश के हर कोने में टीके आज पहुंच रहे हैं। भारत इस मामले में पूरी तरह आत्मनिर्भर है। पीएम ने फ्रंट लाइन वर्कर्स की सेवा और संघर्ष के बीच सभी स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को आधुनिक ऋषि का नाम देकर उनका मान भी बढ़ाया। 2021 की शुरुआत बहुत ही शुभ संकल्पों से हुई है और काशी के बारे में तो ये कहते हैं कि काशी के स्पर्श से ही शुभता सिद्धि में बदल जाती है।

कहा कि कोई भी वैक्सीन की एक पूरी वैज्ञानिक प्रक्रिया होती है। पूरी जांच-पड़ताल के बाद और वैज्ञानिकों की मंजूरी के बाद ही वैक्सीन लगाने का काम शुरू किया गया है और सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाना तय किया गया। पहले चरण में वाराणसी में करीब-करीब 20,000 से ज्यादा हेल्थ प्रोफेशनल्स को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके 15 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। मैं इस पूरे अभियान के लिए सभी डॉक्टर, नर्स और मेडिकल स्टाफ का अभिनंदन करता हूंं। आज दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम दुनिया में चल रहा है। इसके पहले दो चरणों में 30 करोड़ देशवासियों के टीका लगाया जा रहा है। आज देश में ऐसी इच्छाशक्ति है कि देश खुद अपनी वैक्सीन बना रहा है

हर हर महादेव के संबोधन के साथ पीएम ने कहा कि आप सबका अभिनंदन करता हूं, ऐसे समय में आपके बीच होना चाहिए था, मगर कुछ ऐसे हालात बन गए हैं कि वर्चुअली मिलना पड़ रहा है। कहा कि कोरोना वायरस की तैयारियों और अमलीजामा पहनाने के लिए चल रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इसके बाद पीएम ने महिला अस्पताल की मैट्रन पुष्‍पा देवी से बातचीत की। बातचीत के दौरान डॉ. वी. शुक्ला ने बताया कि टीके को लेकर सभी उत्साहित हैं। हमें गर्व है कि भारत ने स्वदेशी कोविड वैक्सीन बनाने में विकसित देशों को भी पीछे छोड़ दिया है। वरिष्ठ लैब तकनीशियन रमेश चंद्र राय ने बताया कि पहले चरण में वैक्सीन मिलने से व गौरवान्वित हैं और कहा कि लोग उत्साह से अस्पतालों में टीका लगवा रहे हैं।

पीएम इससे पहले कोरोना वैक्‍सीन बनाने वाले संस्‍थान का दौरा भी कर चुके हैं। इसके बाद देश भर में वैक्‍सीन लगने की शुरुआत होने के बाद से ही पीएम नरेंद्र मोदी इस पर नजर बनाए हुए हैं। कोरोना का टीका भारत पड़ोसी देशों को भी उपलब्‍ध करा रहा है। जबकि पीएम शुक्रवार को वाराणसी में कोरोना वारियर्स से बात कर उनके अनुभवों से अवगत होंगे और देश भर को इस वैक्‍सीन को लेकर संशय की स्थिति को भी दूर करेंगे। दरअसल भारत में इस समय विश्‍व का सबसे बड़ा कोरोना वैक्‍सीन का अभियान चल रहा है। ऐसे में पीएम नरेंद्र  ने अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से विशेष संवाद करके जानकारी ली।

वहीं संवाद से पूर्व एक बजते ही महिला अस्‍पताल, जिला अस्‍पताल और सीएचसी हाथी पर वर्चुअल संवाद की तैयारी पूरी कर संवाद में शामिल लोगों को स्‍थल पर बैठा दिया गया। आयोजन को लाइव करने के साथ ही आयोजन से जुड़ने के लिए शहर के  गणमान्‍य लोगों को भी प्रशासन की ओर से बुलाया गया था।

वहीं आयोजन के बारे में विभिन्‍न सरकारी इंटरनेट मीडिया एकाउंट से जानकारी साझा कर लोगों से इस कार्यक्रम में जुड़ने की अपील की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संवाद से पूर्व मैट्रन पुष्पा देवी और वैक्सिनेटर रानी कुंवर श्रीवास्तव ने बातचीत का रिहर्सल भी किया। वहीं दूसरे केंद्र में पीएम से संवाद का आशा शृंखला चौहान ने भी रिहर्सल किया।

 

Loading...
IGNITED MINDS