रेलवे ने बीते 16 दिनों में देश में 2,067 टन आक्सीजन पहुंचाई, दिल्ली और UP में भेजी सबसे अधिक

रेलवे की विशेष आक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों ने पिछले 16 दिनों में देश भर के विभिन्न हिस्सों में करीब 2,067 टन मेडिकल आक्सीजन पहुंचाई है। सबसे ज्यादा 707 टन आक्सीजन दिल्ली और फिर 641 टन आक्सीजन उत्तर प्रदेश को पहुंचाई गई। मौजूदा समय में 344 टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन लेकर ट्रेनें चल रही हैं।

रेल मंत्रालय के एक बयान में कहा गया कि अब तक भारतीय रेलवे ने देशभर के विभिन्न राज्यों में 34 आक्सीजन ट्रेनों के जरिये 137 टैंकरों में लगभग 2,067 टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन पहुंचाई। दिल्ली और उप्र के अलावा महाराष्ट्र को 174 टन, मध्य प्रदेश को 190 टन, हरियाणा को 229 और तेलंगाना को 123 टन आक्सीजन दी गई।

पहली आक्सीजन एक्सप्रेस 19 अप्रैल को चलाई गई थी जब सात टैंकर लोड कर विसाखापत्तनम से मुंबई भेजे गए। इन सात ट्रकों को फ्लैट वैगनों पर लाद कर गंतव्य तक ले जाया गया।प्रत्येक आक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के टैंकरों ने लगभग 16 टन मेडिकल आक्सीजन का परिवहन किया। ये ट्रेनें लगभग 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हैं।

बता दें देश में इस वक्त कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हर दिन तीन लाख से ज्यादा मामले एक दिन में दर्ज किए जा रहे हैं। ऐसे में ऑक्सजीन संकट देश के विभिन्न अस्पतालों में पैदा गया है। सरकार की तरफ से कोशिश की जा रही है कि इस समस्या को जल्द से सुलझाया जा सके है। वहीं मुश्किल की इस घड़ी में दूसरे देशों की तरफ से भी लगातार ऑक्सीजन सहित कई मेडिकल उपकरण भेजे जा रहे हैं।

इस बीच केंद्र सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन ने कहा है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर भी आएगी, लेकिन यह नहीं पता कि यह कब आएगी। उन्होंने कहा इसके लिए हमें लिए तैयार रहना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना की दूसरी लहर इतनी भीषण और लंबी होगी, इसका अनुमान नहीं लगाया गया था।

 

Loading...
IGNITED MINDS