यूपी में 08 करोड़ 29 लाख 65 हजार 470 कोविड टेस्ट सम्पन्न

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्था को प्रभावी बनाये रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित कराया जाए।

मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 13 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 07 व्यक्तियों को सफल उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 100 है।

जनपद अलीगढ़, औरैया, बदायूं, बागपत, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, बहराइच, भदोही, बिजनौर, चित्रकूट, देवरिया, इटावा, फतेहपुर, फिरोजाबाद, गोण्डा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, झांसी, कानपुर देहात, कासगंज, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर खीरी, महराजगंज, महोबा, मैनपुरी, प्रतापगढ़, रायबरेली, रामपुर, संतकबीर नगर, शामली, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र, सुलतानपुर और उन्नाव में कोविड का एक भी मरीज नहीं है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.7 प्रतिशत है। पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 1,73,396 कोरोना टेस्ट किए गए। अब तक राज्य में 08 करोड़ 29 लाख 65 हजार 470 कोविड टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार लक्षित आयु वर्ग के सभी नागरिकों को कोरोना टीकाकरण का सुरक्षा कवच निःशुल्क उपलब्ध करा रही है। प्रदेश में टीकाकरण कार्य तेजी से किया जा रहा है। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि राज्य में गत दिवस तक 12 करोड़ 77 लाख 40 हजार से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई गईं। 09 करोड़ 69 लाख से अधिक लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त हो चुकी है। 03 करोड़ 83 लाख से अधिक लोगों ने टीके की दोनों डोज प्राप्त कर ली हैं। इस प्रकार लक्षित आयु वर्ग के 65.73 प्रतिशत ने एक डोज तथा 20.92 प्रतिशत लोगों ने टीके की दोनों डोज लगवा ली हैं। 

मुख्यमंत्री ने कहा डेंगू, मलेरिया आदि बीमारियों से बचाव के लिये बेहतर सर्विलांस व्यवस्था सुदृढ़ रखी जाए। उन्होंने रोगियों के उपचार के लिये समस्त चिकित्सालयों में सभी व्यवस्थाएं बनाये रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में स्वच्छता सैनिटाइजेशन तथा फॉगिंग का कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सभी बाढ़ प्रभावित किसानों को तत्परतापूर्वक मदद प्रदान करने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने निर्देशित किया कि पिछले दिनों विभिन्न जनपदों में हुई अतिवृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कार्य शीघ्र पूरा किया जाये। सभी प्रभावित किसानों को यथा समय क्षतिपूर्ति का भुगतान कर दिया जाए। उन्होंने कृषि उत्पादन आयुक्त को सभी जनपदों में डी0ए0पी0 खाद की सुचारु व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। किसी भी दशा में किसानों को कोई दिक्कत न हो।

                मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में धान खरीद की प्रक्रिया प्रारम्भ हो गयी है। उन्होंने कहा कि धान क्रय केन्द्र पर सभी आवश्यक व्यवथाएं बनी रहे। इसके लिए जिलाधिकारी क्रय केन्द्रों का निरीक्षण करें। जनपदों में नोडल अधिकारी सक्रिय रहें।

                मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारियों के हित संरक्षण के लिए संकल्पित है। इस दिशा में अनेक प्रयास किये गये हैं। कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए उच्च स्तरीय समितियां गठित की गयी हैं। यथाशीघ्र संवाद कर मांगों के सम्बन्ध में निर्णय लिया जाए।

Loading...