पंजाबी सिंगर नवजोत सिंह की चंडीगढ़ में हत्या, गोलियों से छलनी मिली लाश

पंजाबी सिंगर नवजोत सिंह की चंडीगढ़ में रविवार को अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी. उनके शव को डेराबस्सी-बरवाला रोड पर उनके गांव के पास एक खाली प्लॉट पर बरामद किया गया. नवजोत ने हाल ही में दो गाने रिलीज किए थे. वो अपने गांव बहेड़ा में अपने मां-बाप से मिलने के लिए आए हुए थे. उनके शव की बारमदगी कार पार्किंग से लगभग 50 से दूरी से हुई. जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी. नवजोत के शव के पोस्टमॉर्टम के लिए तीन डॉक्टर्स की टीम को गठन किया गया. जिसके बाद रिपोर्ट्स से पता चला कि नवजोत पर पांच बार छाती के पास गोलियां दागी गई थी. सारी गोलियां उनके शरीर को भेदती हुई दूसरी तरफ निकल गई थी.

डेरा बस्सी के एसएचओ मोनिंदर सिंह के मुताबिक, पुलिस ने नवजोत के शव को शवगृह में रख दिया है और धारा 302 के तहत केस को रजिस्टर्ड करके कातिलों की तलाश शुरू कर दी है. पुलिस ने कहा कि नवजोत सिंह आम दिनों की तरह रविवार को भी अपने माता-पिता से मिलने गांव आए थे. इसी दौरान शाम चार बजे पंचकूला से एक युवती का फोन आने के बाद वह लौट गए और रात साढ़े आठ बजे तक उसके साथ रहे. इसकी जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने उक्त युवती से भी पूछताछ की थी. इस दौरान युवती ने बताया कि नवजोत ने उसे पिक करने के बाद सेक्टर-4 स्थित उनके घर पर छोड़ दिया था.

अधिकारियों ने कहा कि इसके बाद नवजोत ने अपने घर पर बात भी की थी. इस बारे में मृतक के पिता सुखबीर सिंह और मां राजविंदर कौर ने बताया कि नवजोत ने उनसे रात सवा दस बजे के आसपास डेराबस्सी आकर घर में खाना खाने की बात कही थी, लेकिन इसके बाद उनसे संपर्क नहीं हो सका. काफी देर तक नवजोत का फोन ना लगने पर उनके परिवार वालों ने जब तलाश शुरू की तो गांव के पास नवजोत की कार बरामद हो गई. इस पर परिवार के लोगों ने पुलिस को इस मामले की जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर नवजोत की कार और उनके दो मोबाइल फोन बरामद किए.

बता दें कि नवजोत की हत्या से पहले भी मोहाली में एक गैंगस्टर ने पंजाबी सिंगर परमिश वर्मा पर हमला किया था. इस हमले के दौरान परमिश गंभीर रूप से घायल हुए थे. वहीं हमला करने के बाद गैंगस्टर ने इस वारदात की जिम्मेदारी लेते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट भी लिखी थी.

Loading...
IGNITED MINDS