बंगला खाली कर 9- माल एवेन्यू प्राइवेट आवास में शिफ्ट हुई मायावती

लखनऊ. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मुलायम सिंह और राजनाथ सिंह के आवास ख़ाली करने के बाद मायावती ने 13-ए माल एवेन्यू काशीराम यादगार विश्राम स्थल में रहने का स्थान छोड़ दिया। उनका अब नया मकान का पता 9-माल एवेन्यू प्राइवेट आवास हो गया। इससे पहले प्रेस में मायावती ने कहां कि, अम्बेडकर के निधन के बाद गरीबों उपेक्षितों के मसीहा कांशीराम ने जीवन समर्पित किया हैं। कैराना-नूरपुर मतदाताओं का धन्यवाद भाजपा को शिकस्त देने के लिए भाजपा पर हमला बोलते हुए कहां कि, भाजपा सरकार की देश मे उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

कैबिनेट में हुआ था बंगले का फैसला

-मायावती ने कहां कि, 13-ए माल एवेन्यू उनके नाम पर है और कैबिनेट के निर्णय पर जन मानस के लिए लोकार्पित किया हैं। 13 के माल एवेन्यू के एक भाग में मैं रहती थी, जिसे आज मैं खाली कर रही हूँ। 
-उन्होंने कहां कि, कांशीराम लखनऊ आने के दौरान इसी परिसर में ठहरते थे, उन्हें इससे लगाव था, इसी वजह से इसे कांशीराम विश्राम स्थल में परिवर्तित किया गया.
– इस स्थल की सुरक्षा मेरी सुरक्षा में लगे कर्मी करते रहे हैं- आज मीडिया को पूरा परिसर अपने साथ कराऊंगी। इस परिसर में काशीराम विश्राम कक्ष लाइब्रेरी है,रसोई है,कांशीराम संग्रहालय, मेरा आवास निजी कमरा है।

15 दिन का समय मिला था : मायावती

-इस परिसर में काशीराम विश्राम कक्ष लाइब्रेरी है, रसोई है, कांशीराम संग्रहालय है, नोटिस मिलने के बाद 15 दिन का समय दिया था बंगला खाली करने के लिए अभी 24 घंटे बचे उससे पहले मैं खाली कर रही हूँ। 
-मायावती ने राज्य संपत्ति विभाग की प्रतिनिधि को 13-A माल एवेन्यू का पजेशन सौंपा 
पजेशन सौंपनेे के बाद मायावती 9 माल एवेन्यू गई मायावती 13-A माल एवेन्यू बंगले से 9 माल एवेन्यू राजयसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा के साथ अम्बेसडर में पहुंची।

मायावती ने पहली बार खुद घुमाया पूरा बंगला

-13-ए माल एवेन्यू काशीराम यादगार विश्राम स्थल का पूरा भ्रमण कराया। मायावती ने मीडिया कर्मियों के साथ बंगले के हर एक कर्म को दिखाया। 
-काशीराम लाइब्रेरी, मीटिंग हाल, किचन, सभागार, मूर्ति और मायावती ने खुद का आवास तक सबको दिखाया। 
-मायावती ने काशीराम के मूर्ति और ग्रीन लॉबी दिखाई मीडिया के साथ करीब 35 मिनट तक भ्रमण कराने के बाद कुछ ही देर में अपने निजी प्राइवेट आवास में शिफ्ट हो गई हैं। 

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com