चक्रवात में फंसें भारतीयों को रेस्क्यू करने रवाना हुआ भारतीय सेना का पोत

यमन के सोकोट्रा द्वीप पर आए भारी चक्रवात में फंसे भारतीय नागरिकों के लिए इंडियन नेवी ने अपना पोत भेजा है. जानकारी के मुताबिक यहां करीब 38 भारतीय फंसे हुए है. अपने इस ऑपरेशन को भारतीय नौसेना ने ‘ऑपरेशन निस्तार’ का नाम दिया है. बता दें कि नौसेना ने इस रेस्क्यू ऑपरेशन के तहत INS सुनयना को मौके पर भेजने की तैयारी की है.

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए भारतीय नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि INS सुनयना पहले पश्चिम अरब सागर में तैनात था. इसे अब मानवीय और आपदा राहत अभियान के तहत सोकोट्रा द्वीप की तरफ भेजा जा रहा है. उन्होंने बताया कि यह पोत रविवार को सोकोट्रा द्वीप पहुंच जाएगा. सोकोट्रा और उसके आसपास करीब 38 भारतीय चक्रवात के कारण फंसे हुए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ रोज पूर्व आए चक्रवात मेकूनु के कारण ओमान और सोकोट्रा द्वीप के कई हिस्से बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं.

इससे पहले खबर आई थी कि UAE (संयुक्त अरब अमीरात) बलों ने यमन के दूरस्थ द्वीप सोकोतरा पर अपना कब्जा कर लिया था, संयुक्त अरब अमीरात ने चार सैन्य विमान में 100 से अधिक सैनिकों को तैनात करने के बाद यमन के द्वीप पर यह कब्जा जमाया था. अल जज़ीरा के मुताबिक, यमनी लोग इस कदम को एक ‘आक्रामकता के कार्य’ के रूप में देखते हुए, अधिकारी ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात के सैनिकों ने यमन के प्रधानमंत्री अहमद आबिद बिन दगहर और शुक्रवार को सोकोतरा छोड़ने के 10 मंत्रियों को भी अवरुद्ध कर दिया था.

Loading...